close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

निपाह का एक मामला सामने आने पर पुडुचेरी के स्वास्थ्य मंत्री ने कहा- 'हम तैयार हैं'

अधिकारी ने यह भी बताया कि रोगी के शरीर से तरल के नमूने लेकर उसे जांच के लिए पुणे के ‘वायरोलॉजी रिसर्च इंस्टीट्यूट’ भेज दिया गया है और रिपोर्ट का इंतजार है.

निपाह का एक मामला सामने आने पर पुडुचेरी के स्वास्थ्य मंत्री ने कहा- 'हम तैयार हैं'
प्रतीकात्मक तस्वीर

पुडुचेरी: पुडुचेरी सरकार ने बुधवार को कहा कि उसने निपाह के प्रकोप से निपटने की पूरी तैयारी कर ली है. तमिलनाडु के एक व्यक्ति में इस वायरस के लक्षण पाए जाने के बाद सरकार ने यह कदम उठाया है.

स्वास्थ्य अधिकारियों ने बताया कि तमिलनाडु के कुड्डलोर जिले के 50 वर्षीय एक व्यक्ति को सरकारी अस्पताल जेआईपीएमईआर में भर्ती कराया गया है. उसमें बुखार और एन्सेफलाइटिस (मस्तिष्क में सूजन) के लक्षण पाए गए हैं.

वह हाल ही में केरल के गुरुवायूर से लौटा था, जहां निपाह का एक मामला सामने आया है. पुडुचेरी के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण सेवाओं के निदेशक के.वी. रमण ने ‘पीटीआई-भाषा’ से को बताया कि एकीकृत रोग निगरानी कार्यक्रम (आईडीएसपी) ने मंगलवार को एक आपात समीक्षा बैठक की.

अधिकारी ने यह भी बताया कि रोगी के शरीर से तरल के नमूने लेकर उसे जांच के लिए पुणे के ‘वायरोलॉजी रिसर्च इंस्टीट्यूट’ भेज दिया गया है और रिपोर्ट का इंतजार है. उन्होंने बताया कि बीमारी को फैलने से रोकने के लिए ‘इंदिरा गांधी गवर्नमेंट जनरल हॉस्पिटल एंड रिसर्च इंस्टिट्यूट’ की मदद से सरकारी ‘चेस्ट डिजीज’ अस्पताल में पृथक वार्ड स्थापीत किए गए हैं.

सरकार ने निजी अस्पतालों से ‘एक्यूट एन्सेफलाइटिस सिंड्रोम’ के मामलों की जानकारी आईडीएसपी को देने को कहा है. रमण ने कहा कि त्रिशूर, कोल्लम और इड्डुक्कि जिलों सहित केरल के उच्च जोखिम वाले क्षेत्रों से आने वाले बीमार यात्रियों की पहचान करने की व्यवस्था भी की गई है. बस टर्मिनल और रेलवे स्टेशन पर स्वयंसेवक भी तैनात किए गए हैं.