LIVE, गुजरात राज्यसभा उपचुनावः दो सीटों के लिए मतदान जारी, शाम 4 बजे तक होगी वोटिंग
trendingNow1548601

LIVE, गुजरात राज्यसभा उपचुनावः दो सीटों के लिए मतदान जारी, शाम 4 बजे तक होगी वोटिंग

हर एक वोटर को दोनों सीटों के लिए वोटिंग की जगह पर अलग अलग वोटिंग करनी होगी. पसंदीदा उम्‍मीदवार का अंक उम्‍मीदवार के नाम के आगे 1 लिखना होगा.

LIVE, गुजरात राज्यसभा उपचुनावः दो सीटों के लिए मतदान जारी, शाम 4 बजे तक होगी वोटिंग

गांधीनगरः गुजरात में आज राज्यसभा की 2 सीटों के लिए हो रहे उपचुनाव के लिए वोटिंग जारी है. गृह मंत्री अमित शाह और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के लोकसभा चुनाव में जीतने के बाद यहां दो सीटें रिक्त हुई थी. कांग्रेस ने राज्यसभा उपचुनाव के लिए अभी सभी विधायकों को एक दिन के शिविर के लिए बनासकांठा के बलराम पैलेस रिसॉर्ट में रखा था. राज्यसभा चुनाव के लिए शुक्रवार सुबह 9 से जारी है, शाम 4 बजे तक वोटिंग होगी. गुजरात विधानसभा की चौथी मंजिल पर वोटिंग हो रही है. दोनों सीटों के लिए विधायकों को अलग-अलग वोटिंग करनी है.

वोटर को अपने पसंदीदा उम्‍मीदवार के नाम के आगे 1 लिखना होगा. इसके लिए चुनाव अधिकारी द्वारा दी गई कलम का उपयोग करना होगा. बीजेपी के राज्यसभा सदस्य अमित शाह की खाली सीट का मतपत्र सफ़ेद रंग का रखा गया है. स्मृति ईरानी लोकसभा में चुने जाने के बाद से उनकी गुजरात की राज्यसभा सीट खाली है. इस सीट के लिए गुलाबी रंग का मत पत्र रखा गया है.

LIVE अपडेट

- शाम चार बजे तक होने वाली वोटिंग के लिए विधायक लगातार पहुंच रहे हैं.

- शाम 4 बजे तक वोटिंग के बाद मतो की काउंटिंग होगी

- बीजेपी के पॉलिंग एजेंट के रूप में प्रदीप सिंह जडेजा मौजूद

- कांग्रेस के पॉलिंग एजेंट बने अश्विनी कोटवाल

- गुजरात राज्यसभा की दो सीटों के लिए सुबह 9 बजे से मतदान आरम्भ हुआ, 4 बजे तक चलेगा मतदान

- कांग्रेस के सभी विधायक आज सुबह बनासकांठा के रिसॉर्ट से गांधीनगर के लिए निकल गए हैं. 

बीजेपी ने विदेश मंत्री एस जयशंकर और जुगलजी ठाकोर को प्रत्याशी बनाया है. वहीं कांग्रेस ने चंद्रिया चूड़ासमा और गौरव पांड्या को प्रत्याशी बनाया है

राज्यसभा चुनावः 4 उम्मीदवारों में जयशंकर सबसे अधिक शिक्षित, ठाकोर सबसे अमीर
गुजरात से राज्यसभा चुनाव के लिए चार उम्मीदवारों द्वारा दायर हलफनामों से पता चलता है कि बीजेपी उम्मीदवार एवं विदेश मंत्री एस जयशंकर उनमें से सबसे शिक्षित हैं. बीजेपी के दूसरे उम्मीदवार जुगलजी ठाकोर सबसे अमीर हैं जिनकी कुल सम्पत्ति 101 करोड़ रुपये से अधिक की है. कांग्रेस उम्मीदवार चंद्रिका चूडास्मा ने घोषणा की है कि उनकी सम्पत्ति करीब 2.56 करोड़ रुपये की है जो कि चारों उम्मीदवारों में सबसे कम है.

fallback

कांग्रेस के दूसरे उम्मीदवार गौरव पंड्या ने घोषणा की है कि उनके पास एक रिवॉल्वर है और वह भारतीय दंड संहिता की धारा 144 और 188 के तहत आरोपों का सामना कर रहे हैं. दोनों दलों ने गुजरात से राज्यसभा की दो सीटों के लिए एक..एक उम्मीदवार घोषित किये हैं. सभी ने अपने नामांकन पत्र मंगलवार को दाखिल कर दिये.

हलफनामे के अनुसार, 64 वर्षीय जयशंकर, उनकी पत्नी और उनके एक आश्रित के पास 15.82 करोड़ रुपये की चल एवं अचल सम्पत्ति है. पूर्व विदेश सचिव जयशंकर ने जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय से एमए, एफ.फिल और पीएचडी की डिग्री हासिल की है.

