close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

MP में कांग्रेस का हाथ थामने वाले शिवराज के साले का फिल्मों से भी नाता, अक्षय के साथ आ चुके हैं नजर

सीएम शिवराज सिंह चौहान की पत्नी साधना सिंह के भाई संजय अब तक कई बॉलीवुड फिल्मों में काम कर चुके हैं.

MP में कांग्रेस का हाथ थामने वाले शिवराज के साले का फिल्मों से भी नाता, अक्षय के साथ आ चुके हैं नजर
संजय सिंह मसानी को कांग्रेस बालाघाट की वारासिवनी सीट से विधानसभा टिकट दे सकती है.

नई दिल्ली: बॉलीवुड फिल्म 'पैडमैन' में हीरो अक्षय कुमार के साले का किरदार निभाने वाले संजय सिंह मसानी कांग्रेस पार्टी का हाथ थामने के बाद राजनीतिक गलियारों में चर्चा का विषय बन गए हैं. एक्टर और राजनेता संजय सिंह मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के सगे साले भी हैं.

सीएम शिवराज सिंह की पत्नी साधना सिंह के भाई संजय अब तक कई बॉलीवुड फिल्मों में काम कर चुके हैं. उन्हें 'सिंह साब द ग्रेट', 'गली-गली चोर है' और 'रिवॉल्वर रानी' समेत दूसरी फिल्मों में सह-कलाकार के रोल में देखा गया है. आखिरी बार उन्हें इसी साल रिलीज हुई 'पैडमैन' फिल्म में लक्ष्मीकांत चौहान यानी अक्षय कुमार की पत्नी गायत्री (एक्ट्रेस राधिका आप्टे) के भाई के किरदार में देखा गया.


बॉलीवुड एक्टर अक्षय कुमार के साथ संजय सिंह मसानी.

दिग्गज नेता और सीएम शिवराज सिंह चौहान के साले संजय को अब तक बीजेपी समर्थक माना जाता रहा है, लेकिन अचानक उन्होंने शुक्रवार को कांग्रेस के दिल्ली स्थित कार्यालय में पहुंचकर विधिवत रूप से पार्टी की सदस्यता लेकर सबको चौका दिया. संजय सिंह मसानी ने कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष कमलनाथ, प्रचार अभियान समिति के अध्यक्ष ज्योतिरादित्य सिंधिया, प्रदेश प्रभारी दीपक बावरिया की मौजूदगी में कांग्रेस में शामिल होने की घोषणा की.

महाराष्ट्र के गोंदिया के रहने वाले संजय सिंह मध्य प्रदेश के बालाघाट जिले में काफी एक्टिव हैं. संभावना जताई जा रही है कि कांग्रेस उन्हें बालाघाट की वारासिवनी सीट से विधानसभा टिकट दे सकती है. कारोबारी होेने के कारण कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष कमलनाथ से भी संजय सिंह से अच्छे संबंध हैं.   


'पैडमैन' फिल्म के एक सीन में संजय सिंह मसानी.

बीजेपी पर लगाए गंभीर आरोप
संजय सिंह ने इस मौके पर भाजपा पर खुलकर आरोप लगाए. उन्होंने कहा, "भाजपा में कामदार नहीं बल्कि नामदार को महत्व मिल रहा है, राज्य में बदलाव जरूरी हो गया है."

पार्टी में बोल रहा वंशवाद और भतीजावाद-मसानी
मसानी ने कहा, "भाजपा में अब वंशवाद और भाई भतीजावाद का बोलबाला है. भाजपा की ओर से अधिकतर उम्मीदवार सांसद और विधायक के पुत्र या पुत्री हैं. जो पार्टी के लिए काम कर रहा है, उसे वंशवाद की राजनीतिक के लिए दरकिनार किया जा रहा है." उन्होंने कहा, "बेरोजगारी का बढ़ना और उद्योगों का अभाव राज्य में दो बड़ी समस्या है और चौहान सरकार ने इन सालों में कुछ नहीं किया है."

बॉलीवुड की और भी खबरें पढ़ें