अमरनाथ यात्रा: खुद को स्‍वस्‍थ्‍य रखने के लिए ITBP के जवान ले रहे हैं योग का सहारा

अत्‍यधिक ऊंचाई होने की वजह कई तरह की ऐसी प्राकृतिक चुनौतियां हैं, जिनका सामना आईटीबीपी के जवानों को करना पड़ता है. 

अमरनाथ यात्रा: खुद को स्‍वस्‍थ्‍य रखने के लिए ITBP के जवान ले रहे हैं योग का सहारा
हिमायलयी क्षेत्र में तैनात आईटीबीपी के जवान योगाभ्‍यास के जरिए खुद को स्‍वस्‍थ्‍य रख रहे हैं. (फोटो: आईटीबीपी)

नई दिल्‍ली: अमरनाथ यात्रा की सुरक्षा में तैनात आईटीबीपी के जवानों  कई तरह की प्राकृतिक जटिलताओं से रूबरू होना पड़ रहा है. इन प्राकृतिक जटिलाताओं से निजात पाने के लिए इन दिनों आईटीबीपी के जवान योग का सहारा ले रहे हैं. 

आईटीबीपी के वरिष्‍ठ अधिकारियों के अनुसार, हिमालय के अधिक ऊंचाई वाले इलाकों में ऑक्‍सीजन की कमी जवानों के लिए एक अहम चुनौती है. ऐसे में आईटीबीपी के जवान योग और प्राणायम का अभ्‍यास कर न केवल अपने शरीर में ऑक्‍सीजन की कमी को पूरा करते हैं, बल्कि खुद को विभिन्‍न चुनौतियों का सामना करने के लिए तैयार रखते हैं. 

उन्‍होंने बताया कि योग जवानों की दिनचर्या का अहम हिस्‍सा बन चुका है. अपनी ड्यूटी से पहले या बाद में, जब भी जवानों को मौका मिलता है, वे योगाभ्‍यास कर लेते हैं. योगाभ्‍यास का मुख्‍य मकसद खुद को शा‍रीरिक और मानसिक तौर पर स्‍वस्‍थ्‍य रखना है. उल्‍लेखनीय है कि अमरनाथ यात्रा मार्ग की सुरक्षा के लिए आईटीबीपी ने करीब 50 जवानों को तैनात किया है. 

LIVE TV:

उन्‍होंने बताया कि अत्‍यधिक ऊंचाई होने की वजह कई तरह की ऐसी प्राकृतिक चुनौतियां हैं, जिनका सामना आईटीबीपी के जवानों को करना पड़ता है. इन चुनौतियों के निपटने के लिए आईटीबीपी के जवानों को विशेष रूप से प्रशिक्षिति किया जाता है. साथ ही, उन्‍हें ऐसे योग सिखाए जाते हैं, जिससे वह अत्‍यधिक ऊंचाई वाले पवर्तीय क्षेत्र में खुद को स्‍वस्‍थ्‍य रख सकें.