पंजाब, हरियाणा के बाद अब दिल्ली में मिली गजेंद्र सिंह शेखावत को जिम्मेदारी, बढ़ता कद, क्या संदेश ?
topStories1rajasthan1454690

पंजाब, हरियाणा के बाद अब दिल्ली में मिली गजेंद्र सिंह शेखावत को जिम्मेदारी, बढ़ता कद, क्या संदेश ?

Gajendra Singh Shekhawat : राजस्थान में अगले साल विधानसभा चुनाव होने है. ऐसे में राजस्थान बीजेपी के नेताओं के लिए अगले एक साल तक परीक्षा की घड़ी है. इन सबके बीच गजेंद्र सिंह शेखावत गुजरात विधानसभा चुनाव और दिल्ली नगर निगम के चुनाव प्रचार में व्यस्त है.

पंजाब, हरियाणा के बाद अब दिल्ली में मिली गजेंद्र सिंह शेखावत को जिम्मेदारी, बढ़ता कद, क्या संदेश ?

Gajendra Singh Shekhawat : जोधपुर सांसद और केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत इन दिनों दिल्ली एमसीडी चुनाव प्रचार में व्यस्त है. इससे पहले वो गुजरात चुनाव प्रचार अभियान का हिस्सा भी बने है. तो वहीं हाल ही में संपन्न हुए राष्ट्रपति चुनाव में भी द्रोपदी मुर्मू के लिए कैंपेन संयोजक बने थे. इसी साल पंजाब में हुए विधानसभा चुनाव में पार्टी की तरफ से प्रभारी नियुक्त किया गया था. तो वहीं उससे पहले भी कई राज्यों में अलग अलग जिम्मेदारियां दे चुके है. ऐसे में कुछ राजनीतिक विश्लेषकों का मानना है कि गजेंद्र सिंह शेखावत का पार्टी में लगातार कद बढ़ रहा है. जिसका असर राजस्थान का राजनीति पर भी पड़ना तय है. 

गुजरात में चुनाव प्रचार

गजेंद्र सिंह शेखावत इस बार गुजरात चुनाव में भी करीब डेढ़ दर्जन सीटों पर चुनाव प्रचार कर चुके है. पोरबंदर, राजकोट, गांधीनगर, अहमदाबाद और बनासकांठा जिलों की डेढ दर्जन सीटों पर प्रचार किया. गुजरात के कई जिलों अहमदाबाद, बनासकांठा, मेहसाणा, आणंद, कच्छ, वड़ोदरा, सुरेन्द्रनगर, सूरत और राजकोट जिलों में बड़ी संख्या में राजस्थान के लोग रहते है. हालांकि शेखावत के अलावा भी गुजरात के 9 जिलों की 43 विधानसभा सीटों पर पार्टी ने राजस्थान से जुड़े कई नेताओं को जिम्मेदारी दी है. जिसमें राजस्थान बीजेपी के कई सीनियर नेता भी शामिल है तो वहीं जैसलमेर के पूर्व विधायक छोटू सिंह भाटी से लेकर नारायण सिंह देवल भी शामिल है. 

गुजरात के बाद दिल्ली में शेखावत

Gajendra singh shekhawat

शेखावत गुजरात की कई विधानसभा सीटों पर प्रचार करने के बाद दिल्ली में चुनाव प्रचार किया. दिल्ली नगर निगम के महरौली इलाके में रोडशो कर एमसीडी चुनाव में बीजेपी के लिए वोट मांगे. बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के साथ साथ 4 राज्यों हरियाणा, असम, हिमाचल और उत्तराखंड के मुख्यमंत्रियों के साथ गजेंद्र सिंह शेखावत को भी ये जिम्मेदारी दी है. 

गुजरात चुनाव में गजेंद्र सिंह शेखावत के अलावा सतीश पूनिया, किरोड़ीलाल मीणा, राज्यवर्धन सिंह राठौड़, कैलाश चौधरी समेत राजस्थान के 100 से ज्यादा नेता गुजरात के अलग अलग इलाकों में जिम्मा संभाल रहे है. लेकिन गजेंद्र सिंह शेखावत को पंजाव विधानसभा चुनाव प्रभारी, हरियाणा राज्यसभा चुनाव प्रभारी, राष्ट्रपति चुनाव में एनडीए प्रत्याशी के लिए चुनाव प्रचार संयोजक, फिर गुजरात चुनाव में प्रचार के लिए और दिल्ली एमसीडी में भी पार्टी के दिग्गजों के साथ जिम्मेदारी मिली है. शेखावत पर पार्टी नेतृत्व के भरोसे और लगातार दी जा रही जिम्मेदारियों के बाद सियासी विश्लेषक राजस्थान को लेकर भी अलग अलग मायने निकाल रहे है.

खबरें ये भी है..

हरीश चौधरी, हनुमान बेनीवाल और दिव्या मदेरणा, कौन बनेगा मारवाड़ में जाटों का किंग ?
राजस्थान में भारत जोड़ो यात्रा, जानिए राहुल गांधी के साथ कौन चलेगा, किसे मिलेगी एंट्री, क्या रहेगा रूट

Trending news