तनाव दूर करने के साथ ये 5 जबरदस्त फायदे देता है पश्चिमोत्तानासन, यहां जान लीजिए करने का आसान तरीका
topStories1hindi1049894

तनाव दूर करने के साथ ये 5 जबरदस्त फायदे देता है पश्चिमोत्तानासन, यहां जान लीजिए करने का आसान तरीका

Benefits of Paschimottanasana: इस खबर में हम आपके लिए पश्चिमोत्तानासन के फायदे और उसे करने का तरीका लेकर आए हैं...

तनाव दूर करने के साथ ये 5 जबरदस्त फायदे देता है पश्चिमोत्तानासन, यहां जान लीजिए करने का आसान तरीका

Benefits of Paschimottanasana: आज हम आपके लिए पश्चिमोत्तानासन के फायदे लेकर आए हैं. ये तनाव दूर करने से लेकर कई समस्याओं से राहत दिलाता है. अगर आप तनाव से जूझ रहे हैं तो पश्चिमोत्तानासन  का सहारा लीजिए, ये तनाव रिलीज करने में आपकी मदद कर सकता है. 

दरअसल, भागदौड़ भरी इस जिंदगी में ज्यादातर लोग काम के चक्कर में इतने प्रेशर और टेंशन में आ जाते हैं कि वे न तो आराम ही कर पाते हैं और न ही खुद के लिए समय निकाल पाते हैं. लिहाजा स्ट्रेस, डिप्रेशन और तनाव उन्हें अपने आगोश में ले लेता है. इसके बाद उनका मन भी एकाग्र नहीं हो पाता. इन मानसिक स्थितियों से निपटने के लिए लोग महंगी दवाओं का सहारा लेते हैं, लेकिन योग के जरिए भी आप तनाव को दूर भगा सकते हैं.

क्या है पश्चिमोत्तानासन  (What is Paschimottanasana)

पश्चिमोत्तानासन संस्कृत के मूल शब्दों से बना है ‘पश्चिम’ जिसका अर्थ है ‘पीछे’ या ‘पश्चिम दिशा’ और ‘तीव्र खिंचाव’ है और आसन जिसका अर्थ है ‘बैठने का तरीका' इसका मतलब इस आसन में बैठ कर शरीर के बीच के हिस्से में तीव्र खिंचाव पैदा करना है, ताकि शरीर की ऊर्जा को नियंत्रित किया जा सके.

पश्चिमोत्तानासन करने की विधि (Method of doing Paschimottanasana)

  • सबसे पहले आप एक चटाई पर सीधी अवस्था में बैठ जाएं.
  • इसके बाद अपनी टांगों को आगे की दिशा में फैला लें.
  • अब बाजुओं को सीधा करके उन्हें आगे की दिशा में ले जाएं
  • अब अपनी बाजुओं से पैरों की उंगलियां पकड़ने की कोशिश करें.
  • इस दौरान अपनी नाक से घुटनों को टच करने की कोशिश करें.
  • इस दौरान घुटने और दोनों बाजू सीधी रखें.
  • इस आसन को रोजाना कम से कम 3-4 बार करें.

पश्चिमोत्तानासन से मिलने वाले जबरदस्त फायदे (Amazing benefits of Paschimottanasana)

  1. इस आसन से थकान, तनाव और डिप्रेशन दूर होता है.
  2. मोटापा कम करने के लिए भी यह एकदम पर्फेक्ट आसन है.
  3. पाचन तंत्र में सुधार के लिए भी आप इस आसन को प्रतिदिन कर सकते हैं. 
  4. इससे उच्च रक्तचाप, अनिद्रा और बांझपन का भी उपचार किया जा सकता है.
  5. पेट और कूल्हों की चर्बी को कम करने के लिए यह आसन बेहद लाभकारी है.

इस बात का रखें विशेष ख्याल
योग एक्सपर्ट्स कहते हैं कि  यदि आपको अस्थमा, दस्त या पीठ में दर्द है तो इस आसन को करने से बचें. गर्भवती महिलाएं इसे न करें.

यहां दी गई जानकारी किसी भी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है. यह सिर्फ शिक्षित करने के उद्देश्य से दी जा रही है.

ये भी पढ़ें:  Weight Loss Drink: इस वक्त पीना शुरू करें ये कमाल का ड्रिंक, पिघल जाएगी पेट की चर्बी, मोटापे से जल्द मिलेगी राहत

लाइव टीवी



Trending news