close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जयपुर: ट्रैफिक व्यवस्था को सुधारने के लिए हुई बैठक, लिए गए अहम निर्णय

जेडीसी टी.रविकांत की अध्यक्षता में हुई इस बैठक में जयपुर मेट्रो, ट्रैफिक पुलिस, पुलिस कमिशनरेट, परिवहन विभाग के अधिकारी मौजूद थे.

जयपुर: ट्रैफिक व्यवस्था को सुधारने के लिए हुई बैठक, लिए गए अहम निर्णय
ई-रिक्शा के परिचालन के लिए रुट तय किए गए. (फाइल फोटो)

जयपुर: राजधानी जयपुर की लगातार बिगड़ रही ट्रैफिक व्यवस्था को लेकर ट्रैफिक कंट्रोल बोर्ड ही अहम बैठक शुक्रवार को हुई. इस बैठक का आयोजन जेडीए परिसर में हुआ. इस दौरान ट्रैफिक वयवस्था में सुधार की दिशा में कई अहम निर्णय लिए गये. जेडीसी टी.रविकांत की अध्यक्षता में हुई इस बैठक में जयपुर मेट्रो, ट्रैफिक पुलिस, पुलिस कमिशनरेट, परिवहन विभाग के अधिकारी मौजूद थे. इस दौरान मौजूद अधिकारियों के साथ राजधानी की ट्रैफिक व्यवस्था को सुधारने पर मंथन किया गया. 

बैठक में शहर की बिगड़ी ट्रैफिक व्यवस्था को सुधारने के लिए सेपरेट अरबन ट्रांसपोर्ट सेल बनाने का भी फैसला लिया गया. जेडीसी टी रविकांत के अनुसार यह कमेटी शहर की ट्रैफिक, पार्किंग इत्यादि समस्याओं के समाधान के लिए हमेशा काम करती रहेगी.

जेडीसी टी रविकांत के अनुसार ट्रैफिक कंट्रोल बोर्ड की इस बैठक का मुख्य उद्देश्य यही रहा कि किसी भी सूरत में राजधानी के ट्रैफिक को सुधारा जाए और आम लोगों की सुविधाएं बढ़ाई जाए.

सड़कों पर बनेगा फुटपाथ
बताया जा रहा है कि राजधानी की सड़कों पर फुटपाथ बनाने का काम होगा. जिससे सड़क पर पैदल चलने वाले लोगों को सहुलियत होगी. वर्तमान में शहर के फुटपाथों पर अवैध कब्जा बरकरार है. इसके साथ सड़क पार करने के लिए जेब्रा क्रांसिग को भी सही तरीके से रेखांकित किया जाएगा. साथ ही जेडीए की तकनीकी टीम शहर में फुटओवर ब्रिज की संभावनाएं तलाशेगी.

पार्किंग व्यवस्था में भी होगा सुधार 
इसके अलावा जयपुर शहर के बस स्टैंडों पर पार्किंग व्यवस्था में भी सुधार किया जाएगा. इसके अलावा पार्किंग स्टैंड नहीं होने पर बस का स्टॉपेज भी नहीं होगा. इसके अलावा शहर में स्थित बड़ी इमारतों में पार्किंग एरिये से कब्जा भी हटाया जाएगा. ऐसी इमारतों को टीम चिन्हित करेगी.

ई-रिक्शा के परिचालन के लिए तय हुआ रूट
बैठक के दौरान ई-रिक्शा के लाईसेंस मसले की समस्या को सुलझा लिया गया है. बताया जा रहा है कि सभी ई-रिक्शा के परिचालन के लिए रूट तय हुआ है. बताया जा रहा है कि ई-रिक्शा के रूट को आठ जोनो में बांटा जाएगा. इसके साथ ही ई-रिक्शा का लाइसेंस एक तय संख्या के आधार पर मिलेगा.