चलती कार में पिस्टल के साथ टिकटॉक के लिए बना रहे थे वीडियो, गोली चलने से हुई मौत

युवक इंडिया गेट गए घूमने गए थे. घर लौटते समय वह वीडियो बना रहे थे, उसी समय कार का संतुलन बिगड़ा और गोली चल गई. इसमें एक युवक की मौत हो गई.

चलती कार में पिस्टल के साथ टिकटॉक के लिए बना रहे थे वीडियो, गोली चलने से हुई मौत

नई दिल्‍ली: राजधानी के कनाट प्लेस के पास हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है. यहां चलती कार में वीडियो बनाने के दौरान एक युवक की मौत हो गई. पुलिस ने हत्या के आरोप में तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया है. वहीं पिस्टल भी बरामद कर ली गई है. युवक इंडिया गेट गए घूमने गए थे. घर लौटते समय वह वीडियो बना रहे थे, उसी समय कार का संतुलन बिगड़ा और गोली चल गई. इसमें एक युवक की मौत हो गई.

नई दिल्ली के डीसीपी मधुर वर्मा ने ज़ी न्यूज़ को बताया की शनिवार की रात तीन युवक मौज-मस्ती करने के लिए इंडिया गेट पहुंचे. फिर अपने घर जाफराबाद जाने लगे. रात तक़रीबन 10.30 बजे ये तीनो बराखम्बा रोड के रंजीत सिंह फ्लाईओवर पर पहुंचे. उसी दौरान कार चला रहे सलमान (21) ने टिकटॉक एप पर वीडियो अपलोड करने की बात कही. फिर साथ वाली सीट पर बैठे सोहेल (22) ने अपने पास रखी पिस्टल को कार चला रहे सलमान के गाल पर लगाया और पीछे बैठा आमिर वीडियो बनाने ही वाला था, तभी फ्लाइओवर को जोड़ने वाले सेगमेंट पर कार डिसबैलेंस हुई और सोहेल से ट्रिगर दब गया और गोली सलमान को जा लगी. गोली लगने के बाद सोहेल ने सलमान को अपनी सीट पर खींचा. खुद ड्राइविंग सीट आया और कार चलाकर अपने तुर्कमान गेट के पास पहुंचकर अपने पिता अकरम को फोन किया.

तुर्कमान गेट पर समारोह में गए अकरम बाहर आये और घायल सलमान को लेकर अस्पताल पहुंचे, लेकिन सोहेल और आमिर दूसरी गाड़ी से मौके से भाग गए और अपने दोस्त शाकिर के घर जाकर खून से सने कपड़ों को बदला और फिर उन कपड़ों को नाले में फेंक दिया. अब पुलिस कपड़ों की तलाश कर रही है.

पुलिस ने बताया की सोहेल अपने दोस्त से पिस्टल टशन दिखाने के लिए लाया था. मृतक सलमान के पिता का जिंस का काम है और आमिर के पिता का प्लाईवुड का काम है. पुलिस को पूछताछ में बताया की इनको वीडियो बनाने का शौक है..इसलिए ये टिकटॉक पर वीडियो अपलोड करने के लिए बना रहे थे..

पुलिस ने सोहेल के पास से पिस्टल भी बरामद कर ली है ..और सोहेल के दोस्त शाकिर को भी गिरफ्तार किया है जिस पर आरोप है सबूत मिटाने का..पुलिस ने आईपीसी की धारा 302, 201 और आर्म्स एक्ट के तीनों को गिरफ्तार कर लिया है..