स्वामी ने दिलाया ध्यान, 2014 के एक फैसले के चलते पुलवामा में शहीद हुए 40 जवान

वरिष्ठ अधिवक्ता सुब्रमण्यम स्वामी ने ट्वीट कर बताया है कि साल 2014 में सरकार ने नियम में बदलाव करते हुए चेक प्वाइंट पर किसी वाहन को रोकने या उसपर बल प्रयोग के अधिकार सुरक्षाबलों से छिन लिए थे. 

स्वामी ने दिलाया ध्यान, 2014 के एक फैसले के चलते पुलवामा में शहीद हुए 40 जवान
पुलवामा अटैक को लेकर बीजेपी (BJP) के सांसद सुब्रमण्यम स्वामी (Subramanian swamy) काफी गुस्से में हैं.
Play

श्रीनगर: जम्मू कश्मीर के पुलवामा में आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवानों के शहीद होने से बीजेपी (BJP) के सांसद सुब्रमण्यम स्वामी (Subramanian swamy) काफी गुस्से में हैं. विस्फोटक से भरी कार के जरिए CRPF की बस को आत्मघाती हमले में उड़ाने की घटना के लिए स्वामी ने 2014 में सरकार की ओर से बदले गए एक नियम को जिम्मेदार ठहराया है. 

वरिष्ठ अधिवक्ता सुब्रमण्यम स्वामी ने ट्वीट कर बताया है कि साल 2014 में सरकार ने नियम में बदलाव करते हुए चेक प्वाइंट पर किसी वाहन को रोकने या उसपर बल प्रयोग के अधिकार सुरक्षाबलों से छिन लिए थे. यही वजह रही कि विस्फोटक से भरी कार CRPF की बस के करीब पहुंची और देश को इतना बड़ा नुकसान उठाना पड़ा है.

उन्होंने बताया कि सरकार यह आदेश इसलिए लेकर आई थी क्योंकि, सेना के कुछ जवानों ने एक मारुति कार पर फायरिंग कर दी थी. इसके बाद जवानों पर मुकदमा भी चला था और आज भी वे जेल में हैं.

मालूम हो कि 3 नवंबर, 2014 को बडगाम में 53, राष्ट्रीय राइफल्स के जवानों ने एक सफेद मारुति कार पर फायरिंग कर दी थी. यह कार दो चेक प्वाइंट्स को तोड़ते हुए आगे बढ़ रही थी. इसपर जवानों को संदेह हुआ कि इस कार में आतंकी हो सकते हैं. जवानों ने कार पर फायरिंग कर दी जिसमें दो युवक मारे गए थे.

जांच में पता चला था कि पांच युवक मुहर्रम के जुलूस से इसी कार में लौट रहे थे, जिसमें से दो की मौत जवानों की गोली से हुई थी. इस मामले में चार सैनिक दोषी पाए गए थे और वे सजा काट रहे हैं. इस घटना पर जम्मू-कश्मीर में काफी विवाद हुआ था, जिसके बाद सरकार ने चेक प्वाइंट्स पर गाड़ियों को बल प्रयोग कर रोकने के नियम पर पाबंदी लगा दी थी.

पाकिस्तान को चार भागों में तोड़ दो : स्वामी
इससे पहले भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी कहते रहे हैं कि पाकिस्तान को चार क्षेत्रों सिंध, बलूचिस्तान, पखतून और पश्चिमी पाकिस्तान में विभाजित कर दिया जाना चाहिए और पहले तीन हिस्सों को भारत कौ सौंप दिया जाना चाहिए. एक सेमिनार में शिरकत कर रहे राज्यसभा सदस्य ने कहा, 'भारत- पाकिस्तान झगड़े का यही एकमात्र समाधान है.'

पाकिस्तान के नए प्रधानमंत्री इमरान खान को एक चपरासी करार देते हुए स्वामी ने कहा कि सेना, इंटर सर्विस इंटेलीजेंस (आईएसआई) और आतंकियों द्वारा पाकिस्तान को चलाया जा रहा है.