कुछ देर पहले ही हिमाचल प्रदेश में आया भूकंप, रिक्‍टर पैमाने पर इतनी मापी गई तीव्रता

हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा घाटी में 1905 में विनाशकारी भूकंप आया था, जिसमें 20,000 से अधिक लोग मारे गए थे.

कुछ देर पहले ही हिमाचल प्रदेश में आया भूकंप, रिक्‍टर पैमाने पर इतनी मापी गई तीव्रता
फाइल फोटो...

शिमला : हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के कांगड़ा जिले में मंगलवार को हल्की तीव्रता का भूकंप (Earthquake) आया, जिससे जान-माल का कोई नुकसान नहीं हुआ है. मौसम विज्ञान विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि भूकंप सुबह 10.51 बजे आया, जिसकी तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 3 मापी गई. हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा घाटी में 1905 में विनाशकारी भूकंप आया था, जिसमें 20,000 से अधिक लोग मारे गए थे.

इससे पहले बीते माह दिल्‍ली और एनसीआर में भी कई सेकेंड तक भूकंप के हल्‍के झटके महसूस किए गए थे. वहीं, राजधानी के अलावा कश्‍मीर और नेपाल से सटे इलाकों में भी भूकंप के झटके महसूस किए गए थे. भूकंप के झटकों के बाद लोगों में दहशत फैल गई थे. 

इस भूकंप का केंद्र नेपाल बताया गया और भूकंप की तीव्रता 5.1 बताई गई. देश के पाक और नेपाल सीमाओं से सटे इलाकों में यह भूकंप ज्यादा देर तक महसूस किया गया. वहीं दिल्ली एनसीआर में हल्के झटके ही महसूस हुए.

भूकंप के दौरान इन चीजों को करने से बचे
- भूकंप के दौरान आपको लिफ्ट का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए.
- बाहर जाने के लिए लिफ्ट की बजाय सीढ़ियों का इस्तेमाल करें.
- कहीं फंस गए हों तो दौड़ें नहीं. इससे भूकंप का ज्यादा असर होगा.
-अगर आप गाड़ी या कोई भी वाहन चला रहे हो तो उसे फौरन रोक दें.
- वाहन चला रहे हैं तो बिल्डिंग, होर्डिंग्स, खंभों, फ्लाईओवर, पुल से दूर सड़क के किनारे गाड़ी रोक लें.
-भूकंप आने पर तुरंत सुरक्षित और खुले मैदान में जाएं. बड़ी इमारतों, पेड़ों, बिजली के खंभों से दूर रहें.
- भूकंप आने पर खिड़की, अलमारी, पंखे, ऊपर रखे भारी सामान से दूर हट जाएं ताकि इनके गिरने से चोट न लगे.