'ब्लैंक' की शूटिंग के दौरान हुआ था ऐसा हादसा, सनी देओल की छूट गई हंसी

ज़ी न्यूज़ से हुई खास बातचीत में सनी देओल ने बताया कि फिल्म शूट करना काफी दिलचस्प रहा. खासतौर पर फिल्म का वह आखिरी सीन जहां पर करण कपड़िया के हाथों में हथकड़ी फस गई थी. 

'ब्लैंक' की शूटिंग के दौरान हुआ था ऐसा हादसा, सनी देओल की छूट गई हंसी
(फोटो साभार- Instagram)

मुंबई : सनी देओल अपनी फिल्म 'ब्लैंक' के प्रमोशन में जुटे हुए हैं. करण कपड़िया इस फिल्म से डेब्यू कर रहे हैं. सस्पेंस, थ्रिलर और आतंकवाद के मुद्दे पर बनी यह फिल्म स्लीपर सेल्स की कहानी के इर्द-गिर्द घूमती है. किस तरह से एक स्लीपर सेल एक्सीडेंट के बाद 'ब्लैंक' हो जाता है और इसी लाइन पर कहानी आगे बढ़ती है. ज़ी न्यूज़ से हुई खास बातचीत में सनी देओल ने बताया कि फिल्म शूट करना काफी दिलचस्प रहा. खासतौर पर फिल्म का वह आखिरी सीन जहां पर करण कपड़िया के हाथों में हथकड़ी फस गई थी. 

दरअसल वह हथकड़ी काफी ज्यादा टाइट थी. 1 घंटे तक सारा का सारा क्रू करण की हथकड़ी निकालने में जुटा हुआ था. पर सारी कोशिशें नाकाम हो रही थी. अंत में करण की आंखों पर पट्टी बांधकर चाकू से हथकड़ी को काटा गया. यह कहते हुए सनी देओल की हंसी छूट जाती है. वहीं करण बताते हैं कि शुरुआत में जब हाथ फंसा तो उन्हें लगा कि आसानी से खुल जाएगा, लेकिन काफी देर तक जब हथकड़ी नहीं खुली तो वो काफी परेशान हो गये. हंसते-हंसते कहते हैं कि अगर एक घंटे में हथकड़ी नहीं खुली होती तो कॉस्ट्यूम डिजाइनर की नौकरी पक्का चली जानी थी. 

सनी देओल बोले, 'आतंक का कोई चेहरा नहीं होता, उसका धर्म सिर्फ...', रिलीज हुआ 'ब्लैंक' का Trailer

सनी देओल ने बताया कि इस घटना के बाद से करण हथकड़ी की चाबी अपनी खुद की जेब में लेकर घूमा करते थे. देश-विदेश में जिस तरह से आतंकवाद अपने पांव पसार रहा है. इस पर सनी देओल का यह मानना है कि हम सभी को अलर्ट रहना चाहिए. ताकि कोई भी अप्रिय घटना ना घटे. वहीं करण का यह मानना है कि अलर्ट होकर ही हम कुछ कर सकते हैं. अन्यथा आतंकवाद को पकड़ पाना बहुत ही ज्यादा मुश्किल है. सनी देओल और करण कपाड़िया स्टारर एक्शन थ्रिलर फिल्म मई 3 को सिनेमाघरों में प्रदर्शित की जानी है.

बॉलीवुड की और खबरें पढ़ें