'अफवाह गैंग' को PM मोदी ने किया Expose! विपक्ष के हर झूठ पर ऐसे किया करारा प्रहार

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रामलीला मैदान से रविवार को नागरिकता कानून और एनआरसी पर विपक्ष के फैलाए एक-एक झूठ की पोल खोलकर रख दी. 

'अफवाह गैंग' को PM मोदी ने किया Expose! विपक्ष के हर झूठ पर ऐसे किया करारा प्रहार
विपक्ष के झूठ पर पीएम मोदी ने चोट करते हुए कहा कि नागरिकता कानून का भारतीय मुस्लिमों से कोई लेना-देना नहीं.

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने रामलीला मैदान (Ramlila Maidan) से रविवार को नागरिकता कानून (Citizenship Amendment Act) और एनआरसी (NRC) पर विपक्ष के फैलाए एक-एक झूठ की पोल खोलकर रख दी. पीएम मोदी ने उन लोगों को भी संदेश देने की कोशिश की जो विपक्ष के फैलाए अफवाह में आकर देश में अशांति फैला रहे हैं. प्रधानमंत्री ने ऐसे लोगों से अपील की कि विपक्ष के ट्रैप में न आएं. विपक्ष के झूठ पर पीएम मोदी ने चोट करते हुए कहा कि नागरिकता कानून का भारतीय मुस्लिमों से कोई लेना-देना नहीं.  

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने 97 मिनट के भाषण में नागरिकता कानून पर हर उस सवाल का जवाब दिया जिसको लेकर देश के मुसलमानों के दिल और दिमाग में विपक्ष की ओर से सवाल दागे गए हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज कांग्रेस, लेफ्ट और ममता बनर्जी किसी को नहीं बख्शा. उन्होंने रामलीला मैदान के मंच से देश को यकीन दिलाया कि देश के लिए जिएंगे और देश के लिए जूझेंगे. 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के मुस्लिमों को यकीन दिलाया कि उन्हें विपक्ष जिस झूठ में उलझाने की कोशिश कर रहा है, वो कोशिश कभी कामयाब नहीं होगी. प्रधानमंत्री ने आज एक बार फिर विपक्ष के छल में छेद कर दिया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज कांग्रेस, लेफ्ट और ममता बनर्जी किसी को नहीं बख्शा. उन्होंने रामलीला मैदान के मंच से देश को यकीन दिलाया कि देश के लिए जिएंगे और देश के लिए जूझेंगे.

CAA को लेकर भ्रम फैलाया गया
पीएम मोदी ने अपने भाषण में कहा, "नागरिकता कानून को लेकर भ्रम फैलाया गया. फर्जी वीडियो फैलाए जा रहे हैं. भारत की संसद ने, लोकसभा-राज्यसभा ने इस बिल को पास करने में मदद की है. खड़े होकर देश की संसद का सम्मान कीजिए, लोकसभा-राज्यसभा का सम्मान कीजिए. चुने हुए सांसदों का सम्मान कीजिए, पूरी ताकत से सम्मान कीजिए. मैं भी लोकतंत्र के प्रतिनिधियों को प्रणाम करता हूं, सम्मान करता हूं. इस बिल के पास होने के बाद राजनीतिक दल तरह-तरह की अफवाहें फैला रहे हैं. भ्रम फैला रहे हैं भावनाओं को भड़का रहे हैं. जब दिल्ली में कालोनियों को वैध करने के बारे में पूछा तो किसी से धर्म, जाति या पार्टी के बारे में पूछा था. 70 का सबूत, 80 का सबूत लाओ. केंद्र के इस फैसले का लाभ, पिछड़ों, मुसलमानों, सिख और ईसाईयों को भी मिला. ये झूठ फैला रहे हैं मैं अधिकार छीनने वाला कानून बना रहा हूं. झूठ बोलने वालों को चुनौती देता हूं मेरे हर काम की पड़ताल कीजिए, कहीं पर दूर-दूर तक भेदभाव की बू आती है तो देश के सामने रख दीजिए. उज्ज्वला योजना में 8 करोड़ गैस कनेक्शन दिया तो जाति, धर्म पूछा था क्या. कांग्रेस और उसके साथियों से पूछता हूं देश की जनता से झूठ बोल रहे हो भ्रम फैला रहे हैं." 

एनआरसी के नाम पर सिर्फ अफवाह
पीएम मोदी ने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा, "विपक्ष के लोग कागज, सर्टिफिकेट के नाम पर मुस्लिमों को भ्रमित कर रहे हैं. हम पर झूठा आरोप क्यों लगाया जा रहा है? देश को बदनाम साज़िश हो रही है. मोदी का विरोध करो, हिंसा क्यों? पुलिसवाले किसी के दुश्मन नहीं है. आज़ादी के बाद 33 हजार हमारे पुलिस भाइयों ने शांति, सुरक्षा के लिए शहादत दी है. आग लगने की घटना पर धर्म पूछकर लोगों को नहीं निकाल रही थी. पुराना हथियार निकाल लिए. बांटो, भड़काओ और अपना उल्लू सीधा करो. एनआरसी न आया है न कैबिनेट में आया है, उसका हौव्वा खड़ा किया जा रहा है. एक तरफ आपको हक देने की बात कर रहे हैं दूसरी ओर आपको निकालने वाला कानून बनाएंगे क्या? वो देखो कौव्वा कानून काटकर उड़ गया, कुछ लोग कौव्वे के पीछे भागने लगे और पहले अपना कान तो देख लो. 

ये भी देखें: 

पीएम मोदी ने कहा, "सुप्रीम कोर्ट के कहने पर आसाम के लिए करना पड़ा. कांग्रेस, शहर में रहने वाले पढ़े-लिखे नक्सली, अर्बन नक्सल ये अफवाह फैला रहे हैं कि सारे मुसलमानों को डिटेंशन सेंटर भेज दिया गया है. इस अफवाह में पढ़े लिखे पूछ रहे हैं डिटेंशन सेंटर क्या होता है. जिनके पुरखे मां भारती के संतान हैं उन पर कोई एनआरसी लागू नहीं होगा. ये नापाक खेल है. ये झूठ के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं. कुछ लोग कह रहे हैं कि हम अपने राज्य में नागरिकता कानून लागू नहीं करेंगे. तिरंगे के नीचे खड़े होते हैं संविधान की शपथ लेते हो, कम से कम अपने एडवोकेट जनरल से पूछ लो क्या ऐसा किया जा सकता है."