close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

इस एक्ट्रेस ने बताई अपने बेटे के पैदा होने की दर्दनाक कहानी, बोलीं- 'आत्मा में हुआ जख्म...'

छवि ने कुछ पोस्ट लिखे है जिसमें उन्होंने बताया है कि कैसे डिलीवरी के टाइम वो इतना डर गई थीं कि लगातार अपने बच्चे और पति को पास बुलाने के लिए चिल्ला रही थीं. 

इस एक्ट्रेस ने बताई अपने बेटे के पैदा होने की दर्दनाक कहानी, बोलीं- 'आत्मा में हुआ जख्म...'
छवि मित्तल (फोटो साभार- Instagram)

नई दिल्ली : टीवी एक्ट्रेस छवि मित्तल पिछले दिनों बेटे की मां बनी हैं. छवि इन दिनों अपने मदरहुड में बिजी चल रही हैं लेकिन इसी बीच एक्ट्रेस ने अपनी डिलीवरी की जर्नी अपने फैंस के साथ शेयर की है. छवि ने कुछ पोस्ट लिखे है जिसमें उन्होंने बताया है कि कैसे डिलीवरी के टाइम वो इतना डर गई थीं कि लगातार अपने बच्चे और पति को पास बुलाने के लिए चिल्ला रही थीं. छवि ने बताया की वो दर्द अब उनकी जिदंगी ही नहीं उनकी आत्मा पर भी छाप छोड़ गया है. 

छवि ने कई चैप्टर में अपनी बात कही है लेकिन फाइनल चैप्टर में उन्होंने डॉक्टर्स और भारत में बढ़ते सी सेक्शन डिलीवरी पर सवाल खड़े किए हैं? छवि ने लिखा कि अब मैं दो बच्चों की मां हूं और मेरे पास काम करने के लिए एक ऑफिस भी है लेकिन जो जख्म मेरी आत्मा पर हुआ है क्या वो कभी भरेगा? 

सुरवीन चावला ने क्यूट अंदाज में दी प्रेग्नेंसी की न्यूज, जल्द घर आएगा नन्हा मेहमान

 
 
 
 

 
 
 
 
 
 
 
 
 

THE FINAL CHAPTER After my threat of leaving, Mohit came to the OT with me. And then everything that was not supposed to happen, happened. The cord was clamped in seconds. The baby came out crying &still was poked & prodded before being given to me. I heard my doctor laughing while pulling the baby out, “dekha? Pain free delivery”. And then the biggest horror! I was administered a sleeping injection without being asked, and suddenly I felt myself passing out. I found myself slurring when I said, "give my baby to me.. where's my baby.." I could not put my baby to the breast as I had so wanted to in the first few minutes. I slept till the next morning, waking up in panic repeatedly asking, “where’s my baby? Where’s my husband?” Scared shitless. Now, I have trouble establishing a good latch. I have stitches which hurt. I have 2 kids & an office to look after but a body that doesn't support it. I have a scar, on my soul. Will I be able to heal from this ever? But most importantly I have questions. Why was I given a drug to hasten dilation when I was already progressing fast? Why was my husband stopped from entering the OT when there was no such protocol? Why was the doctor in such a rush to perform the surgery when the NST was normal and I was calm? Why was I given a sleeping drug right after the baby was pulled out? Why was I not treated with kindness by another woman, a mother, my "care provider" in the most vulnerable moment of my life! What happened with me, is what happens with most women in India. I learnt that from the comments I got. And now I have 2 choices. To be livid, or to emerge stronger. I believe in changing destiny, and maybe I was not able to change mine. But the strength that I draw from this experience makes me want to inspire women to take back control of their own birthing experiences in their hands. To be loved, respected and cared for when they get ready to birth another human. And if you have been in my place at some point in your life, please share my story and let it reach out. And hold my hand in spreading this message of love from one woman, a mother, to another.. #birthstory  #chhavimittalbirthstory #chhavimittal #hospitals

A post shared by Chhavi Mittal (@chhavihussein) on

छवि ने आगे लिखा कि मैं सवाल करना चाहती हूं कि मुझे डिलीवरी के टाइम बेहोशी का इंजेक्शन क्यों दिया गया जबकि मैं बिलकुल ठीक थी और उसके बाद ओटी में मेरे पति को जाने से क्यों रोका गया जबकि ऐसा कोई प्रोटोकॉल है ही नहीं? मेरे साथ प्यार से क्यों बर्ताव नहीं किया गया? और सबसे बड़ा सवाल की डॉक्टर सबकुछ नॉर्मल होने के बाद भी ऑपरेशन की जल्दी में क्यों थे? 

 
 
 
 

 
 
 
 
 
 
 
 
 

My feet are so swollen that even flip flops don't fit. So is the rest of my body. My head hurts like it'll explode, due to the spinal tap. I've gone deaf in one ear, also an extremely rare side effect of the spinal tap. I'm supposed to drink 5 litres of water, and getting up to go the loo takes 15 minutes. Lying down is the only position that gives me comfort, sometimes I even eat in that position. But right now, at 1am, I'm doing some office work, when the baby sleeps and there's some peace, because @shittyideastrending 's new Web-series #BinBulayeMehmaan had to be launched today. I know this will pass. This pain will be forgotten. But will the pain that I endured on my soul during the birth be ever forgotten? Sharing my birth story soon, when I feel ready. #birthstory ___________________________ #birth #pain #chhavimittal #mypregnancyjourney #labourroom #ot

A post shared by Chhavi Mittal (@chhavihussein) on

बता दें कि छवि ने अपनी दास्तान बयां करते हुए लिखा कि मैं ये सब इसलिए लिख रही हूं क्योंकि देश की ज्यादातर औरतें डिलीवरी के समय ऐसी परेशानी झेलती हैं. मैं किस्मत बदलने में विश्वास रखती हूं लेकिन शायद मैं खुद के लिए कुछ नहीं कर पाई. लेकिन हां मुझे इतनी हिम्मत मिल गई है कि मैं महिलाओं को ये बोल पाऊंगी वो अपनी डिलीवरी का पूरा कंट्रोल अपने हाथों में ही रखें. उन्हें प्यार, सम्मान और केयर मिले क्योंकि वो एक इंसान को इस दुनिया में लाने जा रही हैं. अगर आप कभी भी मेरे जैसी स्थिति मैं फंसे तो मेरी इस स्टोरी को शेयर करें और मेरे हाथ को पकड़ दूसरी किसी महिला, मां और या फिर किसी और तक प्यार से पहुंचाएं. 

बॉलीवुड की और खबरें पढ़ें