close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

VIDEO: आतंकी अफजल गुरू के बेटे ने मांगा पासपोर्ट, विदेश में करना चाहता है मेडिकल की पढ़ाई

अफजल गुरु के बेटे गालिब गुरु ने 12वीं की परीक्षा में 88 फीसदी अंक हासिल किए थे.

VIDEO: आतंकी अफजल गुरू के बेटे ने मांगा पासपोर्ट, विदेश में करना चाहता है मेडिकल की पढ़ाई
फोटो सौजन्य: ANI

नई दिल्लीः साल 2001 में भारतीय संसद पर हुए आतंकी हमले के दोषी आतंकी अफजल गुरू के बेटे ने भारत सरकार से पासपोर्ट देने की मांग की है. अफजल गुरू के बेटे का कहना है कि उसे विदेश में पढ़ाई करने के लिए स्कॉरशिप मिल रही है लेकिन पासपोर्ट नहीं होने की वजह से वह उसका लाभ नहीं ले पा रहा है. अफजल गुरू के बेटे ने कहा कि उसके पास आधार कार्ड है, तो पासपोर्ट भी मिलना चाहिए. संसद हमले के दोषी आतंकी अफजल गुरू को साल 2013 में फांसी की सजा दी गई थी. 

समाचार एजेंसी एएनआई से बात करते हुए अफजल गुरू के बेटे गालिब गुरू ने कहा, 'मैं सोचता हूं कि मेरा पासपोर्ट मिलना चाहिए, क्योंकि तुर्की में मुझे स्कॉलरशिप मिल रही है मेडिकल के लिए, अगर मेरे पास आधार कार्ड है तो मुझे पासपोर्ट क्यों नहीं मिलना चाहिए. मुझे लगता है कि मुझे पासपोर्ट मिलना चाहिए.'

आतंकी अजफल गुरु के बेटे गालिब को 12वीं में मिले 88.2% मार्क्स, अब डॉक्टर बनने की ख्वाहिश
जनवरी 2018 की खबर के मुताबिक भारतीय संसद पर हमले की साजिश रचने वाले मोहम्मद अफजल गुरु के बेटे गालिब गुरु ने 12वीं की परीक्षा में 88 फीसदी अंक हासिल किए थे. कश्मीर बोर्ड के नतीजों के मुताबिक, गालिब ने कुल 500 अंकों में से 441 अंक हासिल किए थे. उसे सभी पांच विषयों में 'ए' ग्रेड मिला था. 

साइंस का स्टूडेंट रहा है गालिब
गालिब साइंस का स्टूडेंट है. उसने 12वीं में फिजिक्स, केमेस्ट्री, बायोलॉजी ली थी. उसने सभी विषयों में 80 से ऊपर अंक हासिल किए थे. पीसीबी के अलावा उसके पास एनवॉयरमेंटल साइंस भी थी, जिसमें उसने सबसे अधिक 94 अंक हासिल किए थे.

10वीं में भी रहा था टॉपर
जम्मू कश्मीर के स्कूल 10वीं के परिक्षा बोर्ड में भी गालिब टॉपर रहा था. गालिब ने 10वीं में कुल 500 अंकों में से 474 अंक हासिल किए थे. 

डॉक्टर बनना चाहता है गालिब
2016 में गालिब गुरु ने कहा था कि वह मेडिकल की पढ़ाई करके डॉक्टर बनना चाहता हैं. गालिब गुरु ने कहा, "यह मेरे माता-पिता और परिवार का सपना है कि मैं डॉक्टर बनूं और मैं इसे पूरा करने की कोशिश करूंगा."