close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

हम जल्द से जल्द राम मंदिर बनवाना चाहते हैं: अमित शाह

दो दिन तक चलने वाले बीजेपी के राष्‍ट्रीय महाधिवेशन को पार्टी अध्यक्ष अमित शाह संबोधित कर रहे हैं.

हम जल्द से जल्द राम मंदिर बनवाना चाहते हैं: अमित शाह
बीजेपी का महाधिवेशन शुरू.

नई दिल्ली: दिल्‍ली के रामलीला मैदान में बीजेपी के राष्‍ट्रीय महाधिवेशन की शुरुआत शुक्रवार को हो गई. कार्यक्रम की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने झंडा फहराकर की. दो दिन तक चलने वाली परिषद को पार्टी अध्यक्ष अमित शाह संबोधित कर रहे हैं. शाह ने कहा, 2019 में मोदी सरकार बनाकर विजय उत्सव मनाएंगे. 2019 का चुनाव देश के लिए महत्वपूर्ण है.  

उन्होंने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा, 2019 में मोदी सरकार बनवा दीजिए, केरल तक झंडा फहराएंगे. बुआ-भतीजा पर निशाना साधते हुए कहा कि यूपी में इस बार 73 सीटों पर जीत हासिल करेंगे. 
शाह ने कहा, "यूपी में बीजेपी 50% वोट की लड़ाई लड़ेगी. महागठबंधन को पता है को मोदी से अकेले नहीं लड़ सकते. 2019 का चुनाव मोदी बनाम ऑल पार्टी हो चुका है. पूरी दुनिया में मोदी जी जैसा लोकप्रिय नेता नहीं. महागठबंधन सिर्फ ढकोसला है."

शाह ने कहा "जमानत पर घूमने वालों के आरोपों से कोई फर्क नहीं पड़ता. राहुल आरोप लगाते रहें, देश की जनता सब समझती है." शाह ने कहा, "2019 का चुनाव वैचारिक युद्ध का चुनाव है. दो विचारधाराएं आमने-सामने खड़ी हैं. 2019 का युद्ध सदियों तक असर छोड़ने वाला है और इसीलिए मैं मानता हूं कि इसे जीतना बहुत महत्वपूर्ण है." 

 

यह बैठक ऐसे समय में हो रही है जब बीजेपी को हाल ही में हिन्दी पट्टी के तीन राज्यों छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश और राजस्थान में पराजय का सामना करना पड़ा है और कुछ ही महीने बाद लोकसभा चुनाव होने वाले हैं. विपक्ष राफेल, किसान, बेरोजगारी समेत अन्य मुद्दों पर सरकार को घेर रहा है.

पार्टी महासचिव अनिल जैन के अनुसार, "रामलीला मैदान में होने वाली राष्ट्रीय परिषद की बैठक लोकसभा चुनाव से पहले सबसे बड़ी बैठक है जहां से पार्टी अपने विजय अभियान की शुरुआत करेगी।’’ बीजेपी के इतिहास में यह अब तक की सबसे बड़ी राष्ट्रीय परिषद है. इसमें मंडल स्तर के कार्यकर्ता शिरकत कर रहे हैं. कई प्रदेशों के कार्यकर्ता दिल्ली पहुंच चुके हैं.


पीएम मोदी और अमित शाह लेंगे हिस्‍सा. फाइल फोटो

बैठक में हर लोकसभा क्षेत्र के दस प्रमुख नेता हिस्सा ले रहे हैं. बैठक में सभी सांसदों, विधायकों, परिषद के सदस्यों, जिला अध्यक्षों व महामंत्रियों के साथ हर क्षेत्र के विस्तारकों को भी आमंत्रित किया गया है. बीजेपी शासित राज्यों मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में कांग्रेस से हार का सामना करने के बाद होने जा रही यह परिषद अहम है. समझा जाता है कि बैठक में तीन प्रस्ताव पारित किए जाएंगे, जिसमें आर्थिक एवं राजनीति प्रस्ताव शामिल हैं. पार्टी के एक नेता ने बताया कि बैठक में किसानों के विषय का भी खासतौर पर उल्लेख किया जाएगा.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बैठक में समापन भाषण देंगे जिसमें कार्यकर्ताओं के लिए संदेश भी होगा. आज उद्घाटन भाषण पार्टी अध्यक्ष शाह करेंगे. बैठक में पार्टी राम मंदिर के मसले पर अपना रुख स्पष्ट कर सकती है. किसानों के मसले पर पार्टी के कामकाज को लेकर चर्चा हो सकती है.

सूत्रों ने बताया कि इसमें भ्रष्टाचार मुक्त सरकार पर जोर दिया जाएगा. पिछली सरकारों के घोटालों की तुलना करते हुए बीजेपी की बेदाग छवि को लेकर जनता के बीच जाने को कहा जाएगा. प्रधानमंत्री राष्ट्रीय परिषद की बैठक में मौजूद रहेंगे. ऐसे में रामलीला मैदान के मंच के पिछले हिस्से में अस्थाई प्रधानमंत्री कार्यालय और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के लिए अस्थायी कार्यालय बनाया गया है.