VIDEO: आरक्षण पर बहस में अठावले ने दिया ऐसा भाषण कि सत्‍ता पक्ष के साथ विपक्ष भी मुस्‍कुराया

इस गंभीर चर्चा के दौरान रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया (आ) के मुखिया और केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले का भाषण सबसे ज्‍यादा सुर्ख‍ियों में है. ये एकमात्र भाषण रहा, जिसने गंभीर माहौल में लोगों को हंसने और मुस्‍कराने का मौका दिया.

VIDEO: आरक्षण पर बहस में अठावले ने दिया ऐसा भाषण कि सत्‍ता पक्ष के साथ विपक्ष भी मुस्‍कुराया

नई दिल्‍ली : सामान्य वर्ग के आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लोगों को 10 प्रतिशत आरक्षण देने के कैबिनेट के फैसले पर मंगलवार को लोकसभा में बहस हुई. वोटिंग के बाद इसे लोकसभा में पास कर दिया. इससे पहले इसके पक्ष और विपक्ष में बहस हुई. भाजपा के साथ उसके सहयोगी दलों ने इसका समर्थन किया. ज्‍यादातर विपक्षी दलों ने भी इसका समर्थन किया, लेकिन कुछ सवाल भी उठाए. इस गंभीर चर्चा के दौरान रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया (आ) के मुखिया और केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले का भाषण सबसे ज्‍यादा सुर्ख‍ियों में है. ये एकमात्र भाषण रहा, जिसने गंभीर माहौल में लोगों को हंसने और मुस्‍कराने का मौका दिया.

केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने अपने भाषण को एक खास तुकबंदी में पेश करते हुए इस बिल का समर्थन किया. इसके साथ ही उन्‍होंने अपनी इस कविता से राफेल पर भी जवाब दिया और पीएम मोदी की तारीफ की. लेकिन उनका अंदाज ऐसा था कि सदन में हर कोई मुस्‍करा उठा.

आरपीआई के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्यमंत्री रामदास अठावले ने केंद्र सरकार द्वारा आर्थिक आधार पर सवर्णों को आरक्षण दिए जाने के निर्णय का स्वागत हुए कहा कि प्रधानमंत्री. नरेंद्र मोदी जी का यह क्रांतिकारी कदम है और इससे समाज में आपसी सद्भाव बढ़ेगा. उन्होंने यह भी कहा कि यह मांग वह पिछले 20 वर्षो से कर रहे थे और राजग की कई बैठकों में प्रधानमंत्री के समक्ष इस विषय को लगातार उठया था.

अठावले ने कहा कि सवर्ण समाज में भी आर्थिक रूप से बहुत लोग पिछड़े हुए है और वह समाज की मुख्यधारा से वंचित है, लेकिन केंद्र सरकार के इस निर्णय के बाद उनको राहत पहुँचेगी. उन्होंने यह भी कहा कि देश के विभिन्न प्रदेशों में अलग -अलग वर्गों के लोगों द्वारा आरक्षण दिए जाने को लेकर चल रहे आंदोलन में भी अब रोक लगेगी. उन्होंने कहा कि उन्हें प्रधानमंत्री.नरेंद्र मोदी पर पूरा विश्वास है और भारत रत्न बाबा साहब डॉ भीमराव अम्बेडकर द्वारा बनाए गए संविधान में संसद को अधिकार है कि विधेयक लाकर कानून को संशोधित कर नया कानून बना सकती है.

भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि मोदी सरकार ने निर्धन सवर्णों को भी नौकरी, शिक्षा में 10% आरक्षण देने का फैसला किया है। आर्थिक रूप से कमजोर सवर्णो को भी आरक्षण के दायरे में लाने का ये फैसला मील का पत्थर साबित होगा. उन्होंने कहा कि नए साल का इससे बेहतर कोई और उपहार नहीं हो सकता.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.