close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

PM मोदी ने कहा- 'दक्षिण भारत के साथ पूरे देश में BJP की होगी जीत'

PM मोदी ने ‘मेरा बूथ, सबसे मजबूत’ अभियान के तहत नमो एप के जरिये देशभर में करीब 15 हजार स्थानों पर पार्टी कार्यकर्ताओं से संवाद किया.

PM मोदी ने कहा- 'दक्षिण भारत के साथ पूरे देश में BJP की होगी जीत'
PM ने मोदी एप के जरिए 15 हजार स्थानों पर संवाद किया. (फोटो साभार: ANI)

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बृहस्पतिवार को कहा कि आने वाला चुनाव लोकतांत्रिक तरीके से काम करने वाली BJP और वंशवाद के आधार पर काम करने वाले कांग्रेस समेत अन्य दलों की संस्कृतियों के बीच है और उन्हें दक्षिण भारत समेत देश में जीत का भरोसा है . 

‘मेरा बूथ, सबसे मजबूत’ अभियान के तहत नमो एप के जरिये देशभर में करीब 15 हजार स्थानों पर पार्टी कार्यकर्ताओं से संवाद करते हुए मोदी ने कहा, ‘‘ आने वाला चुनाव दो राजनीतिक संस्कृतियों के बीच का है. एक संस्कृति बीजेपी की है, जहां हर काम लोकतांत्रिक तरीके से होता है. दूसरी संस्कृति कांग्रेस समेत अन्य दलों की है, जहां हर काम वंशवाद के आधार पर तय होता है . ’’ 

भारत के चुनाव पर होगी पूरी दुनिया की नजर

प्रधानमंत्री ने कहा कि आने वाले दो महीने में पूरी विश्व की नजर भारत के लोकतांत्रिक चुनाव पर होगी. उन्होंने कहा कि हमें अपनी कोशिशों को विस्तार देना होगा क्योंकि परीक्षा की घड़ी नजदीक आने पर परिश्रम बनाये रखना होता है . 

प्रधानमंत्री ने कहा कि कर्नाटक में गठबंधन सरकार लोगों की आकांक्षाओं पर खरा उतरने में विफल रही . कर्नाटक में कांग्रेस..जदएस गठबंधन जनादेश के अनुरूप काम नहीं कर रहा है, उनके बीच विभागों के बंटवारे को लेकर टकराव चलते हैं. उन्होंने कहा कि ऐसे में कर्नाटक में हम अच्छा प्रदर्शन करने के लिये आश्वस्त हैं जहां पार्टी का मजबूत संगठन है . 

PM को भरोसा तमिलनाडु में BJP रचेगा इतिहास

मोदी ने कहा कि तमिलनाडु में पार्टी का संगठन मजबूत बना है और वहां राजग का भी सशक्त गठबंधन तैयार किया गया है. उन्होंने दावा किया कि इस बार तमिलनाडु में हमें इतिहास में सबसे बड़ी सफलता मिलेगी. केरल में लोग कांग्रेस नीत यूडीएफ और वामदलों के एलडीएफ गठबंधन की सरकारों से तंग आ चुके हैं . आंध्रप्रदेश के लोगों के बीच कांग्रेस और तेदेपा के खिलाफ गुस्सा है. मोदी ने कहा, ‘‘ इसलिये दक्षिण भारत में हम बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद करते हैं . ’’ 

उन्होंने कहा, ‘‘ मैं स्पष्ट कहता हूं कि 2014 का चुनाव देश की आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए मिला जनमत था और 2019 का चुनाव भारत की आकांक्षाओं को पूरा करने के लिए मिलने वाला जनमत होगा .’’ 

विपक्षी गठबंधन पर भी निशाना साधा

विपक्षी गठबंधन पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि ये मिलावट सरकार बनाने के लिए नहीं बल्कि कांग्रेस को जीवित रखने के लिए हो रही है. उन्होंने कहा कि लोकतंत्र का मूलमंत्र है सत्ता और विपक्ष के बीच स्वस्थ प्रतिस्पर्धा. इसका पहला पाठ हम अपनी पार्टी के भीतर ही सीखते हैं. ऐसे में सभी बूथ कार्यकर्ताओं के बीच भी एक स्वस्थ प्रतिस्पर्धा होनी चाहिए . 

मध्यम वर्ग देश की रीढ़

मोदी ने पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा कि मध्यम वर्ग को भड़काने और उकसाने की विपक्ष की पुरानी आदत रही है. लेकिन आपने देखा होगा कि नोटबंदी के बाद उत्तर प्रदेश में चुनाव हुए वहां मध्यम वर्ग ने हमे अपार समर्थन दिया और ऐसे ही जीएसटी के बाद गुजरात में चुनाव हुए वहां व्यापारियों ने हमे अपना पूरा समर्थन दिया.उन्होंने कहा कि मध्यम वर्ग देश की अर्थव्यवस्था में बड़ी भूमिका निभाता है. सही मायने में यह देश की रीढ़ है.

उन्होंने कहा कि मध्यम वर्ग देश के लिए बहुत कुछ करता है, बदले में उसे बहुत कुछ नहीं चाहिए, लेकिन इसके बाद भी वो दशकों तक उपेक्षित रहा, हमारी सरकार ने ऐसे कदम उठाए हैं, जिससे मध्यम वर्ग को राहत मिले . 

नकारात्मकता की राजनीति कर रहा है विपक्ष

प्रधानमंत्री ने कहा कि विपक्ष आपको नकारात्मकता की दिशा में बहकाने की कोशिश करेगा लेकिन आप उनके इस बहकावे में न आएं. उन्होंने कहा कि भाजपा कार्यकर्ताओं से उनकी अपील है कि सोशल मीडिया पर 3 चीजों पर ध्यान दें - सकारात्मकता, ईमानदारी और सटीकता. कुम्भ के बारे में एक पार्टी कार्यकर्ता के सवाल के जवाब में मोदी ने कहा कि इस बार कुम्भ की स्वच्छता को लेकर पूरी दुनिया में चर्चा हो रही है.

उन्होंने कहा, ‘‘ जब मैं वहां गया तो मेरा मन हुआ कि जिन सफाई कामगारों ने कुम्भ को ऐतिहासिक बना दिया, मैं भी उनके पैर धोकर सम्मान करूं, इसलिए मैंने ऐसा किया और ये हमारे संस्कार है .’’ मोदी ने कहा कि जब मन में इच्छा शक्ति हो, दृढ़ संकल्प हो, कुछ कर गुजरने का जज्बा हो, तो कुछ भी नामुमकिन नहीं है.

जनसहभागिता को मिली प्राथमिकता

सरकार की जन कल्याणकारी योजनाओं का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि जब सरकार के लिए जन-जन का महत्त्व हो, जन सहभागिता को प्राथमिकता मिलती हो, तो कुछ भी नामुमकिन नहीं है .

एक अन्य सवाल के जवाब में मोदी ने कहा, ‘‘ मैं कभी नहीं चाहता कि मेरी कोई निजी विरासत हो. इस देश के गरीब से गरीब व्यक्ति के घर में विकास का जो दीपक जला है, यही मेरी विरासत है .’’ 

प्रधानमंत्री ने पार्टी कार्यकर्ताओं से सरकार की कल्याण योजनाओं के लाभार्थियों से मिलने और नमो एप का उपयोग करने का सुझाव दिया .

(इनपुट भाषा से)