close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

भारतीय शांतिरक्षक को मरणोपरांत संयुक्त राष्ट्र पदक से किया जाएगा सम्मानित

पुलिस अधिकारी जितेंद्र कुमार ने ‘यूएन ऑर्गेनाइजेशन स्टेबलाइजेशन मिशन इन डेमोक्रेटिक रिपब्लिक ऑफ द कांगो’ (एमओएनयूएससीओ) में सेवाएं देते समय अपनी जान कुर्बान कर दी.

भारतीय शांतिरक्षक को मरणोपरांत संयुक्त राष्ट्र पदक से किया जाएगा सम्मानित
संयुक्‍त राष्‍ट्र पदक से शहीद को मरणोपरांत किया जाएगा सम्‍मानित. फाइल फोटो

संयुक्त राष्ट्र : भारतीय शांतिरक्षक जितेंद्र कुमार उन 119 सैन्य, पुलिस एवं असैन्य कर्मियों में शामिल हैं जिन्हें उनके साहस एवं बलिदान के लिए मरणोपरांत इस साल प्रतिष्ठित संयुक्त राष्ट्र पदक से सम्मानित किया जाएगा.

पुलिस अधिकारी जितेंद्र कुमार ने ‘यूएन ऑर्गेनाइजेशन स्टेबलाइजेशन मिशन इन डेमोक्रेटिक रिपब्लिक ऑफ द कांगो’ (एमओएनयूएससीओ) में सेवाएं देते समय अपनी जान कुर्बान कर दी. उन्हें शुक्रवार को संयुक्त राष्ट्र शांतिरक्षक अंतरराष्ट्रीय दिवस पर डैग हैमरस्क्जोल्ड पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा.

 

संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि सैयद अकबरूद्दीन यहां एक कार्यक्रम में जितेंद्र की ओर से पदक ग्रहण करेंगे. इस कार्यक्रम की अध्यक्षता संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुतारेस करेंगे. भारत संयुक्त राष्ट्र शांतिरक्षा के लिए वर्दीधारी जवानों का योगदान देने के मामले में चौथी संख्या पर है.

संयुक्त राष्ट्र की पिछले साल जारी सूचना के अनुसार भारत ने पिछले 70 वर्षों में विभिन्न शांतिरक्षा अभियानों में तैनात अपने सर्वाधिक शांतिरक्षक खोए हैं. देश के 163 सैन्य, पुलिस एवं असैन्य कर्मियों ने अपने कर्तव्य का पालन करने हुए जान कुर्बान की है.