मध्य प्रदेशः परिजनों ने लगाया पुलिस पर आरोप, रिश्वत भी ली और बेटे से मारपीट भी की

थाना प्रभारी ने मारपीट के आरोपों से इनकार करते हुए बताया कि जमानत के बाद सड़क पर गिर जाने के चलते उसे चोट लगी है.

मध्य प्रदेशः परिजनों ने लगाया पुलिस पर आरोप, रिश्वत भी ली और बेटे से मारपीट भी की
(प्रतीकात्मक तस्वीर)

इंदौरः मध्य प्रदेश के गृह मंत्री बाला बच्चन के गृह नगर में पुलिस पर ग्रामीणों ने गंभीर आरोप लगाए हैं. ग्रामीणों ने पुलिस पर आरोप लगाया है कि पुलिस ने एक ग्रामीण से रिश्वत ली और फिर उसके साथ मारपीट भी की, जिससे उसकी हालत काफी खराब है और इलाज के लिए उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है. पीड़ित युवक के परिजनों ने पुलिस पर यह संगीन आरोप लगाए हैं. वहीं इस मामले पर राजनीति भी गरमा गई है और भाजपा नेताओं ने थाना प्रभारी को तत्काल निलंबित करने की मांग की दूसरी और थाना प्रभारी ने मारपीट के आरोपों से इनकार करते हुए बताया कि जमानत के बाद सड़क पर गिर जाने के चलते उसे चोट लगी है.

पुलिसवालों की रिश्वत की भेंट चढ़ा युवक, एक महीने पहले ही हुई थी शादी

मिली जानकारी के मुताबिक पुलिस पर राजपुर के ग्राम बिलवानी निवासी कमल से मारपीट करने और रिश्वत के तौर पर 15000 रुपये लेने का संगीन आरोप उसके परिजनों ने लगाया है. कमल के पिता अभय का कहना है पुलिस उनके घर शराब ढूंढने आई थी, लेकिन शराब नहीं मिली फिर भी घर पर ही उनके पुत्र से मारपीट की और गाड़ी पर बिठाकर उसको थाने लेकर आए. थाने लाकर उनके पुत्र के साथ मारपीट की और छोड़ने के नाम पर 15000 रुपये की रिश्वत ली. वहीं पिटाई के बाद उसकी खराब हालत के चलते राजपुर पुलिस उसे लेकर राजपुर सरकारी अस्पताल पहुंची जहां युवक का इलाज चल रहा है.

 

उसके सर और कान में चोट है, जिसके चलते डॉक्टरों ने प्राइमरी उपचार के बाद उसे जिला अस्पताल रेफर कर दिया है. वहीं जिला अस्पताल में फरियादी कमल का उपचार अभी जारी है. हालांकि मामला गृहमंत्री के गृह नगर का है इसलिए इस मामले पर राजनीति भी गरमा गई है. भाजपा के पूर्व जिला अध्यक्ष ओम सोनी ने जिला अस्पताल पहुंचकर पीड़ित का हाल जाना. साथ ही पुलिस और गृहमंत्री पर संगीन आरोप लगाए. उनका कहना है कि पीड़ित से खूब मारपीट की गई है. साथ ही वो कहते हैं कि गृहमंत्री टीआई अनिल बामनिया को भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं को दबाने कुचलने और झूठे मुकदमे करने के लिए लाए हैं.

बिहार में बदला घुसखोरी का ट्रेंड, विजिलेंस ने 2018 में सबसे ज्यादा रकम की बरामद

वहीं राजपुर थाना प्रभारी अनिल बामनिया आरोपों को झूठा बताते हुए कहते हैं लोक सभा निर्वाचन के तहत शराब बेचने वालों पर कार्रवाई की जा रही है. जिसके तहत कमल के पास से 10 लीटर महुआ भट्टी की शराब पकड़ी गई थी और प्रकरण दर्ज किया गया था. हालांकि अपराध जमानती था इसलिए आरोपी को जमानत देकर छोड़ दिया गया था. तभी वह थाने से जाने के बाद मेन रोड पर सड़क पर जाकर गिर गया और ठोस जमीन होने से उसे चोट लग गई. क्योंकि कमल शराब का आदी है इसलिए संभवतः गिर गया और पुलिस सद्भावना पूर्वक उसे राजपुर अस्पताल ले गई.