जेएनयू देशद्रोही नारों के मामले में आज दाखिल हो सकती है चार्जशीट

जेएनयू देशद्रोही नारों के मामले में आज दाखिल हो सकती है चार्जशीट

चार्जशीट ज़ी न्यूज़ की ख़बर को भी आधार बनाकर तैयार की गई है. इस चार्जशीट में एफएसएल रिपोर्ट को भी आधार बनाया गया है.

जेएनयू देशद्रोही नारों के मामले में आज दाखिल हो सकती है चार्जशीट

नई दिल्‍ली :  दिल्ली पुलिस सोमवार को जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार, उमर खालिद और अनिर्बान भट्टाचार्य तथा कुछ अन्य लोगों के खिलाफ देशद्रोह के मामले में आरोप पत्र दाखिल कर सकती है. चार्जशीट ज़ी न्यूज़ की ख़बर को भी आधार बनाकर तैयार की गई है. इस चार्जशीट में एफएसएल रिपोर्ट को भी आधार बनाया गया है.

चार्जशीट पटियाला हाउस कोर्ट में फाइल होगी. 9 फरवरी 2016 को कथ‍ित तौर पर जेएनयू में देश विरोधी नारे लगाए गए थे. इससे पहले दिल्ली पुलिस आयुक्त अमूल्य पटनायक ने बुधवार को इसकी जानकारी दी थी.  कन्हैया, उमर खालिद और अनिर्बान को जेएनयू परिसर में कथित रूप से संसद पर हमले के दोषी अफजल गुरू को फांसी पर लटकाए जाने के विरोध में कथित रुप से कार्यक्रम करने को लेकर 2016 में देशद्रोह के मामले में गिरफ्तार किया गया था.

उनकी गिरफ्तारी से बड़ा विवाद खड़ा हो गया था. विपक्ष ने पुलिस पर सत्तारुढ़ भाजपा की शह पर काम करने का आरोप लगाया था. पटनायक ने कहा, "मामला अंतिम चरण में है. इसकी जांच पेचीदा थी, क्योंकि पुलिस टीमों को बयान लेने के लिये अन्य राज्यों का दौरा करना पड़ा था."

जेएनयू के इस विवादस्पद कार्यक्रम से लोगों में नाराजगी फैली थी. आरोप लगे थे कि कार्यक्रम के दौरान कथित रूप से देश विरोधी नारे लगाए गये. हालांकि‍ विपक्ष के कई नेताओं ने जेएनयू के आरोपी छात्रों का पक्ष लिया था. इनमें से कई बड़े नेता तो उनके समर्थन में जेएनयू भी पहुंचे थे.

input : Bhasha

Trending news