हार्दिक पांड्या को सीख देने वालीं ईशा गुप्ता खुद नस्लभेदी कमेंट कर बुरी फंसीं, WhatsApp चैट वायरल

ईशा ने अपने इंस्टाग्राम खाते पर वॉट्सऐप चैट का एक स्नैपशॉट साझा किया था जिसके बाद से उनकी सोशल मीडिया पर आलोचना की जा रही थी.

हार्दिक पांड्या को सीख देने वालीं ईशा गुप्ता खुद नस्लभेदी कमेंट कर बुरी फंसीं, WhatsApp चैट वायरल
विवाद बढ़ने पर ईशा गुप्ता ने नस्लभेदी टिप्पणी करने को लेकर माफी मांगी है.

मुंबई: क्रिकेटर हार्दिक पंड्या को महिला विरोधी बयानों पर नसीहत देने वाली एक्ट्रेस ईशा गुप्ता अब खुद नस्लभेदी टिप्पणी मामले में फंस गई हैं. उन्होंने नाइजीरिया के फुटबॉलर एलेक्जेंडर इवोबी पर नस्लभेदी टिप्पणी करने को लेकर माफी मांगी है. इस मामले में सोशल मीडिया पर उनकी काफी आलोचना हुई थी. ईशा ने अपने इंस्टाग्राम खाते पर वॉट्सऐप चैट का एक स्नैपशॉट साझा किया था जिसके बाद से उनकी सोशल मीडिया पर आलोचना की जा रही थी. इस चैट में एलेक्जेंडर इवोबी की उनके प्रदर्शन को लेकर आलोचना की गई थी.

चैट में ईशा के मित्रों ने इवोबी को 'गोरिल्ला' बताया और कहा कि उनके लिए क्रमिक विकास (इवोलूशन) रुक गया है. इस पर ईशा जवाब देती हैं, "हाहा..मुझे नहीं पता कि उन्हें मैदान से बाहर क्यों नहीं रखा गया." इसके बाद कई प्रशंसकों ने ईशा की 'गैरजानकारी' के लिए आलोचना की जिसका शिकार होने का वह खुद भी दावा कर चुकी हैं.

 

इसके बाद ईशा ने ट्विटर पर माफी मांगते हुए कहा, "दोस्तों मुझे खेद है कि आपको लगा कि यह नस्लभेदी टिप्पणी है. एक खेल प्रेमी के रूप में मैंने यह गलत किया. मुझे माफ करें दोस्तों. इस मूर्खता को माफ कर दें." ईशा ने कहा कि उन्हें यह महसूस नहीं हुआ था कि यह बातचीत नस्लभेदी प्रतीत हो सकती है.

हाल ही में पाकिस्तान के क्रिकेट कप्तान सरफराज अहमद ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाड़ी पर नस्लीय टिप्पणी की थी. इसके बाद आईसीसी ने उन पर चार मैच का बैन लगा दिया है. हालांकि, सरफराज ने अपने बयान को लेकर माफी मांग ली थी और दक्षिण अफ्रीका के कप्तान फाफ डू प्लेसिस ने कहा था कि उन्होंने और उनकी टीम ने पाकिस्तानी कप्तान को माफ कर दिया है.

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक ईशा गुप्ता, हार्दिक पांड्या के साथ डेट कर चुकी हैं. हाल ही में जब पांड्या ने एक टीवी शो में महिलाओं के बारे में विवादित बयान दिया, तो ईशा उनसे दूरी बनाती नजर आईं. ईशा से जब पांड्या के इस बयान के बारे में सवाल किया गया तो, उन्होंने पूछा, किसने कहा कि वो मेरा अच्छा दोस्त है. मुझे इस बारे में नहीं पता. ईशा गुप्ता ने यह भी कहा कि सबसे पहली बात ये है कि महिला और पुरुष की बराबरी नहीं हो सकती है. महिलाएं हर मामले में पुरुषों से ज्यादा सम्मान की हकदार हैं. 

इनपुट-आईएएनएस