जुगलजी ठाकोर (49) की 101.48 करोड़ रुपये की सम्पत्ति में उनके पुत्र की एक दुकाती मोटरसाइकिल, जमीन और एक फार्महाउस शामिल है. उन्होंने 12वीं 1991 में किया. उन्होंने बीबीए 2015 में किया. कांग्रेस उम्मीदवार चंद्रिका चूडास्मा (67) एक कुशल आयुर्वेद चिकित्सक हैं और उनकी सम्पत्ति 2.56 करोड़ रुपये की है. कांग्रेस के दूसरे उम्मीदवार गौरव पंड्या (59) वकील हैं और उनकी सम्पत्ति 19.25 करोड़ रुपये है. उसमें 1.25 लाख रुपये की रिवाल्वर शामिल है. चुनाव पांच जुलाई को होगा.

सुप्रीम कोर्ट से गुजरात कांग्रेस को बड़ा झटका, राज्यसभा चुनाव में दखल देने से किया इनकार
बता दें कि 25 जून को गुजरात कांग्रेस को राज्यसभा चुनाव को लेकर सुप्रीम कोर्ट से बड़ा झटका लगा था. सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग के नोटिफिकेशन में दखल देने से इनकार किया था. सुप्रीम कोर्ट ने याचिका को खारिज करते हुए कहा था कि नोटिफिकेशन आने के बाद केवल इलेक्शन कमिशन में ही इसको चुनौती दी जा सकती है. इससे पहले राज्यसभा चुनाव को लेकर कांग्रेस की याचिका पर चुनाव आयोग ने जवाब दाखिल किया था. चुनाव आयोग ने दो सीटों पर अलग- अलग चुनाव कराने के अपने फैसले को सही ठहराया. 

गौरतलब है कि कांग्रेस ने हलफनामे में कहा गया था कि अमित शाह और स्मृति ईरानी द्वारा खाली की गई सीटों पर अलग- अलग चुनाव कराना कानून के मुताबिक है. चुनाव आयोग 57 सालों से दिल्ली हाईकोर्ट और बॉम्बे हाईकोर्ट के फैसलों के मुताबिक ये चुनाव कराता आया है. अब 5 जुलाई को गुजरात की दोनों सीटों पर अलग- अलग चुनाव होंगे. इससे पहले कोर्ट ने 19 जून को चुनाव आयोग को नोटिस जारी किया था.

fallback

चुनाव आयोग ने सुप्रीम कोर्ट में दायर जवाब में कहा था कि 1957 से आयोग राज्य सभा की दो अलग अलग सीटों पर अलग अलग चुनाव करवाता आया है और दिल्ली हाई कोर्ट व बॉम्बे हाईकोर्ट ने भी पिछले सालों में फ़ैसले दिए हैं जिनमें अलग अलग सीटों पर अलग अलग चुनाव कराना सही बताया था.

गुजरात कांग्रेस के नेता विपक्ष परेशभाई धनानी ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल कर 2 सीटों के लिए जारी चुनाव आयोग की अधिसूचना को चुनौती दी थी. उनकी ओर से अमित शाह और स्मृति ईरानी की खाली सीटों पर एक साथ चुनाव कराने की मांग की गई थी. याचिका में कहा गया था कि एक ही दिन दोनों सीटों पर अलग-अलग चुनाव कराना असंवैधानिक और संविधान की भावना के खिलाफ है. गुजरात से राज्यसभा में खाली हुई दो सीटों पर भी 5 जुलाई को चुनाव होंगे. दरसअल, चुनाव आयोग की अधिसूचना की मुताबिक अमित शाह को लोकसभा चुनाव जीतने का प्रमाण-पत्र 23 मई को ही मिल गया था, जबकि स्मृति ईरानी को 24 मई को मिला. इससे दोनों के चुनाव में एक दिन का अंतर हो गया. 

इसी आधार पर आयोग ने राज्य की दोनों सीटों को अलग-अलग माना है, लेकिन चुनाव एक ही दिन होंगे. ऐसा होने से अब दोनों सीटों पर बीजेपी को जीत मिल जाएगी. एक साथ चुनाव होते तो कांग्रेस को एक सीट मिल जाती. संख्या बल के हिसाब से गुजरात में राज्यसभा का चुनाव जीतने के लिए उम्मीदवार को 61 वोट चाहिए. एक ही बैलट पर चुनाव से उम्मीदवार एक ही वोट डाल पाएगा. इस स्थिति में कांग्रेस एक सीट आसानी से निकाल लेती, क्योंकि उसके पास 71 विधायक हैं.

लेकिन चुनाव आयोग के नोटिफिकेशन के मुताबिक, विधायक अलग-अलग वोट करेंगे. ऐसे में उन्हें दो बार वोट करने का मौका मिलेगा. इस तरह बीजेपी के विधायक जिनकी संख्या 100 से ज्यादा है वे दो बार वोट करके दोनों उम्मीदवारों को जितवा सकते हैं.

Trending news