close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

डॉक्टर्स को टेंशन फ्री करने के लिए ऐम्स ने आयोजित किया 'AIIMS got talent' शो

मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित हुईं बॉलीवुड अभिनेत्री शर्मिला टैगौर ने कहा कि एम्स की तरफ से डॉक्टर्स के लिए उठाया गया कदम एक सराहनीय पहल है

डॉक्टर्स को टेंशन फ्री करने के लिए ऐम्स ने आयोजित किया 'AIIMS got talent' शो
ऐम्स के डायरेक्टर रणदीप गुलेरिया का मानना है कि डॉक्टर्स में लोगों का इलाज करने के अलावा भी बहुत सारी प्रतिभा होती है.(फाइल फोटो)

नई दिल्लीः अब तक आपने इंडियाज़ गॉट टैलेंट के बारे में सुना होगा जिसमें देश भर से लोग अपनी कला का प्रदर्शन करते हैं लेकिन यह  पहली बार है जब देश के सबसे बड़े अस्पताल एम्स ने डॉक्टरों और अन्य स्टाफ को प्रतिभा दिखाने का मौका दिया है. एम्स की तरफ से आयोजित इस कार्यक्रम में सोलो सिंगिंग, ग्रुप सिंगिंग सोलो एंड ग्रुप डांस , ड्रामा जैसी कई प्रतियोगिताएं आयोजित कराई गईं. इस कार्यक्रम का आयोजन दिल्ली के ऐम्स में किया गया जिसमें मशहूर बॉलीवुड अभिनेत्री शर्मिला टैगौर बतौर मुख्य अतिथि मौजूद रहीं. कार्यक्रम के आयोजन पर उन्होंने कहा कि डॉक्टर दिन रात मरीजों से घिरे रहते हैं और और उस पर भी aiims जैसे बड़े अस्पताल में दिन भर में इतने मरीज़ आते हैं कि डॉक्टरों के लिए बहुत स्ट्रेस होती है. इस तरह के कार्यक्रम से न सिर्फ उनकी प्रतिभा सामने आती है बल्कि उन्हें काम करने का उत्साह बढ़ता है.

यूपी के मर्ज की दवा ढूंढने 'साउथ मिशन' पर PM मोदी, देंगे AIIMS की सौगात

एम्स ने कार्यक्रम की जानकारी देते हुए बताया कि इस तरह के कार्यक्रम को आयोजित करने का हमारा बस यही मकसद है कि डॉक्टर्स भी थोड़ा सा रिलैक्स फील कर सकें. उन्होंने कहा कि डॉक्टर्स पूरे दिन बहुत सारी ऐसी कंडीशन को फेस करते है जिससे उन्हें तनाव होना लाजमी है. डॉक्टर्स से जब इस कार्यक्रम के बारे में पूंछा गया तो उनका कहना है कि डॉक्टर्स को अपनी पर्सनल लाइफ के लिए बहुत ही कम समय मिल पाता है इसी बात को सोचकर हमने इस तरह के शो का आयोजन किया .ऐम्स के डायरेक्टर रणदीप गुलेरिया का मानना है कि इस तरह के कार्यक्रम से अस्पताल में काम कर रहे डॉक्टरों से लेकर नर्सेस वार्डबॉयस और एडमिनिस्ट्रेशन तक हर किसी को सामान्य मंच पर आने का मौका मिलता है जिससे उनमे एक परिवार की तरह काम करने की प्रेरणा मिलती है. ऐम्स का स्टाफ इसको लेकर इतना उत्साहित था कि काम के बाद हर दिन अलग से टाइम निकाल कर प्रैक्टिस करते थे. 

कोटा: मेडिकल कॉलेज में दवाओं की खरीद में घोटाला, लग रहा लाखों का चूना

उन्होंने जानकारी देते हुए कहा कि डॉक्टर्स में लोगों का इलाज करने के अलावा भी बहुत सारी प्रतिभा होती है लेकिन, अपनी लाइफ में व्यस्त होने के कारण उन्हें कोई भी ऐसा अवसर नहीं मिल पाता जिससे वो अन्य प्रतिभा उपयोगी कार्यक्रम में भाग ले सकें. क्रार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित हुईं बॉलीवुड अभिनेत्री शर्मिला टैगौर ने कहा कि एम्स की तरफ से डॉक्टर्स के लिए उठाया गया कदम एक सराहनीय पहल है.