CAA पर भारत ने बांग्लादेश-अफगानिस्तान को बता दिया अपना इरादा, पाकिस्तान से कहा- तुम अपना देख लो

भारतीय विदेश मंत्रालय ने कहा है कि पाकिस्तान में अभी इमरान सरकार के दौरान वहा अल्पसंख्कों पर अत्याचार जारी है.

CAA पर भारत ने बांग्लादेश-अफगानिस्तान को बता दिया अपना इरादा, पाकिस्तान से कहा- तुम अपना देख लो
विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने संशोधित नागरिकता कानून पर प्रेस कॉन्फ्रेंस की..फोटो साभार: ANI

नई दिल्ली: भारतीय विदेश मंत्रालय ने कहा है कि अभी भी पाकिस्तान में इमरान खान की सरकार आने के बाद भी हिंदुओं समेत तमाम अल्पसंख्यकों पर तेजी से अत्याचार बढे हैं जिसकों पाकिस्तान सरकार को तुरंत रोकना चाहिए. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने पाकिस्तान के विदेश मंत्री के बयान पर पलटबार करते हुए कहा कि पाकिस्तान को एक सामान्य पड़ोसी की तरह व्यवहार करना सीखना चाहिए. साथ ही कहा कि पाक को दूसरे के आंतरिक मामलों में दखल करने के बजाय अपने देश के भीतर के हालात को देखना चाहिए कि वहां क्या हो रहा है.

रवीश कुमार ने कहा कि हमने ये बात पहले भी उठाई थी और अब भी कह रहे है कि पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों पर अत्याचार रुकने का नाम नही ले रहे है जिसकों लेकर इमरान सरकार को निष्पक्ष कार्रवाई करने की जरूरत है. बांग्लादेश और अफगानिस्तान को लेकर भारतीय विदेश मंत्रालय ने अपना रूख फिर साफ किया है और कहा है कि भारत की तरफ से ये कभी नही कहा गया कि इन दोनों देशों में वर्तमान सरकारों के दौरान अल्पसंख्यकों पर अत्याचार हो रहे है.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि संसद के भीतर भी बहस के दौरान देश के गृहमंत्री ये बिल्कुल साफ कह चुके है कि अफगानिस्तान में तालिबान रिजीम के दौरान वहा हिंदुओं पर अत्याचार किये गये और जिस वजह से वहा से अल्पसंख्यक पलायन कर भारत आये.

इसी तरह बांग्लादेश में शेख हसीना की सरकार से पहले जो लोग वहा सत्ता में थे उस दौरान बांग्लादेश में भी अल्पसंख्यकों पर अत्याचार हुए लिहाजा लोगो ने पलायन कर भारत की शरण ली थी. रवीश कुमार ने कहा कि अफगानिस्तान और बांग्लादेश से जो अल्पसंख्यक पलायन करके आये उन पर पहले की सरकारों के दौरान अत्याचार हुए न कि वर्तामान सरकार के दौरान. लेकिन पाकिस्तान में अभी इमरान सरकार के दौरान वहा अल्पसंख्कों पर अत्याचार जारी है.

भारत में रह रहे अवैध बांग्लादेशियों के लेकर विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि दोनो देशों के बीच मैकेनिज्म बना हुआ है इस मामलें में बांग्लादेश का रवैया भी सहयोगात्मक है और हम उनको धन्यवाद भी करते है जिन लोगो को भी हम पहचान करते है उनकी लिस्ट भी बांग्लादेश की सरकार को देते है और वो लोग भी सहयोग करते हुए उसको वैरीफाई करते है और वापिस लेते है.