Breaking News
  • दिल्‍ली हिंसा पर कांग्रेस ने राष्‍ट्रपति को ज्ञापन सौंपा
  • सोनिया गांधी, मनमोहन सिंह समेत कई नेता राष्‍ट्रपति से मिले
  • अखिलेश यादव सीतापुर के लिए निकले. जेल में बंद सपा नेता आजम खां व उनके परिवार से करेंगे मुलाकात

गोडसे संबंधी टिप्पणी के लिए BJP के तीन नेताओं को कारण बताओ नोटिस, उपयुक्त कार्रवाई होगी : शाह

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि इन नेताओं के खिलाफ ‘‘उपयुक्त कार्रवाई’’ की जाएगी . 

गोडसे संबंधी टिप्पणी के लिए BJP के तीन नेताओं को कारण बताओ नोटिस, उपयुक्त कार्रवाई होगी : शाह
पीएम नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने शुक्रवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित किया. (फोटो साभार - PTI)

नई दिल्ली: बीजेपी ने भोपाल से लोकसभा उम्मीदवार साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर समेत तीन पार्टी नेताओं को महात्मा गांधी की हत्या करने वाले नाथूराम गोडसे संबंधी टिप्पणी के लिये कारण बताओ नोटिस जारी किया . बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने शुक्रवार को कहा कि इन नेताओं के खिलाफ ‘‘उपयुक्त कार्रवाई’’ की जाएगी . 

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के बगल में बैठे अमित शाह ने पार्टी मुख्यालय में आयोजित प्रेस वार्ता में संवाददाताओं से कहा कि पूरी बीजेपी ‘इनकी टिप्पणी के लिये खेद प्रकट करती है .’ 

उन्होंने कहा कि पार्टी की अनुशासन समिति ने उन्हें नोटिस जारी किया है और उन्हें जवाब देने के लिए 10 दिनों का समय दिया गया है .  शाह ने कहा, ‘इसके बाद हम तत्काल उपयुक्त कदम के बारे में निर्णय करेंगे .’

पीएम मोदी ने की प्रज्ञा ठाकुर की आलोचना
भोपाल लोकसभा सीट से बीजेपी प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर के गोडसे संबंधी अपनी टिप्पणी पर माफी मांगने के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को खरगोन में कहा कि ‘प्रज्ञा ने माफी मांग ली है, लेकिन मैं अपने मन से उन्हें माफ नहीं कर पाऊंगा.’ 

खरगोन में मोदी ने एक चैनल को दिए इंटरव्यू में कहा, ‘गांधी के बारे में या गोडसे पर जो भी बातें की गई. इस प्रकार जो भी बयान दिए गए हैं, ये बहुत ही खराब हैं, खास प्रकार से घृणा के लायक हैं, आलोचना के लायक हैं.’

उन्होंने कहा,‘सभ्य समाज के अंदर इस प्रकार की भाषा नहीं चलती. इस प्रकार की सोच नहीं चल सकती. इसलिए ऐसा करने वालों को सौ बार आगे सोचना पड़ेगा.’ पीएम मोदी ने कहा, ‘‘दूसरा उन्होंने (प्रज्ञा) माफी मांग ली, अलग बात है. लेकिन मैं अपने मन से माफ नहीं कर पाऊंगा.’

इससे पहले बीजेपी अध्यक्ष ने सुबह अपने ट्वीट में कहा, ‘इन लोगों ने अपने बयान वापिस लिए हैं और माफ़ी भी मांगी है. फिर भी सार्वजनिक जीवन तथा भारतीय जनता पार्टी की गरिमा और विचारधारा के विपरीत इन बयानों को पार्टी ने गंभीरता से लेकर तीनों बयानों को अनुशासन समिति को भेजने का निर्णय किया है.’

साध्वी प्रज्ञा ने दिया था विवादित बयान
गौरतलब है कि भोपाल लोकसभा सीट से बीजेपी उम्मीदवार साध्वी प्रज्ञा ने कुछ दिन पहले एक सवाल के जवाब में कहा था कि महात्मा गांधी के हत्यारे गोडसे देशभक्त थे और जो लोग उन्हें आतंकवादी कहते हैं, वे अपने गिरेबां में झांककर देखें.

हालांकि उनके बयान से बीजेपी ने पल्ला झाड़ लिया था और विवाद बढ़ता देख प्रज्ञा ठाकुर ने अपने बयान पर माफी मांग ली थी. उन्होंने कहा थ, ‘यह मेरी निजी राय थी. मेरा इरादा किसी की भावनाएं भड़काने का नहीं था. अगर मैंने किसी को आहत किया हो तो उसके लिए माफी मांगती हूं. मेरे बयान को मीडिया ने तोड़ा-मरोड़ा.’

केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार हेगड़े और पार्टी सांसद नलिनकुमार कतील भी शुक्रवार को नाथूराम गोडसे विवाद में उतर आए और महात्मा गांधी के हत्यारे के बारे में ट्वीट किए जिसने बीजेपी को असहज स्थिति में डाल दिया.