राजस्थान: BJP में प्रदेशाध्यक्ष चुनाव का काउंट डाउन शुरू, 27 दिसंबर तक नाम तय

पार्टी के प्रदेश चुनाव अधिकारी राजेंद्र गहलोत कहते हैं कि बीजेपी (BJP) की परंपरा के मुताबिक प्रदेशाध्यक्ष का चुनाव भी सर्वसम्मति से कराने की ही कोशिश होगी. नए प्रदेशाध्यक्ष का चुनाव केंद्रीय पर्यवेक्षक नित्यानंद राय की मौजूदगी में होगा. 

राजस्थान: BJP में प्रदेशाध्यक्ष चुनाव का काउंट डाउन शुरू, 27 दिसंबर तक नाम तय
प्रतीकात्मक तस्वीर.

जयपुर: बीजेपी (BJP) में संगठन चुनाव का दौर अपने अंतिम पड़ाव पर है और अगले तीन दिन में प्रदेशाध्यक्ष के चुनाव के साथ राज्य स्तर पर चुनावी प्रक्रिया संपन्न हो जाएगी. इसके बाद पार्टी में राष्ट्रीय अध्यक्ष का चुनाव ही बाकी रह जाएगा.

पार्टी के प्रदेश चुनाव अधिकारी राजेंद्र गहलोत कहते हैं कि बीजेपी (BJP) की परंपरा के मुताबिक, प्रदेशाध्यक्ष का चुनाव भी सर्वसम्मति से कराने की ही कोशिश होगी. नए प्रदेशाध्यक्ष का चुनाव केंद्रीय पर्यवेक्षक नित्यानंद राय की मौजूदगी में होगा. 

राजस्थान बीजेपी (BJP) के संगठन चुनाव में प्रदेशाध्यक्ष के निर्वाचन की तारीख तय हो गई है. यह निर्वाचन प्रक्रिया 26 और 27 दिसंबर को तारीख को होगी. इन्हीं दो दिन में राष्ट्रीय परिषद के सदस्यों का भी चुनाव होगा. संगठन चुनाव का पूरा ज़िम्मा संभाल रहे प्रदेश निर्वाचन अधिकारी राजेंद्र गहलोत कहते हैं कि केन्द्रीय पर्यवेक्षक नित्यानंद राय और बैजयंत जय पंडा 26 दिसंबर को जयपुर आएंगे और उसके बाद ही नामांकन प्रक्रिया शुरू होगी. गहलोत ने बताया कि प्रदेशाध्यक्ष के चुनाव तक पहुंचने की प्रक्रिया में राष्ट्रीय परिषद के सदस्यों का चुनाव भी किया जाएगा. 

राजेंद्र गहलोत ने अब तक संगठन चुनाव का काम शांतिपूर्ण तरीके से कराया है लेकिन इसका दूसरा पहलू यह भी है कि सभी 44 संगठन ज़िलों में ज़िलाध्यक्षों का चुनाव नहीं हो सका है. यही हाल बीजेपी (BJP) के संगठन में मंडल स्तर पर संगठन का है. हालांकि राजेंद्र गहलोत कहते हैं कि प्रदेशाध्यक्ष के चुनाव से पहले कुछ ज़िलाध्यक्षों की नियुक्ति और कर दी जाएगी. 

सभी चुनाव सर्वसम्मति से हुए हैं
बीजेपी (BJP) में अब तक संगठन के चुनाव में मंडल और ज़िला स्तर पर एक भी वोट नहीं डाला गया. कहने का मतलब यह कि सभी चुनाव निर्विरोध हुए हैं और आगे भी पार्टी ऐसा ही चाहती है. राजेंद्र गहलोत कहते हैं कि उन्होंने उपलब्ध कार्यकर्ताओं में से बेहतर व्यक्ति को सामने से पद ऑफर करके चुनाव कराया है और सभी चुनाव सर्वसम्मति से हुए हैं. गहलोत कहते हैं कि प्रदेशाध्यक्ष का चुनाव भी निर्विरोध ही कराने की कोशिश होगी. गहलोत कहते हैं कि यही बीजेपी (BJP) के संगठन की कार्यप्रणाली है और ज्यादातर फैसले सर्वसम्मति से ही लिये जाते हैं. 

बीजेपी (BJP) प्रदेशाध्यक्ष का चुनाव कराने के लिए तैयार है और इसमें पार्टी के संविधान की पालना के अनुसार ही काम किया जा रहा है लेकिन इस चुनाव का दूसरा पहलू यह भी है कि प्रदेशाध्यक्ष के चुनाव के स्तर तक पहुंचने के बावजूद जयपुर में बैठकर चुनाव का संचालन करने वाले प्रदेश चुनाव अधिकारी जयपुर शहर में अभी तक एक भी मंडल में चुनाव नहीं करा पाए हैं.