जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल बोले, 'हताश PAK को मुंहतोड़ जवाब दे रहे हैं भारतीय बल'

राज्यपाल ने कहा, 'हमारे बल किसी भी तरह के उकसावे पर उचित ढंग से प्रतिक्रिया दे रहे हैं लेकिन खबर यहां तक नहीं पहुंचती. पाकिस्तान निराश है क्योंकि वह घुसपैठियों को नहीं घुसा पा रहा.

जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल बोले, 'हताश PAK को मुंहतोड़ जवाब दे रहे हैं भारतीय बल'
जम्मू और कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक (फाइल फोटो)

जम्मू: जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने शनिवार को कहा कि 'घुसपैठियों' को यहां प्रवेश नहीं करा पाने से 'हताश' पाकिस्तान को भारतीय बल मुंह तोड़ जवाब दे रहे हैं. मलिक ने राज्य में पंचायत चुनावों के सफलतापूर्वक आयोजन पर प्रसन्नता जाहिर की और कहा कि यहां माहौल बिगाड़ने के पाकिस्तान एवं आतंकवादियों के प्रयास के बावजूद घाटी में पूर्ण शांति बनी हुई है. 

मलिक ने यहां एक कार्यक्रम से इतर संवाददाताओं से कहा,'हमारे बल किसी भी तरह के उकसावे पर उचित ढंग से प्रतिक्रिया दे रहे हैं लेकिन खबर यहां तक नहीं पहुंचती. पाकिस्तान निराश है क्योंकि वह घुसपैठियों को नहीं घुसा पा रहा. वह (पाकिस्तान) पंचायत चुनावों के खिलाफ था और उसके सफल समापन से नाखुश था.' 

'इस तरह की घटना पाकिस्तान की कुंठा को दर्शाती है'
शुक्रवार को राजौरी जिले में नियंत्रण रेखा के पास आईईडी विस्फोट की घटना पर राज्यपाल ने कहा कि इस तरह की घटना पाकिस्तान की कुंठा को दर्शाती है. इसमें सेना का एक जवान एवं एक मेजर शहीद हो गए थे.

आईएएस अधिकारी शाह फैसल के इस्तीफे एवं राजनीति में शामिल होने की योजना पर राज्यपाल ने कहा कि अगर वह सरकार में रहते तो बेहतर होता. घाटी में कश्मीरी पंडितों के पुनर्वास पर मलिक ने कहा कि सरकार उनको लेकर चिंतित है. बहरहाल, उन्होंने विस्तार से कुछ नहीं बताया. इससे पहले राज्यपाल ने स्वामी विवेकानंद की 156वीं जयंती के अवसर पर उन्हें श्रद्धांजलि दी. 

(इनपुट - भाषा)