REET एग्जाम से पहले Satish Poonia का राज्य सरकार पर हमला, लगाया ठगी का आरोप

बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया ने बेरोजगारी दूर करने के लिए सरकार की नीयत पर सवाल उठाए हैं.

REET एग्जाम से पहले Satish Poonia का राज्य सरकार पर हमला, लगाया ठगी का आरोप
बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया ने बेरोजगारी दूर करने के लिए सरकार की नीयत पर सवाल उठाए हैं.

Jaipur: रीट भर्ती (REET Exam 2021) परीक्षा से ठीक पहले बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया (Satish Poonia) ने सरकार पर सवाल उठाते हुए बेरोजगारों से ठगी करने का आरोप लगाया है. पूनिया ने कहा कि सरकार के पास बेरोजगारी दूर करने का कोई ठोस रोड मैप ही नहीं है. बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि अगर मौजूदा सरकार ने सबसे ज्यादा किसी को ठगा है तो वह बेरोजगार और किसान ही हैं.

बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया ने बेरोजगारी दूर करने के लिए सरकार की नीयत पर सवाल उठाए हैं. पूनिया ने कहा कि रीट भर्ती परीक्षा में लाखों लोग बैठेंगे लेकिन सरकार इनमें से केवल 30000 की भर्ती करेगी. पूनिया ने सरकार को नसीहत देते हुए कहा कि बेरोजगारी दूर करने के लिए राज्य सरकार को ईमानदारी से रोड मैप तैयार करना चाहिए.

यह भी पढ़ें-नगर पालिका में रिश्वतखोरों को पकड़ने के लिए बड़ा कदम, EO के नाम पर की जा रही थी वसूली

सरकार पर बेरोजगारों के साथ खिलवाड़ करने के आरोप लगाने के साथ ही पूनिया ने पिछले दिनों भर्ती परीक्षाओं के पर्चे लीक होने पर भी गंभीर सवाल उठाए. उन्होंने कहा कि नकल को संगठित रूप दिया जा रहा है. इसके साथ ही पूनिया ने कहा कि भले ही सरकार गिरोह का भंडाफोड़ करने के नाम पर अपनी पीठ थपथपा सकती है, लेकिन इसके साथ ही यह सरकार का इकबाल खत्म होने का संकेत भी है. 

उन्होंने कहा कि सरकार के रुतबे से लोगों में डर नहीं बचा और यही कारण है कि नकल के लिए संगठित गिरोह बढ़ रहे हैं. उन्होंने संगठित नकल गिरोहों को राज्य पर ऐतिहासिक कलंक करार देते हुए कहा कि यह गिरोह बेरोजगारों और उनकी रोजी-रोटी पर सीधे तौर पर हमला करते हैं.

यह भी पढ़ें-भाजपा नेता अरुण चतुर्वेदी का बड़ा हमला, कहा- मंत्रिमंडल पुनर्गठन को टाल रहे हैं CM Gehlot

बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि आरपीएससी और अधीनस्थ सेवा चयन बोर्ड पर भी सवाल खड़े हो चुके हैं. पूनिया ने कहा कि भर्तियों में जो अनियमितता आ रही है, ऐसी गड़बड़ उन्होंने अपने जीवन में पहले कभी नहीं देखी. पूनिया ने विधानसभा में उठाया गया मुद्दा एक बार फिर से दोहराते हुए कहा कि सरकार बेरोजगारी दूर करने के लिए रोड मैप टू बनाए लेकिन साथ ही गड़बड़ को लेकर श्वेत पत्र भी जारी करना चाहिए.