दक्षिण कोरियाः सियोल में PM मोदी को मिलेगा शांति पुरस्कार, देश के लिए करेंगे ये 'डील'

सियोल में पीएम मोदी ने कहा, 'मानवता के समक्ष आतंकवाद, जलवायु परिवर्तन दो सबसे बड़ी चुनौतियां हैं.

दक्षिण कोरियाः सियोल में PM मोदी को मिलेगा शांति पुरस्कार, देश के लिए करेंगे ये 'डील'
फोटो साभारः PTI

सियोल: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार को दो दिवसीय दौरे पर दक्षिण कोरिया की राजधानी पहुंचे. प्रधानमंत्री ने यहां महात्मा गांधी की अर्धप्रतिमा का अनावरण किया. इस मौके पर पीएम मोदी ने कहा कि योनसेई विश्वविद्यालय में महात्मा गांधी की प्रतिमा का अनावरण करना सम्मान की बात है. यह और भी खास हो जाता है क्योंकि हम उस समय यह काम कर रहे हैं, जब हम बापू की 150 वीं जयंती मना रहे हैं. सियोल में पीएम मोदी ने कहा, 'मानवता के समक्ष आतंकवाद, जलवायु परिवर्तन दो सबसे बड़ी चुनौतियां हैं और महात्मा गांधी के सिद्धांत इन मुद्दों से निपटने में विश्व की मदद कर सकते हैं.'

पीएम नरेंद्र मोदी ने महात्मा गांधी के विचारों की तारीफ करते हुए कहा कि बापू के सोच और विचार हमें आतंकवाद और जलवायु परिवर्तन के खतरों से लड़ने में मदद देते हैं. पीएम मोदी इसके बाद सियोल शांति पुरस्कार (सियोल पीस प्राइज) भी स्वीकार करेंगे. प्रधानमंत्री मोदी व्यापारिक व राजनीतिक कार्यक्रमों में भी भाग लेंगे.

एशियाई राष्ट्र के दूसरे राजकीय दौरे पर मोदी भारत-कोरिया व्यापार संगोष्ठी को संबोधित करेंगे और योनसेई विश्वविद्यालय में महात्मा गांधी की अर्धप्रतिमा का उद्घाटन करेंगे. इसके बाद वह दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जे-इन द्वारा निजी तौर पर आयोजित रात्रिभोज में भाग लेंगे और भारत-कोरिया संसदीय समूह के सदस्यों से मुलाकात करेंगे.

वह शाम को एक सामुदायिक कार्यक्रम में भी भाग लेंगे. अपनी दो दिवसीय यात्रा के दौरान मोदी कोरिया के राष्ट्रपति मून के साथ चर्चा में भाग लेंगे और सियोल शांति पुरस्कार ग्रहण करेंगे. इससे पहले मोदी मई 2015 में दक्षिण कोरिया के दौरे पर गए थे. मोदी राष्ट्रपति मून जेई - इन के न्यौते पर दक्षिण कोरिया की यात्रा पर हैं.

महात्मा गांधी की प्रतिमा के अनावरण के बाद प्रधानमंत्री दक्षिण कोरियाई शहर गिमहाई के मेयर से मिले और दोनों देशों के बीच करीबी संबंधों को प्रदर्शित करते हुए उन्हें बोधि वृक्ष का एक पौधा उपहार में दिया. अयोध्या और गिमहाई को सिस्टर सिटी के रूप में विकसित करने के लिए 2000 में एक समझौते पर हस्ताक्षर किए गए थे. 

इनपुट आईएएनएस से भी