स्मृति ईरानी का ममता बनर्जी पर निशाना, 'सीएम ने ही बनाया पश्चिम बंगाल में अराजक माहौल'

सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि हमने कभी भी राजीव कुमार से पूछताछ करने से इनकार नहीं किया. 

स्मृति ईरानी का ममता बनर्जी पर निशाना, 'सीएम ने ही बनाया पश्चिम बंगाल में अराजक माहौल'
स्मृति ईरानी ने कहा कि ममता बनर्जी के ही निर्देश पर सीबीआई अधिकारियों के परिवार को भी परेशान किया गया.

नई दिल्ली: केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने मंगलवार को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata banerjee) पर निशाना साधा. ईरानी ने कहा कि ममता बनर्जी ने पश्चिम बंगाल में अराजकता की स्थिति पैदा कर दी है. उन्होंने कहा कि अराजकतावादी सीएम ममता ने सीबीआई के अधिकारियों द्वारा सबूत इकट्ठा करने की प्रक्रिया में हस्तक्षेप किया. ममता के निर्देशों पर ही सीबीआई के अधिकारियों को तंग किया, उनको बंधक बनाया और उनके साथ धक्का-मुक्की की.      

स्मृति ईरानी ने कहा कि ममता बनर्जी के ही निर्देश पर सीबीआई अधिकारियों के परिवार को परेशान किया गया और उनके घरों को घेर लिया. आपको बता दें कि पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार को लेकर सीबीआई से टकराव ले रहीं पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamta banerjee) ने इस मसले पर सुप्रीम कोर्ट से आए फैसले को मनोवैज्ञानिक जीत बताई हैं. सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार को CBI के सामने सारदा स्कैम मामले में पूछताछ के लिए पेश होने को कहा है. हालांकि, कोर्ट ने राजीव कुमार की गिरफ्तारी पर रोक लगा दी है.

 

कोर्ट का फैसला आने के बाद पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि हमने कभी भी राजीव कुमार से पूछताछ करने से इनकार नहीं किया. हमें इस बात पर आपत्ति थी की सीबीआई बिना राज्य प्रशासन को सूचना दिए हुए पुलिस कमिश्नर को गिरफ्तार करने पहुंच गई थी. ममता ने कहा सुप्रीम कोर्ट का आदेश सही है. इस फैसले से लोकतंत्र की जीत हुई है. ये जीत देश के सुरक्षाबलों और आम जनता की है. आज देश के हर तबके को तंग किया जा रहा है. कोर्ट ने इसपर रोक लगाने का काम किया है.
 
ममता ने कहा कि केंद्र की एजेंसियों को बिना राज्य सरकार से बातचीत या सुझाव लिये सीधे राज्य में नहीं आना चाहिए. राजीव कुमार ने पहले ही पांच पत्र लिखकर कहा था कि किसी म्युचुअल जगह पर पूछताछ करो. लोगों के अलवा इस देश का कोई बिग बॉस नहीं है, लोकतंत्र ही सबसे बड़ा बॉस है.