LIVE: पुलवामा में एनकाउंटर के बाद पत्थरबाजी शुरू, 2 आतंकी ढेर

पुलवामा के पिंगलीना इलाके में हुई इस मुठभेड़ के बाद लोगों ने पत्थरबाजी शुरू कर दी है. वहीं सेना के मेजर समेत 4 जवानों के शहीद होने की खबर है.

LIVE: पुलवामा में एनकाउंटर के बाद पत्थरबाजी शुरू, 2 आतंकी ढेर
फोटो सौजन्य: ANI

श्रीनगरः जम्मू कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ (CRPF) काफिले पर हमला करने वाले आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के आतंकियों के साथ हुई मुठभेड़ में सेना और सुरक्षाबलों ने उस बिल्डिंग को ही उड़ा दिया है जिसमें ये आतंकी छिपे हुए थे. ऐसी खबर है कि इस मुठभेड़ में 2 आतंकी मारे गए है. जबकि दो आतंकियों की तलाश जारी है. मारे गए आंतकियों पाकिस्तान आतंकी और जैश-ए-मोहम्मद का कमांडर कामरान हिलाल मारा गया है. वहीं इस एनकाउंटर में पुलवामा हमले का मास्टरमाइंड अब्दुल गाजी भी मारा गया है. इस ऑपरेशन को सेना की 55 राष्ट्रीय राइफल्स, जम्मू कश्मीर पुलिस और सीआरपीएफ की 182/183 बटालियन की ज्वाइंट टीम ने अंजाम दिया. ऑपरेशन अभी भी जारी है.

पिछले कई घटों से पुलवामा के पिंगलीना इलाके में आतंकियों के साथ सुरक्षाबलों की ये मुठभेड़ चल रही थी. इस मुठभेड़ में सेना के एक मेजर समेत 4 जवानों के शहीद हो गए है. मुठभेड़ के बाद इलाके के लोगों ने सुरक्षाबलों पर पत्थरबाजी शुरू कर दी है. समाचार एजेंसी एएनआई के एक वीडियो में पुलवामा पुलिस पत्थरबाजी कर रहे कश्मीरी युवाओं से अपील करती दिख रही है, 'आप लोग वापस चले जाइये'

 

जिस जगह आज ये मुठभेड़ हुई वह सीआरपीएफ हमले वाले स्थान से 10-13 किलोमीटर की दूरी पर है.  पिंगलीना इलाके में छिपे आतंकियों ने सुरक्षाबलों द्वारा खुद को घिरा देख फायरिंग शुरू कर दी थी. इसके बाद सुरक्षाबलों ने भी जवाबी कार्रवाई करते हुए फायरिंग की. काफी देर तक हुई फायरिंग में सेना के एक मेजर, एक हेड कॉन्सटेबल और दो सिपाहियों के शहीद होने की खबर है. शहीद होने वाले जवानों में मेजर डीएस डोंडियाल, हेड कॉन्सटेबल सेवा राम, सिपाही अजय कुमार और सिपाही हरी सिंह है. वहीं इस हमले में बुरी तरह घायल होने वाले सेना के जवान सिपाही गुलजार मोहम्मद को श्रीनगर के बदामीबाग इलाके स्थित सेना के 92 बेस अस्पताल में भर्ती कराया गया है. वहीं सेना के एक और जवान के घायल होने की खबर है.

 

ऐसा बताया जा रहा है कि पिंगलीना के इस घर में पुलवामा में सीआरपीएफ कैंप हमले को अंजाम देने वाले आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी छिपे हुए है. भारतीय सुरक्षाबलों ने पूरे इलाके को घेर लिया है, ऐसा बताया जा रहा है यहां 2-3 आतंकी छिपे हुए है. ऐसी खबर है कि इस घर में छिपने वाले आतंकियों में सीआरपीएफ हमले को अंजाम देना वाले जैश आतंकी आदिल डार से जुड़े हुए हैं. 

बता दें कि बीती 14 फरवरी को जैश-ए-मोहम्मद के आतंकियों ने पुलवामा के अवंतिपोरा इलाके में सीआरपीएफ के काफिले पर आत्मघाती हमला किया था. इस हमले में अर्धसैनिक बल के 40 जवान शहीद हो गए थे जबकि कई जवान घायल हुए थे. इस हमले के बाद पूरे देश में रोष फैल गया और हर तरफ से आतंक और पाकिस्तान के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने का मांग उठने लगी. 

पीएम नरेंद्र मोदी ने भी कहा था कि किसी भी तरह इस हमले के दोषियों के बख्शा नहीं जाएगा. उन्होंने कहा था कि सुरक्षाबलों को को कार्रवाई की पूरे छूट दे दी गई है. 

आतंकी संगठनों ने बहुत बड़ी गलती की, इसकी कीमत उनको चुकानी पड़ेगी: PM मोदी
जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में हुए आतंकवादी हमले पर पड़ोसी देश पाकिस्तान को कड़ा संदेश देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को कहा कि आतंकी संगठन और उनके सरपरस्त बहुत बड़ी गलती कर गए हैं और इसके गुनाहगारों को उनके किये की सजा जरूर मिलेगी. प्रधानमंत्री ने एक कार्यक्रम में कहा, ‘‘आतंकी संगठनों को और उनके सरपरस्तों को कहना चाहता हूं कि वो बहुत बड़ी गलती कर गए हैं. मैं देश को भरोसा दिलाता हूं कि हमले के पीछे जो ताकतें हैं, इस हमले के जो भी गुनहगार हैं, उन्हें उनके किए की सज़ा अवश्य मिलेगी.’’

पाकिस्तान को आड़े हाथों लेते हुए उन्होंने कहा, ‘‘ पूरे विश्व में अलग-थलग पड़ चुका हमारा पड़ोसी देश अगर यह समझता है कि जिस तरह के कृत्य वह कर रहा है, जिस तरह की साजिशें कर रहा है, उससे भारत में अस्थिरता पैदा करने में सफल हो जाएगा, तो वह बहुत बड़ी भूल कर रहा है.’’ उन्होंने कहा कि इस समय बड़ी आर्थिक बदहाली के दौर से गुजर रहे हमारे पड़ोसी देश को यह भी लगता है कि वह ऐसी तबाही मचाकर, भारत को बदहाल कर सकता है. उसके ये मंसूबे भी कभी पूरे नहीं होंगे. पीएम मोदी ने कहा कि 130 करोड़ हिंदुस्तानी ऐसी हर साजिश, ऐसे हर हमले का मुंहतोड़ जवाब देंगे.

उन्होंने कहा कि पुलवामा हमले के बाद, अभी मन: स्थिति और माहौल दुःख और साथ ही साथ आक्रोश का है. ‘‘ऐसे हमलों का देश डटकर मुकाबला करेगा, रुकने वाला नहीं है. हमारे देश के जिन वीरों ने अपने प्राणों की आहुति दी है, उनके सपनों को पूरा करने के लिए हम अपने जीवन का पल-पल खपा देंगे.’’ प्रधानमंत्री ने कहा कि वह पुलवामा के आतंकवादी हमले में शहीद जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं. उन्होंने देश की सेवा करते हुए अपने प्राण न्योछावर किए हैं. दुःख की इस घड़ी में मेरी संवेदनाएं, उनके परिवारों के साथ हैं.