B'Day Special: क्या 'यश राज फिल्म्स' में छुपा है राजेश खन्ना का नाम? जानिए इसके पीछे का 'राज'

अब इस 'राज' को जानने के लिए हमें कई साल पीछे जाना पड़ेगा, तो चलिए चलते हैं 1970 की ओर जब यश चोपड़ा अपने प्रोडक्शन से अपनी पहली फिल्म 'दाग' बना रहे थे.

B'Day Special: क्या 'यश राज फिल्म्स' में छुपा है राजेश खन्ना का नाम? जानिए इसके पीछे का 'राज'
1970 में यश पहली बार अपने दम पर एक फिल्म 'दाग' बनाने की तैयारी कर रहे थे (फोटो साभारः ट्विटर, यश राज फिल्म)

नई दिल्ली: बॉलीवुड के दिवंगत सुपरस्टार राजेश खन्ना (Rajesh Khanna) का आज जन्मदिन है. हिंदी फिल्म जगत में अपने अभिनय से लोगों को दीवाना बनाने वाले राजेश खन्ना का जन्म पंजाब के अमृतसर में 29 दिसंबर 1942 को हुआ था. 70 के दशक में राजेश खन्ना पहले ऐसे अभिनेता थे जिन्हें इंडस्ट्री का सुपरस्टार कहा जाता था. राजेश खन्ना ने अपने सिने करियर की शुरुआत 1966 में चेतन आंनद की फिल्म ‘आखिरी खत’ से की थी. आज राजेश खन्ना के बर्थडे पर हम आपको उनसे जुड़ी एक ऐसी बात बताने जा रहे हैं, जिससे शायद अब तक आप अनजान होंगे. राजेश की खन्ना की यह बात जुड़ी है फिल्मकार यश चोपड़ा के बैनर 'यश राज फिल्म्स' से.

बता दें, देश का सबसे बड़ा बैनर माने जाने वाला 'यश राज फिल्म्स' फिल्मकार यश चोपड़ा द्वारा साल 1970 में बनाई गई थी, लेकिन एक बात अब तक लोगों को यह सोचने पर मजबूर कर देती है कि बैनर के नाम में यश तो यश चोपड़ा के नाम से लिया गया, पर राज कहां से आया. हालांकि इस बात की अब तक कोई ठोस सबूत तो सामने नहीं आई है, लेकिन मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो 'यश राज फिल्म्स' में 'राज' का नाम राजेश खन्ना का छुपा है. अब इस 'राज' को जानने के लिए हमें कई साल पीछे जाना पड़ेगा, तो चलिए चलते हैं 1970 की ओर जब यश चोपड़ा अपने प्रोडक्शन से अपनी पहली फिल्म 'दाग' बना रहे थे.

दरअसल, फिल्मकार रमेश तलवार ने एक इंटरव्यू में कहा था कि 1970 में यश पहली बार अपने दम पर एक फिल्म 'दाग' बनाने की तैयारी कर रहे थे, ऐसे में वह मार्केट में फाइनेंसर्स की तालाश कर रहे थे, क्योंकि एक फिल्म बना इतना आसान नहीं होता. इसके लिए बहुत सारे पैसे लगते हैं. इसी दौरान उन्होंने राजेश खन्ना से संपर्क साधा और उन्हें अपनी प्रोडक्शन की पहली फिल्म 'दाग' में काम करने का ऑफर दिया. राजेश खन्ना 1969 में यश द्वारा निर्देशित फिल्म 'इत्तेफाक' में काम कर चुके थे और वह यश राजेश को काफी पसंद भी करते थे. इसलिए राजेश ने तुरंत उनके ऑफर को एक्सेप्ट कर लिया. 

हालांकि राजेश उस समय तक सुपरस्टार बन चुके थे, लेकिन वह जानते थे कि एक फिल्म बनाने में काफी पैसे लगते हैं और वह यह भी जानते थे कि नई कंपनी को कई सारी दिक्कतों का सामना भी करना पड़ता है. इसलिए राजेश ने यश से यह भी कहा कि वह उनकी फीस की चिंता बिलकुल भी न करें. शूटिंग के दौरान राजेश खन्ना ने यश चोपड़ा काफी मदद भी की. उस समय के कुछ पत्रकारों ने लिखा था कि राजेश खन्ना की उदारता देखते हुए यश चोपड़ा ने अपने फिल्म प्रोडक्शन के नाम 'यश राज फिल्म्स' में अपना यश (यश चोपड़ा) और राज (राजेश खन्ना) का नाम जोड़ दिया था, लेकिन कभी भी इस बात का जिक्र न तो यश चोपड़ा की तरफ से किया गया और न ही राजेश खन्ना ने इससे जुड़ी कभी कोई बात की. बता दें, यश चोपड़ा के तीन भाइयों (बलदेव राज चोपड़ा, हंस राज चोपड़ा, कुलदीप राज चोपड़ा) के नाम में भी राज नाम जुड़ा हुआ है. इसलिए अब तक यह पूरी तरह से साफ नहीं हो पाया है कि 'यश राज फिल्म्स' में यश ने 'राज' नाम कहां से लिया है.

 

बॉलीवुड की और खबरें पढ़ें