VIDEO: दिल्ली में बदमाशों ने बरपाया कहर, फिर एक शख्स को मारी गोलियां; सीसीटीवी में रिकॉर्ड

दो बदमाशों ने शख्स के ऊपर 2 से 3  राउंड फायर किए जिससे एक गोली उनकी पीठ में जा लगी.

VIDEO: दिल्ली में बदमाशों ने बरपाया कहर, फिर एक शख्स को मारी गोलियां; सीसीटीवी में रिकॉर्ड
गोली मारने वाला बदमाश मोहम्मद हसन का पुराना जानकार है.

नई दिल्ली: राजधानी दिल्ली में एक और शूटआउट की वारदात सामने आई है. उत्तर-पूर्वी दिल्ली के उस्मानपुर इलाके में बदमाश ने 56 साल के शख्स के ऊपर ताबड़तोड़ फायरिंग की जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गया. यह पूरी वारदात घटनास्थल पर लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई है.

शाहदरा का उस्मानपुर इलाका गुरुवार शाम एक बार फिर गोलियों की आवाज़ों से गूंज उठा जब एक बदमाश ने 56 साल के मोहम्मद हसन उर्फ कलुआ सूफी के ऊपर दो से तीन राउंड फायर कर उसको मौत के घाट उतारने की कोशिश की. बदमाश ने हसन उर्फ कलुआ सूफी के ऊपर 2-3 तीन राउंड फायर किए, लेकिन एक ही गोली कलुआ के कमर में जाकर लगी. मौके पर जुटती भीड़ को देखते हुए बदमाश मौके से फरार हो गए.

गोली पीठ में जा लगी
दरअसल, हसन उर्फ कलुआ सूफी गुरुवार शाम करीब पौने 6 बजे बाइक से अपने किसी दोस्त के साथ एक गली से निकल रहे थे. उनका दोस्त बाइक चला रहा था और हसन पीछे बैठे थे. इसी दौरान जैसे ही वह गली के टी पॉइंट पर पहुंचे तभी उनका पीछा कर रहे दो बदमाशों ने उनके ऊपर 2 से 3  राउंड फायर किए जिससे एक गोली उनकी पीठ में जा लगी जिससे वह मौके पर गिर गए और बदमाश मौके से फरार हो गए. उसके बाद हसन को लोगों ने जीटीबी अस्पताल भर्ती कराया. जहां से हसन को पटपड़गंज के मैक्स हॉस्पिटल रैफर कर दिया गया.

पुरानी रंजिश
मामले की जांच कर रही उस्मानपुर थाने की पुलिस को पता चला है कि गोली मारने वाला बदमाश मोहम्मद हसन का पुराना जानकार है और दोनों बुलंदशहर के एक गांव के रहने वाले हैं. दोनों के बीच कोई पुरानी रंजिश चलती आ रही थी. पुलिस को आशंका है कि रंजिश के चलते ही हसन को गोली मारी गयी है. शूटआउट की पूरी वारदात इलाके में लगे सीसीटीवी में रिकॉर्ड हो गयी है.

दिल्ली में हत्या और लूट की ताबड़तोड़ वारदातें, अब तक पुलिस की पकड़ से दूर हैं आरोपी
फिलहाल पुलिस को गोली मारने वाले बदमाश के कुछ ठिकानों का पता चला है और उम्मीद है कि बदमाश जल्द उनकी गिरफ्त में होगा. लेकिन दिल्ली में बढ़ती शूटआउट की वारदातें गवाही दे रही हैं कि यहां बदमाशों को न ही पुलिस का ख़ौफ़ है और न ही कानून का.