पुणे में सीनि‍यर साथी के मानसिक उत्पीड़न से तंग सॉफ्टवेयर इंजीनियर ने की आत्‍महत्‍या

घरवालों का कहना है कि कंपनी के उसके वरिष्ठ अधिकारी उसे मानसिक रूप से परेशान करते थे. तनाव के चलते बालेवाड़ी इलाके में उसने अपने घर में फंदा लगाकर बुधवार (10 अप्रैल) रात को खुदकुशी कर ली.

पुणे में सीनि‍यर साथी के मानसिक उत्पीड़न से तंग सॉफ्टवेयर इंजीनियर ने की आत्‍महत्‍या
चेतन जायले.

अरुण म्हेत्रे, पुणे: महाराष्‍ट्र के पुणे में सीनियर द्वारा किए गए मानसिक उत्पीड़न से परेशान सॉफ्टवेयर इंजीनियर छात्र ने आत्‍महत्‍या की है. सॉफ्टवेयर इंजीनियर छात्र ने अपने सुसाइड नोट में सीनियर्स द्वारा परेशान करने के कारण मानसिक तनाव में होने की बात लिखी है. चेतन जायले (उम्र 26) नाम का यह इंजीनियर एक निजी आइटी कंपनी में काम करता था. घरवालों का कहना है कि कंपनी के उसके वरिष्ठ अधिकारी उसे मानसिक रूप से परेशान करते थे. तनाव के चलते बालेवाड़ी इलाके में उसने अपने घर में फंदा लगाकर बुधवार (10 अप्रैल) रात को खुदकुशी कर ली.

चेतन ने लिखा है, कंपनी के सीनियर उसे मानसिक रूप से लगातार परेशान कर रहे थे. उसे परेशान करने वाले सीनियर के नाम उसने सुसाईड नोट मे लिखे है. उस आधार पर पुलि‍स ने उनके खिलाफ एफआइआर दर्ज की है.

पुलिस अधिकारी डीएस शिंदे का कहना है कि चेतन जायले पुणे की एक निजी आइटी कंपनी में पिछले साढ़े चार साल से काम करता था. पिछले 6 महीने से उसकी टीम में बदलाव हुआ. इस टीम में रवि आचला ब्रिटेन से टीम का काम देख रहे थे. हेमंत खडके पुणे से टीम को लीड करते हैं.

10 अप्रैल को चेतन जायले ने पुणे की बालेवाडी फाटा हाऊसिंग सोसायटीके अपने घर में गले में फंदा डालकर सुसाईड कर लिया. उस समय लिखे सुसाइड नोट मे कंपनी के वरिष्ठ अधिकारी रवि आचला और हेमंत खडके का नाम लिखा गया है. उत्पीडन से परेशान होकर सुसाईड करने की बात सुसाईड नोट मे लिखी है.