दिल्ली: महिला सुरक्षा के लिए केजरीवाल का बड़ा कदम, डार्क स्पॉट पर लगेंगी 2.1 लाख स्ट्रीट लाइट

दिल्ली में महिला सुरक्षा को लेकर दिल्ली सरकार ने सीसीटीवी की तर्ज पर मुख्यमंत्री स्ट्रीट लाइट योजना के तहत सोमवार से लाइट लगाने का काम प्रारंभ कर दिया.

दिल्ली: महिला सुरक्षा के लिए केजरीवाल का बड़ा कदम, डार्क स्पॉट पर लगेंगी 2.1 लाख स्ट्रीट लाइट
इस योजना पर सौ करोड़ का खर्च आएगा.फाइल फोटो

नई दिल्ली: दिल्ली में महिला सुरक्षा को लेकर दिल्ली सरकार ने सीसीटीवी की तर्ज पर मुख्यमंत्री स्ट्रीट लाइट योजना के तहत सोमवार से लाइट लगाने का काम प्रारंभ कर दिया. इस योजना के तहत दिल्ली में दो लाख दस हजार स्ट्रीट लाइटें लगेंगी. जिसे लगाने की जिम्मेदारी तीनों डिस्काँम(बिजली कंपनी) की होगी. इसमें 20 या 40 वाट की एलईडी लाइट लगेंगी. तीन से पांच साल तक स्ट्रीट लाइट के मेंटेनेंस की जिम्मेदारी स्ट्रीट लाइट सप्लायर कंपनी की होगी. इस योजना पर सौ करोड़ का खर्च आएगा. दस करोड़ रुपये प्रति वर्ष मेंटेनेंस पर खर्च होंगे.

इस योजना के तहत दिल्ली के डार्क स्पॉट को अगले चार माह में खत्म कर दिया जाएगा. जनवरी 2020 में 50-60 हजार स्ट्रीट लाईंट लग जाएंगी. अगले चार माह में 2.10 लाख स्ट्रीट लाईट को लगा दिया जाएगा. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि महिला सुरक्षा के लिए जितनी स्ट्रीट लाईट लगाने की जरूरत होगी, लगाएंगे. दिल्ली से डार्क स्पाँट को पूरी तरह से खत्म किया जाएगा.  

लोग घर के बाहर लगवा सकेंगे, बिजली का बिल देगी सरकार: अरविंद केजरीवाल
केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली सरकार स्ट्रीट लाइट्स नए माॅडल पर लगवा रही है. पहले हमें नगर निगम से परमिशन लेनी पड़ती थी. जिसमें काफी समय लगता था और दिक्कत भी आती थी. कई सारी ऐसे डार्क स्पॉट हैं, जहां स्ट्रीट लाइट के लिए खंभे लगाने की जगह नहीं थी. नए माॅडल में हम लोगों से कह रहे हैं कि आप अपने घर के बाहर स्ट्रीट लाइट लगवा दीजिए.

अपने घर से उसे लाइट दे दीजिए. जितना बिजली का खर्च उसका आएगा, वह दिल्ली सरकार देगी. इस माॅडल के तहत पूरी दिल्ली में स्ट्रीट लाइट्स लगाई जा रही है. यह आॅटोमैटिक स्ट्रीट लाइट है. शाम को जैसे ही अंधेरा होगा, खुद जल जाएंगी. किसी को जलाने की जरूरत नहीं है. जैसे ही सुबह होगी, वैसे ही अपने आप ही यह बंद हो जाएंगी. हमें उम्मीद है कि जनवरी में 50 से 60 हजार स्ट्रीट लाइट लग जाएंगी. जहां पर घर नहीं है और रास्ते में अंधेरा है, वहां पर खंभे लगाकर स्ट्रीट लाइट लगाएंगे.

विधायक को लाइट लगवाने की अनुमति देने का अधिकार
इस योजना के तहत लाइट लगवाने की अनुमति देने का अधिकार विधायक को होगा. वही ब्लैक या डार्क स्पाँट भी चिंहित करेंगे. फिर भवन मालिक की अनुमति ली जाएगी. जिसके बाद बिजली कंपनी का सर्वे होगा. सर्वे में स्थान बिजली कंपनी की ओर से पास होने के बाद  स्ट्रीट लाइट लगा दिया जाएगा. आम जनता भी विधायक से संपर्क कर स्ट्रीट लाइट लगवा सकती है.

ऑटोमेटिक काम करेंगी स्ट्रीट लाइटें
इस योजना के तहत लगने वाली लाइटें आटोमेटिक होंगी. इसमें सेंसर लगा होगा. वह स्वत: अंधेरा होने पर जल जाएंगी और सुबह सूरज निकलने पर बंद हो जाएंगी.

महिला अपराध कम करने में मिलेगी सहायता
दिल्ली में महिलाओं के साथ अंधेरी जगहों पर वारदातें होती रहती हैं. इस खत्म करने में यह योजना कारगर है. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि सीसीटीवी पहले लग गए. अब लाइटें लग जाएंगी. इससे महिलाओं के खिलाफ अपराध कम करने में सहायता मिलेगी.