खाली कुर्स‍ियां देख केजरीवाल ने रद्द किया कार्यक्रम, फूट-फूटकर रोया आयोजक और बैठ गया धरने पर

भ‍िवानी में केजरीवाल को एक कार्यक्रम में शा‍म‍िल होना था,  आयोजकों का दावा है कि उन्‍होंने एेन वक्‍त पर अपना कार्यक्रम कैंसल कर दिया. इससे उन्‍हें काफी पैसे का नुकसान हुआ है.

खाली कुर्स‍ियां देख केजरीवाल ने रद्द किया कार्यक्रम, फूट-फूटकर रोया आयोजक और बैठ गया धरने पर

नवीन शर्मा, भिवानी: दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल के खिलाफ हरियाणा के भिवानी में एक शख्‍स धरने पर बैठ गया है. इस शख्‍स का दावा है कि दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल के समर्थन में एक सभा का आयोजन किया जाना था. इसमें खुद केजरीवाल आने वाले थे. लेकिन जैसे ही उन्‍हें इस बात की भनक लगी कि आयोजन स्‍थल पर भीड़ कम है और कुर्स‍ियां खाली हैं, उन्‍होंने अपना कार्यक्रम रद्द कर दिया. अब इसके खिलाफ उसने स्‍वाभिमान की लड़ाई मानते हुए केजरीवाल के खिलाफ अनशन शुरू कर दिया है.

बता दें कि भिवानी में अभिभावक सम्मेलन में दिल्ली के सीएम केजरीवाल को पहुंचना था. आयोजक दयानन्द ने कहा कि सीएम न आने का आम जनता को स्‍पष्‍ट कारण बताएं. दयानन्द ने कहा कि जब तक केजरीवाल नहीं आएंगे वह अपना अनशन नहीं तोड़ेंगे. स्वास्थ्य शिक्षा और सहयोग संगठन के एडवोकेट ने केजरीवाल को धोखाधड़ी का नोटिस भेजने की चेतावनी भी दी है. उनका कहना है कि केजरीवाल ने शिक्षा व स्वास्थ्य से जुड़े परिवारों का अपमान किया है.  इस कार्यक्रम के लिए उन्‍होंने कर्ज लेकर तैयारी की थी, कार्यक्रम रद्द होने से उनका पूरा पैसा डूब गया.

अलग-अलग बहाने
आयोजकों का दावा है कि उन्‍होंने शहर भर में केजरीवाल के आगमन का प्रचार होर्डिंग सहित अनेक सामग्री से किया. लेकिन ऐन वक्‍त पर भीड़ कम होने का कारण उन्‍होंने कार्यक्रम रद्द कर दिया. इसके बाद बहाना बनाया गया कि केजरीवाल की तबियत खराब होने के कारण वह नहीं आ सके.  

जब तक केजरीवाल नहीं आएंगे तब तक अनशन
आयोजक दयानंद गर्ग ने भिवानी की नई मंडी स्थित आयोजन स्थल पर ही अनशन शुरू कर दिया है. उनकी मांग है कि जब तक केजरीवाल उनके सम्मेलन को सम्बोधित नहीं करेंगे तब तक वे यहां अनशन पर रहेंगे. आयोजक दयानन्द गर्ग ने कहा कि दिल्ली सीएम के मीडियटरों ने उन्हें यह कहा कि आपके यहां तो कुर्सियां खाली पड़ी हैं, इसलिए केजरीवाल इस कार्यक्रम में नहीं आ रहे. अब आप पार्टी के नेता नवीन जयहिंद ने सफाई दी है कि सीएम भिवानी पहुँच ही रहे थे, लेकिन अचानक उनकी तबीयत खराब हो गई थी. इसलिए वे रास्ते से ही वापस चले गए. गर्ग ने कहा कि सीएम के न आने की बात स्पष्ट नहीं हो रही है. उनके साथ राजीनीति की गई है. इसलिए वे जब तक इस अनशन से नहीं उठेंगे, तब तक सीएम यहाँ सम्मेलन को सम्बोधित नहीं करते हैं. उन्‍होंने कहा कि यदि भीड़ कम होती तो यहाँ लोगों की जेब कैसे कटी.

आपको यहां बता दें कि भिवानी में 30 जनवरी, बुधवार को दयानंद गर्ग और उनके सहयोगियों ने नई अनाज मंडी में अरविंद केजरीवाल को अभिभावक सम्मेलन में मुख्यातिथि के रूप में आमंत्रित किया था. दोपहर साढे 12 बजे का समय निर्धारित किया हुआ था, लेकिन दिल्ली के सीएम भिवानी नहीं पहुंचे.