close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पुलिसवालों की रिश्वत की भेंट चढ़ा युवक, एक महीने पहले ही हुई थी शादी

डीसीपी ने बताया परिवार की शिकायत पर दो आरोपी पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर जांच शुरू कर दी है. 

पुलिसवालों की रिश्वत की भेंट चढ़ा युवक, एक महीने पहले ही हुई थी शादी
मृतक की फाइल फोटो.

नई दिल्ली: देश की सबसे स्मार्ट पुलिस कहे जाने वाली दिल्ली पुलिस पर कुछ करप्ट पुलिस वाले अपने छोटे से लालच की वजह से इतना बड़ा दाग लगा देते हैं, जिसको धोना पूरी पुलिस फोर्स के लिए मुश्किल हो जाता है. ताजा मामला नार्थ डिस्ट्रिक्ट के कोतवाली थाने का है, जहां मृतक के परिजनों पर पुलिस ने गंभीर आरोप लगाए हैं. आरोप है कि पुलिसवालों ने एक गंभीर रूप से घायल व्यक्ति को अस्पताल में ले जाने के बदले, उसे छोड़ने के एवज में उससे दस हजार रुपये की मांग की. मामला सामने आने के बाद पुलिस ने कार्रवाई कर दो आरोपी पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया है. 

Image

मृतक की भतीजी ने आरोप लगाया है कि 19 दिसंबर को उसके चाचा धर्मेन्द्र जब घर लौट रहे थे, तो उनका टेम्पो पुलिस की बेरिकेट से टकरा गया. पुलिस को सामने देख डर के वो टेम्पो लेकर भागने लगा. मौके पर मौजूद पुलिस के जवानों को कुछ शक हुआ तो वो उसके पीछे भागे, लेकिन थोड़ी दूर जाने के बाद गीता कॉलोनी फ्लाईओवर पर धर्मेंद्र का टेम्पो पलट गया. आरोप है कि घायल धर्मेंद्र को पुलिस ने अस्पताल में भर्ती कराने के बजाय, उसे अपने साथ ले गई और उसे छोड़ने के एवज में दस हजार रुपयों की मांग की.

Image

मृतक का परिजनों ने 2300 रुपये किसी तरह जमा किए और पुलिसवालों को दी, जिसके बाद पुलिस वालों ने घायल धर्मेंद्र को परिवार के हवाले कर दिया. घायल धर्मेंद्र को परिजन बाबू जगजीवन अस्पताल लेकर गए, जहां उचित समय पर इलाज नहीं मिलने की वजह से उसकी मौत हो गई. मृतक की शिकायत के बाद पुलिस हरकत में आई और आरोपी दोनों पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर जांच के आदेश दिए हैं. 

Image

नॉर्थ डिस्ट्रिक्ट की डीसीपी नूपुर प्रसाद ने बताया कि टेम्पो चालक ने पुलिस बेरिकेट पर टक्कर मारी और वो वापस गलत दिशा में टैम्पो के साथ भागने लगा. पुलिस को कुछ शक हुआ तो उसका पीछा किया गया गीता कॉलोनी फ्लाईओवर पर टेम्पो पलट गया था, पुलिस ने जब धर्मेंद्र को पकड़ा तो उसने शराब पी हुई थी. पुलिस ने कार्रवाई की और बाद में उसे छोड़ दिया, घर जाने के बाद उसकी मौत हो गई. डीसीपी ने बताया परिवार की शिकायत पर दो पुलिस वालों को सस्पेंड कर जांच शुरू कर दी है. 

Image

वहीं, मृतक की भतीजी का कहना है कि उसके चाचा शराब जरूर पीते थे, लेकिन इतनी नहीं कि वो एक्सीडेंट कर देते. धर्मेंद्र के साथ मौजूद शख्स का आरोप है कि पुलिस ने एक्सीडेंट के बाद उनको मारा था, जिसकी वजह से शादी के एक महीने बाद ही एक दुल्हन का सुहाग दस हजार की रिश्वत की भेंट चढ़ गया.