close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

दार्जिलिंग के इस इलाके में 3 दिनों से नहीं है बिजली, जेनरेटर के सहारे मोबाइल चार्ज कर रहे लोग

बीते तीन दिनों से लोग जेनरेटर के सहारे अपना मोबाइल फोन चार्ज कर रहे हैं. इतना ही नहीं इसके लिए उन्हें पांच किलोमीटर दूर तक जाना पड़ता है.

दार्जिलिंग के इस इलाके में 3 दिनों से नहीं है बिजली, जेनरेटर के सहारे मोबाइल चार्ज कर रहे लोग
दार्जिलिंग के इस इलाके में तीन दिनों से नहीं है बिजली.

दार्जिलिंग : पश्चिम बंगाल के दार्जिलिंग की पहचान यूं तो पर्यटक स्थल को लेकर है, लेकिन बीते तीन दिनों से पूरे सोनादा इलाके में बिजली नहीं है. सरकार की कुव्यवस्था का यह जीता-जागता सबूत है. एक दिन भी बिजली नहीं होने से लोगों को सबसे ज्यादा समस्या मोबाइल फोन को लेकर होती है. सोनाद के लोग भी मोबाइल चार्जिंग को लेकर परेशान हैं.

बीते तीन दिनों से लोग जेनरेटर के सहारे अपना मोबाइल फोन चार्ज कर रहे हैं. इतना ही नहीं इसके लिए उन्हें पांच किलोमीटर दूर तक जाना पड़ता है.

सोनादा से पांच किलोमीटर दूर नालिकोर में लोग बिजली नहीं होने से लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. जेनरेटर के सहारे लोगों को फोन चार्ज करना पड़ रहा है.

पश्चिम बंगाल की ममता सरकार भले ही बिजली के क्षेत्र में क्रांतिकारी परिवर्तन का दावा कर ले, लेकिन सोनादा की यह कहानी उनके दावों का पोल खोल रही है.

लाइव टीवी देखें-: