शिवराज सरकार के बजट में सिंधिया के गढ़ ग्वालियर-चंबल का रखा गया ख्याल, जानें क्या मिला

यह एक्सप्रेस-वे चंबल नदी के किनारे-किनारे बन रहा है, इसलिए इसका नाम चंबल एक्सप्रेस-वे रखा गया. हालांकि शिवराज सरकार ने इसका नाम पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर अटल एक्सप्रेस-वे कर दिया है. 

शिवराज सरकार के बजट में सिंधिया के गढ़ ग्वालियर-चंबल का रखा गया ख्याल, जानें क्या मिला
ज्योतिरादित्य​ सिंधिया (L), शिवराज चौहान.

भोपाल: शिवराज सरकार ने वित्तिय वर्ष 2021-22 के लिए बजट पेश कर दिया है. बजट में ज्योतिरादित्य सिंधिया के गढ़ ग्वालियर-चंबल क्षेत्र को काफी तवज्जो दी गई. चंबल एक्सप्रेस-वे, ग्वालियर में हॉकी का सेन्ट्रल ऑफ एक्सीलेंस सेंटर, श्योपुर में मेडिकल कॉलेज बनाने की घोषणा बजट में की गई है. साथ ही ग्वालियर शहर के बीच से गुजरने वाली स्वर्ण रेखा नदी के ऊपर एक एलिवेटेड रोड बनाने की घोषणा भी इस बार के बजट में की गई है.

MP Budget 2021-22: कोई नया कर नहीं लगा, बजट का आकार 2,41,375 करोड़, जानें बड़ी बातें

उपरोक्त सभी घोषणाओं में सबसे महत्वपूर्ण चंबल एक्सप्रेस-वे है. यह सिंधिया और केन्द्रीय कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर दोनों का ड्रीम प्रोजेक्ट रहा है. चंबल एक्सप्रेस वे का काम शुरू हो चुका है. इसके लिए लोक निर्माण विभाग को इस बार के बजट में पैसे भी मुहैया कराए गए हैं. साथ ही 250 से ज्यादा आबादी वाले आदिवासी गांवों को प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के तहत पक्की सड़क से जोड़ने का फायदा भी ग्वालियर-चंबल के शिवपुरी और श्योपुर जिलों को होगा. इस इलाके के करीब 35 आदिवासी बहुल गांव सड़क से जुड़ जाएंगे.

बजट में इस जिले को मिली मेडिकल कॉलेज की सौगात, बीजेपी-कांग्रेस में श्रेय लेने की मची होड़ 

चंबल एक्सप्रेस-वे के बारे में जानें
चंबल एक्सप्रेस-वे मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश और राजस्थान राज्यों को आपस में जोड़ने वाला 6 लेन का एक्सप्रेस-वे है. चूंकि यह एक्सप्रेस-वे चंबल नदी के किनारे-किनारे बन रहा है, इसलिए इसका नाम चंबल एक्सप्रेस-वे रखा गया. हालांकि शिवराज सरकार ने इसका नाम पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर अटल एक्सप्रेस-वे कर दिया है. इस एक्सप्रेस-वे का 309 किलोमीटर का हिस्सा मध्य प्रदेश में, 78 किलोमीटर राजस्थान और 17 किलोमीटर उत्तर प्रदेश में होगा.

MP Budget 2021-22: किसानों को सालाना मिलेंगे 10000 रुपए, जानें कृषि क्षेत्र को बजट में क्या​​ मिला

चंबल एक्सप्रेस-वे के जरिए राजस्थान का कोटा शहर मध्य प्रदेश के मुरैना से जुड़ जाएगा. वहीं एक्सप्रेस-वे यूपी के इटावा जिला से भी होकर गुजरेगा. मध्य प्रदेश के मुरैना-श्योपुर-भिंड और शिवपुरी जिले चंबल एक्सप्रेस-वे के माध्यम से आपस में जुड़ जाएंगे. इस एक्सप्रेस-वे की अनुमानित लागत 8,250 करोड़ रुपए है. चंबल एक्सप्रेस-वे का कुछ हिस्सा दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस के अंतर्गत भी आएगा. यह स्वर्णिम चतुर्भुज के दिल्ली-कोलकाता खंड को दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे से जोड़ेगा.

MP Budget: बजट में कृषि, शिक्षा, स्वास्थ्य, रोजगार पर खास फोकस, किए गए ये 10 बड़े ऐलान, जानें

हॉकी का सेंट्रल ऑफ एक्सीलेंस सेंटर
शिवराज सरकार के बजट में जिक्र है कि ग्वालियर में हॉकी का सेन्ट्रल ऑफ एक्सीलेंस सेंटर खुलेगा. इस सेंटर से राष्ट्रीय खेल हॉकी के विकास और ग्वालियर सहित अंचल के खिलाड़ियों को बढ़ावा मिलेगा. ग्वालियर-चंबल में हाकी के उभरते खिलाड़ियों को अंतरराष्ट्रीय स्तर के टर्फ पर प्रैक्टिस करने और अपने हुनर को निखारने का मौका मिलेगा.

बजट में बड़ा ऐलान: राज्य में 9200 नए CM Rise स्कूल बनेंगे, 24,200 शिक्षकों की होगी भर्ती

श्योपुर जिले में नया मेडिकल कॉलेज
इस बार के बजट में मध्य प्रदेश में 9 नए मेडिकल कॉलेज खोलने की बात कही गई है. इनमें एक मेडिकल कॉलेज श्योपुर जिले में खोला जाएगा. इससे श्योपुर सहित ग्वालियर-चंबल अंचल में स्वास्थ्य सुविधाओं में सुधार होगा. साथ ही दतिया और शिवपुरी मेडिकल कॉलेज में सुविधाओं को बढ़ाने के लिए बजट में 348 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है.

MP Budget: चंबल व नर्मदा एक्सप्रेस-वे, 2441 KM नई सड़कें, ग्रामीण क्षेत्र में 5200 KM सड़कें

जेएएच में 1000 बेड का नया हॉस्पिटल 
स्मार्ट सिटी योजना के तहत बजट में प्रावधान किया गया है, जिसमें ग्वालियर भी शामिल है. स्वर्ण रेखा नदी के ऊपर एक एलिवेटेड रोड बनेगा. ग्वालियर के जया आरोग्य हॉस्पिटल में 1000 बिस्तर के अस्पताल के लिए 140 करोड़ का प्रावधान बजट में रखा गया है. मेडिकल कॉलेज में एमबीबीएस सीटों को बढ़ाया गया है, ग्वालियर, दतिया को इसका फायदा मिलेगा.

WATCH LIVE TV