close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

सीमा लांघ रही है कांग्रेस, मैं सीएम पद छोड़ने को तैयार : कर्नाटक CM कुमारस्‍वामी

कुमारस्‍वामी ने कहा कि कांग्रेस को इन नेताओं पर कंट्रोल करना चाहिए. अगर वे इस तरह से ही ऐसी बातें जारी रखते हैं तो मैं मुख्‍यमंत्री पद से पीछे हटने को तैयार हूं.

सीमा लांघ रही है कांग्रेस, मैं सीएम पद छोड़ने को तैयार : कर्नाटक CM कुमारस्‍वामी
कांग्रेस पर भड़के कर्नाटक सीएम कुमारस्‍वामी. फोटो ANI

नई दिल्‍ली : कर्नाटक के मुख्‍यमंत्री एचडी कुमारस्‍वामी सोमवार को एक बार फिर कांग्रेस पर भड़के. मीडिया के इस सवाल पर कि कांग्रेस विधायक सिद्धरमैया को अपना मुख्‍यमंत्री मानते हैं? कुमारस्‍वामी ने भड़कते हुए जवाब दिया कि कांग्रेस अब नेता अपनी सीमा लांघ रहे हैं. कांग्रेस को इन नेताओं पर कंट्रोल करना चाहिए. अगर वे इस तरह से ही ऐसी बातें जारी रखते हैं तो मैं मुख्‍यमंत्री पद से पीछे हटने को तैयार हूं. उन्‍होंने आगे कहा कि कांग्रेस को इन मुद्दों पर नजर रखनी चाहिए, मैं इनके लिए जिम्‍मेवार व्‍यक्ति नहीं हूं.

 

कर्नाटक के उप मुख्‍यमंत्री जी परमेश्‍वरा ने कहा है कि सिद्धरमैया सबसे अच्छे मुख्‍यमंत्री रहे हैं. वह हमारे नेता हैं. कांग्रेस विधायकों के लिए सिद्धरमैया ही मुख्‍यमंत्री हैं. हम उनके साथ खुश हैं.


कर्नाटक के उप मुख्‍यमंत्री जी परमेश्‍वरा. फोटो ANI

बता दें कि 25 जनवरी को ही कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने दावा किया था कि जद(एस)-कांग्रेस गठबंधन सरकार को गिराने के लिए विपक्षी बीजेपी अपना ऑपरेशन लोटस जारी रखे हुए है और उसने ‘उपहार’ के माध्यम से कांग्रेस विधायक को अपने पाले में लाने का प्रयास किया है. वहीं बीजेपी ने इस आरोप को खारिज कर दिया था.


कर्नाटक के पूर्व सीएम सिद्धरमैया. फाइल फोटो

कथित रूप से की गई इस पेशकश के पीछे बीजेपी और पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष बीएस येदियुरप्पा के होने का आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा था कि विधायक ने उन्हें बताया है कि उन्होंने उपहार ठुकरा दिया. दूसरी ओर इस दावे को बकवास करार देते हुए येदियुरप्पा ने पलटवार किया था कि कुमारस्वामी ने एक बीजेपी विधायक को लालच देने की कोशिश की. कुमारस्वामी ने कहा, ‘‘ऑपरेशन लोटस जारी है. उन्होंने (बीजेपी वालों ने) एक कांग्रेस विधायक को फोन कर उनसे पूछा कि कहां उपहार भेजना है.’’