close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

सेना प्रमुख ने सैनिकों से कहा, 'किसी भी स्थिति से निपटने के लिए रहें तैयार'

जनरल बिपिन रावत ने जम्मू कश्मीर में एलओसी और अंतरराष्ट्रीय सीमा से लगे अग्रिम स्थानों और राजस्थान में कुछ सीमा चौकियों के दौरे के बाद यह निर्देश दिया है. 

सेना प्रमुख ने सैनिकों से कहा, 'किसी भी स्थिति से निपटने के लिए रहें तैयार'
आर्मी चीफ बिपिन रावत (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: थल सेना प्रमुख जनरल बिपीन रावत ने पाकिस्तान के साथ लगी सीमा के पास तैनात सैन्यकर्मियों को वायु सेना के साथ समन्वय से किसी भी हालात से निपटने के लिए तैयार रहने के निर्देश दिए हैं. जनरल रावत ने जम्मू कश्मीर में एलओसी और अंतरराष्ट्रीय सीमा से लगे अग्रिम स्थानों और राजस्थान में कुछ सीमा चौकियों के दौरे के बाद यह निर्देश दिया है. 

दौरे के दौरान सेना प्रमुख को मौजूदा सुरक्षा स्थिति और किसी भी घटना की स्थिति में सेना की तैयारियों के बारे में अवगत कराया गया. सेना ने कहा, 'सेना प्रमुख ने पाकिस्तान के किसी भी नापाक मंसूबे को विफल करने के लिए सेना की क्षमता में अपना पूरा भरोसा जताया.' 

एक बयान में कहा गया, 'उन्होंने सैनिकों के ऊंचे मनोबल की सराहना की और किसी भी स्थितियों से निपटने के लिए वायु सेना के साथ करीबी समन्वय से हमेशा तैयार रहने के निर्देश दिए हैं.'  राजस्थान में जनरल रावत ने बाड़मेर और सूरतगढ़ जैसे अग्रिम स्थानों का दौरा किया . 

पाकिस्तान से किसी भी तरह के खतरे से निपटने के लिए हम तैयार: वायुसेना

भारतीय वायुसेना (आईएएफ) ने गुरुवार को कहा कि पाकिस्तान से किसी भी तरह के खतरे से निपटने के लिए हमारी उच्च स्तर की तैयारियां है. 

पाकिस्तान के नागरिक उड्डयन प्राधिकरण के एक दस्तावेज के हवाले से आईएएफ ने कहा कि पड़ोसी देश ने केवल ओमान, अफगानिस्तान और चीन के साथ अपने हवाई क्षेत्र को खोला है और भारत-पाकिस्तान हवाई क्षेत्र के पास स्थित 11 प्रवेश और निकास बिंदु अभी भी बंद है. आईएएफ ने एक बयान में कहा, 'मौजूदा सुरक्षा परिदृश्य में किसी भी खतरे की आशंका से निपटने के लिए भारतीय वायुसेना की तैयारियां उच्च स्तर की है.'

इसमें कहा गया है कि पाकिस्तान वायु सेना की आक्रामकता के किसी भी कृत्य का पता लगाने और उसे विफल करने के लिए आसमान में कड़ी निगरानी रखी जा रही है. अधिकारियों ने बताया कि भारत की पश्चिमी सीमा के पास स्थित सभी आईएएफ अड्डों पर अधिकतम सतर्कता बरती जा रही है. 

(इनपुट - भाषा)