त्‍योहार में घर जा रहे हैं तो टेंशन की बात नहीं, रेलवे चला रहा 392 स्‍पेशल ट्रेनें

196 जोड़ी ट्रेनें यानी कि 392 ट्रेनों को फेस्टिवल स्पेशल ट्रेन के तौर पर चलाया जाएगा. ट्रेनों की लिस्ट संबंधित जोन को भेज दी गई है.

त्‍योहार में घर जा रहे हैं तो टेंशन की बात नहीं, रेलवे चला रहा 392 स्‍पेशल ट्रेनें
(फाइल फोटो)

नई दिल्ली: भारत में त्योहारी सीजन शुरू हो गया है. ऐसे में भारतीय रेलवे (Indian Railways) की तरफ से लोगों के लिए एक राहत भरी खबर आई है. जनता की सुविधाओं का ख्याल करते हुए रेलवे ने 392 फेस्टिवल स्पेशल ट्रेनें चलाने का फैसला किया है. जानकारी के मुताबिक, 196 जोड़ी ट्रेनें यानी कि 392 ट्रेनों को फेस्टिवल स्पेशल ट्रेन के तौर पर चलाया जाएगा. ट्रेनों की लिस्ट संबंधित जोन को भेज दी गई है.

फेस्टिवल स्पेशल ट्रेनें 20 अक्टूबर से 30 नवंबर के बीच चलाई जाएंगी. इसकी मिनिमम स्पीड 55 किमी/घंटे रहेगी. जानकारी के मुताबिक फेस्टिवल स्पेशल ट्रेन में अधिकतर थर्ड एसी कोच लगे होंगे, जिनका किराया मौजूदा स्पेशल ट्रेन के किराए के बराबर ही होगा.

उत्तर रेलवे चलाएगा 40 स्पेशल ट्रेन
इधर, उत्तर रेलवे ने सोमवार (12 अक्टूबर) को कहा कि वह राजधानी, शताब्दी एक्सप्रेस और दूरंतो सहित और 40 स्पेशल रेलगाड़ियों का परिचालन शुरू करने जा रहा है. उत्तर रेलवे के प्रवक्ता दीपक कुमार ने कहा कि यह निर्णय लिया गया है कि हजरत निजामुद्दीन-पुणे एसी दुरंतो एक्सप्रेस स्पेशल, नई दिल्ली-कालका शताब्दी एक्सप्रेस स्पेशल, नई दिल्ली-देहरादून शताब्दी एक्सप्रेस स्पेशल और श्री माता वेष्णों देवी कटरा-नई दिल्ली एसी एक्सप्रेस स्पेशल को 15 अक्टूबर से शुरू किया जाएगा.

17 अक्टूबर से सेवाएं शुरू
इसके अलावा उत्तर रेलवे 16 अक्टूबर से बांद्रा टर्मिनस-हजरत निजामुद्दीन युवा एक्सप्रेस स्पेशल और 17 अक्टूबर से हजरत निजामुद्दीन-बांद्रा टर्मिनस युवा एक्सप्रेस स्पेशल की सेवाएं भी शुरू करेगा. उत्तर रेलवे 15 अक्टूबर से लोकमान्य तिलक-हरिद्वार ए.सी. एक्सप्रेस स्पेशल, 17 अक्टूबर से लोकमान्य तिलक-लखनऊ ए.सी. एक्सप्रेस स्पेशल, 17 अक्टूबर से नागपुर-अमृतसर ए.सी. एक्सप्रेस स्पेशल और 12 अक्टूबर से डिब्रूगढ़-नई दिल्ली राजधानी स्पेशल का परिचालन भी शुरू करेगा.

ट्रैक पर दौड़ेंगी 120 ट्रेनें
रेलवे ने 25 मार्च से कोविड-19 लॉकडाउन लागू होने पर सभी पैसेंजर, मेल और एक्सप्रेस ट्रेनों के संचालन को निलंबित कर दिया था. इसने 1 मई से प्रवासी मजदूरों के लिए श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का संचालन शुरू किया और 12 मई से विशेष वातानुकूलित ट्रेनों के 15 जोड़ों का परिचालन भी शुरू किया. इसके बाद, 1 जून से 100 जोड़ी ट्रेनों की सेवा शुरू हुई. इसके बाद 1 सितंबर से 80 और ट्रेनों के 40 अन्य ट्रेनों का फिर संचानल होगा.