• 0/542 लक्ष्य 272
  • बीजेपी+

    0बीजेपी+

  • कांग्रेस+

    0कांग्रेस+

  • अन्य

    0अन्य

दिल्ली पुलिस की गिरफ्त में कुख्यात बदमाश, अब तक कर चुका है 11 हत्याएं

आरोपी के खिलाफ हत्या के 11 मामले, हत्या की कोशिश, लूटपाट, बलात्कार, कार लूटने के कई मामले दर्ज हैं. पूछताछ में पता चला है कि उसने अपने विरोध गिरोह के बदमाशों की पहले गोली मार कर हत्या करता था बाद में शव को गंग नगर में फेंक देता था.

दिल्ली पुलिस की गिरफ्त में कुख्यात बदमाश, अब तक कर चुका है 11 हत्याएं

नई दिल्‍ली: दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने हरियाणा के रोहतक जिले में साल 2016 में हुए तिहरे हत्याकांड में शामिल इनामी बदमाश विजय फरमाना को उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से गिरफ्तार कर लिया है. आरोपी के खिलाफ हत्या के 11 मामले, हत्या की कोशिश, लूटपाट, बलात्कार, कार लूटने के कई मामले दर्ज हैं. पूछताछ में पता चला है कि उसने अपने विरोध गिरोह के बदमाशों की पहले गोली मार कर हत्या करता था बाद में शव को गंग नगर में फेंक देता था. आरोपी अब तक केवल एक बार पुलिस के हत्थे चढ़ा है.

दिल्ली पुलिस ने बताया की इस पर दिल्ली पुलिस ने 30 हजार और हरियाणा की पुलिस ने आरोपी पर 10 हजार रुपए का इनाम घोषित किया हुआ था. बदमाश ने अपने साथी के साथ मिलकर नगालैंड के एक नेता की हत्या के लिए सुपारी के तौर पर 80 लाख रुपए और एक फोर्ड कार भी ले ली थी. लोकसभा चुनाव के बाद नेता की हत्या की योजना थी. फिलहाल पुलिस इस गिरोह में शामिल अन्य आरोपियों की तलाश कर रही है.

क्राइम ब्रांच के एडिशनल सीपी राजीव रंजन ने बताया कि कुछ महीने में वसंत कुंज मॉल, साकेत मॉल, राष्ट्रीय राज मार्ग-8 सहित वसंत विहार और आइजीआइ एयरपोर्ट पर महंगी कार लूटने की कई घटना घटी. बदमाश पिस्तौल के बल पर कार के चालक का अपहरण कर लेते थे. लूट के बाद बदमाश चालक को सुनसान स्थान पर फेंककर कार लेकर फरार हो जा रहे थे. इस गिरोह को पकड़ने के लिए विशेष टीम गठित की गई. करीब दो महीने की छानबीन के बाद पता चला कि वारदात में हरियाणा सोनीपत का नामी गैंगस्टर विजय फरमाना शामिल है.

यह भी जानकारी मिली की 11 हत्या सहित दर्जनों मामले में पुलिस उसकी तलाश कर रही है. विजय आपसी रंजिश में तीन बार में तीन तिहरे हत्या की घटना को अंजाम दे चुका है. वहीं, उसे दबोचने के लिए दिल्ली पुलिस और हरियाणा पुलिस ने अलग-अलग इनाम की घोषणा भी कर रखी है. इसका पता चलने के बाद पुलिस ने बदमाश पर नजर रखनी शुरू की. इसी बीच टीम को बीती 15 मई को जानकारी मिली कि विजय फरमाना लखनऊ में छुपा हुआ है. यह भी जानकारी मिली कि वह वहां अपने महिला मित्र से मिलने जाएगा. सूचना के आधार पर पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया. पुलिस को उसकी निशानदेही पर एक पिस्तौल और दो कारतूस जब्त किए.