close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

ईओडब्ल्यू ने सेवानिवृत्त एसडीओ के ठिकानों पर मारा छापा, निकला करोड़ों का मालिक

छापेमारी के दौरान उनके और उनके परिवार के नाम पर कथित रूप से करोड़ों रुपयों की चल-अचल सम्पत्ति के दस्तावेज बरामद किए हैं. यह संपत्ति आय के उनके ज्ञात स्रोतों से बहुत ज्यादा है.

ईओडब्ल्यू ने सेवानिवृत्त एसडीओ के ठिकानों पर मारा छापा, निकला करोड़ों का मालिक
मध्‍य प्रदेश की ईओडब्‍ल्‍यू को आरोपी के पास एक हजार एकड़ से अधिक जमीन सहित भ्रष्‍टाचार के जरिए कमाई गई संपत्ति के बारे में पता चला था. (प्रतीकात्‍मक फोटो)

जबलपुर: मध्य प्रदेश के आर्थिक अपराध प्रकोष्ठ (ईओडब्ल्यू) ने मंगलवार को लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के सेवानिवृत्त अनुविभागीय अधिकारी (एसडीओ) सुरेश उपाध्याय के चार ठिकानों पर छापेमारी की. छापेमारी के दौरान उनके और उनके परिवार के नाम पर कथित रूप से करोड़ों रुपयों की चल-अचल सम्पत्ति के दस्तावेज बरामद किए हैं. यह संपत्ति आय के उनके ज्ञात स्रोतों से बहुत ज्यादा है.

जबलपुर ईओडब्ल्यू के पुलिस उपाधीक्षक राजवर्द्धन माहेश्वरी ने बुधवार को बताया कि मंगलवार को सुरेश उपाध्याय के जबलपुर स्थित चार ठिकानों पर छापा मारा गया, जिसमें उनके, उनकी पत्नी अनुराधा एवं उनके बेटे सचिन के नाम पर जिले में 70 एकड़ जमीन के कागजात मिले हैं, जिनमें प्रमुख स्थानों में आवासीय प्लाट भी शामिल हैं. उन्होंने कहा कि इस 70 एकड़ जमीन का बाजार मूल्य कई करोड़ रूपए है. 

उन्होंने कहा कि ईओडब्‍ल्‍यू को उपाध्याय के घर से ढाई लाख रूपए नकद, करीब दो किलोग्राम सोना एवं पांच किलो चांदी भी मिली है, जिन्हें जब्त कर लिया गया है. माहेश्वरी ने बताया कि उनकी दो कंपनियां भी हैं, जिसमें से एक रियल इस्टेट की है. उसके पास दो एसयूवी भी हैं.उन्होंने कहा कि छापे के दौरान बड़ी संख्या में आपत्तिजनक दस्तावेज मिले हैं, जिनकी जांच कराई जा रही है. 

माहेश्वरी ने बताया कि यह संपत्ति उनके आय के ज्ञात स्रोतों से बहुत अधिक है और इसका मूल्यांकन करने में समय लग सकता है. उन्होंने कहा कि ईओडब्ल्यू ने सुरेश उपाध्याय और उनके परिवार के सदस्यों के नाम पर संचालित बैंक खातों को सीज करने के लिए संबंधित शाखा प्रबंधकों को पत्र भेजा है. इनके खातों में जमा रकम के बारे में भी जानकारी मांगी है.

उन्होंने बताया कि ईओडब्‍ल्‍यू ने उपाध्याय, उसकी पत्नी एवं बेटे के खिलाफ भ्रष्टाचार निरोधक अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर लिया है. माहेश्वरी ने बताया कि सुरेश उपाध्याय वर्ष 2014 में सेवानिवृत्त हुए थे. वर्ष 1978 से वर्ष 2014 तक उनकी कुल आय 53.26 लाख रूपये थी. जिसमें से 33 प्रतिशत व्यय संभावित है. आयकर रिटर्न के अनुसार उनकी पत्नी की आय 1.14 लाख रूपये तथा बेटे की आय पांच लाख रूपए है.

ईओडब्ल्यू के एक अन्य अधिकारी ने बताया कि उन्हें शिकायत मिली थी उपाध्याय के पास आवासीय सहित 1,000 एकड़ जमीन है, जो उन्होंने भ्रष्टाचार के जरिए कमाई है. इसके बाद हमने उनके ठिकानों पर छापा मारा है. 

(इनपुट: भाषा )