close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

आधिकारिक दौरे के लिए रेल अधिकारियों को ट्रेन में करनी चाहिए यात्रा: रेलवे बोर्ड

रेलवे बोर्ड के चेयरमैन विनोद कुमार यादव ने सभी जोनल रेलवे के महाप्रबंधकों को लिखे पत्र में कहा है कि ऐसे अधिकारियों को यात्रियों के साथ बातचीत भी करनी चाहिए.

आधिकारिक दौरे के लिए रेल अधिकारियों को ट्रेन में करनी चाहिए यात्रा: रेलवे बोर्ड
(फाइल फोटो @RailMinIndia)

नई दिल्ली: रेलवे ने अपने महाप्रबंधकों को यह सुनिश्चित करने के लिए कहा है कि उनके अधिकारी अपने सरकारी दौरों के लिए ट्रेन से यात्रा करें और कोचों की स्थिति के बारे में रिपोर्ट सौंपें.

रेलवे बोर्ड के चेयरमैन विनोद कुमार यादव ने सभी जोनल रेलवे के महाप्रबंधकों को लिखे पत्र में कहा है कि ऐसे अधिकारियों को यात्रियों के साथ बातचीत भी करनी चाहिए.

यादव ने 13 जून को लिखे अपने पत्र में कहा, ‘ट्रेन से यात्रा करना हमारी सेवाओं के संबंध में वास्तविक स्थिति की प्रथम दृष्टया जानकारी हासिल करने का एक अवसर है. यह अकेला हमें यात्रियों और ग्राहकों के साथ 'सच्चाई के क्षण' प्रदान कर सकता है और सेवाओं को निरंतर बेहतर बनाने के लिए अमूल्य जानकारी प्रदान करता है.’

'अधिकारी कोचों का निरीक्षण करें' 
उन्होंने कहा,‘सभी महाप्रबंधक, मंडल रेल प्रबंधक (डीआरएम) और इकाई प्रमुख व्यक्तिगत रूप से यह सुनिश्चित करेंगे कि उनके अधीन काम करने वाले अधिकारी, अपने आधिकारिक दौरों के दौरान अक्सर ट्रेन से यात्रा करें, कोचों का निरीक्षण करें... अधिकारियों के निरीक्षण नोट में जैव शौचालयों और खानपान सहित ट्रेनों की ऐसी सुविधाओं और सेवाओं की गुणवत्ता की स्थिति पर रिपोर्ट अनिवार्य रूप से शामिल होनी चाहिए.’

रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष ने यह भी कहा कि महाप्रबंधकों को उन्हें प्रतिक्रिया भेजनी चाहिए कि ये निर्देश सभी अधिकारियों को दिए गए हैं. 

उन्होंने विभाग के प्रमुखों को इन अधिकारियों की निरीक्षण रिपोर्टों के आधार पर, जहां भी आवश्यक हो, सुधारात्मक कार्रवाई करने का निर्देश दिया है.