3 माह बाद नए साल में सचिवालय पहुंचे मनोहर पर्रिकर, गर्मजोशी से हुआ स्वागत

सीएम के मंत्रालय आते ही अनेक कार्यकर्ता पर्रिकर से मिलने मंत्रालय पहुंचे.

3 माह बाद नए साल में सचिवालय पहुंचे मनोहर पर्रिकर, गर्मजोशी से हुआ स्वागत
आज मत्रालय में आने के बाद उन्होंने अलग-अलग विभागों के काम की जानकारी ली...

सुभाष दवे. मुंबई: पिछले साल फरवरी से ही बीमार चल रहे गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर परिकर पिछले तीन महीनों में पहली बार मंगलवार को नववर्ष के अवसर पर मंत्रालय पहुंचे. पर्रिकर अग्नाशय संबंधी बीमारी के कारण लंबे समय से कार्यालय नहीं आ पा रहे थे. उन्होंने पिछले साल अमेरिका और मुंबई के निजी अस्पतालों में उपचार कराया था. उसके बाद वो गोवा में थे यहा भी इस पर इलाज हो रहा था. पर्रिकर को दिल्ली के एम्स अस्पताल में इलाज के लिए ले जाया गया था लेकिन उन्हें दोबारा गोवा लाया गया.  फिलहाल उनकी तबीयत में सुधार हो रहा है. पिछले सप्ताह पुल के काम को वो देखने गए थे, तब उनकी ली हुई तस्वीर काफी वायरल हुई थी. 

सीएम के मंत्रालय आते ही अनेक कार्यकर्ता पर्रिकर से मिलने मंत्रालय पहुचे.आज मत्रालय में आने के बाद उन्होंने अलग-अलग विभागों के काम की जानकारी ली. उनके साथ सभापती प्रमोद सावंत, मंत्री मिलिंद नाईक, नीलेश कबराल, सुदिन ढवळीकर, माविन गुदिनो थे.. उनके अचानक मंत्रालय में आने के बाद नेतृत्व परिवर्तन की चर्चा को विराम मिल गया है. 

कांग्रेस पर हमलावर हुई भाजपा
गोवा के ऊर्जा मंत्री नीलेश कबराल ने मंगलवार को कहा कि अब अस्वस्थ मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर ऑफिस लौट आए हैं तो कांग्रेस नेताओं के लिए यह खुद के 'श्राद्ध' करने का समय है. कबराल ने कहा, "आज मुख्यमंत्री ने हमसे कार्यालय में मुलाकात की. कुछ लोग हैं जो उनका श्राद्ध करना चाहते थे. वे (कांग्रेस नेता) कहते थे कि वह ठीक नहीं हैं, हम उनका श्राद्ध करेंगे. अब कांग्रेस के इन लोगों को खुद का श्राद्ध करना होगा."

ऊर्जा मंत्री, राज्य कांग्रेस प्रवक्ता जितेंद्र देशप्रभु के अक्टूबर में किए गए कटाक्ष पर प्रतिक्रिया दे रहे थे. देशप्रभु ने पर्रिकर के नई दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान से लौटने के बाद पर्रिकर पर कटाक्ष किया था. कबराल ने यह भी कहा कि पर्रिकर ने नए साल के दिन राज्य सचिवालय का दौरा किया और अपने डेढ़ घंटे के संक्षिप्त दौरे के दौरान कई मंत्रियों व पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ बैठकें कीं. मुख्यमंत्री पर्रिकर सितंबर के बाद से पहली बार अपने कार्यालय पहुंचे. कबराल ने कहा, "मुख्यमंत्री ने कैबिनेट मंत्रियों व प्रमुख समर्थकों से मुलाकात की. उन्होंने फाइलों पर हस्ताक्षर किए और उम्मीद है कि वह जल्द ही कैबिनेट की बैठक बुलाएंगे."