close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

RSS प्रमुख मोहन भागवत ने लोगों का हवाला देते हुए कहा, 'मोदी है तो मुमकिन है'

मोहन भागवत ने कहा कि इस स्वतंत्रता दिवस का विशेष महत्व है, पहले स्वतंत्र दिवस पर विजय का उल्लास था. पहले स्वतंत्र दिवस पर जीत का प्रभाव दिखा. 73वें स्वतंत्र दिवस पर विशेष खुशी है.

RSS प्रमुख मोहन भागवत ने लोगों का हवाला देते हुए कहा, 'मोदी है तो मुमकिन है'
फाइल फोटो

नागपुरः 73वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर सरसंघचालक डॉ मोहन भागवत ने रेशीमबाग स्थित डॉ हेडगेवार स्मृति मंदिर परिसर में राष्ट्रध्वज फहराया. झंडा वंदन के बाद आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने प्रधानमंत्री की प्रशंसा करते हुए कहा, 'लोग कहते हैं कि प्रधानमंत्री मोदी है तो मुमकिन है, ठीक है, गलत बात नहीं है. आखिर इच्छा करने वाले की इच्छाशक्ति का भी सवाल होता है. जिसके हाथ में देश की धूरी है उसकी इच्छाशक्ति यह बनी रहे, इसके लिए आवश्यक बात है. मोहन भागवत ने कहा कि इस स्वतंत्रता दिवस का विशेष महत्व है, पहले स्वतंत्र दिवस पर विजय का उल्लास था. पहले स्वतंत्र दिवस पर जीत का प्रभाव दिखा. 73वें स्वतंत्र दिवस पर विशेष खुशी है.

आरएसएस प्रमुख ने कहा, 'ब्रिटिश जब भारत छोड़ के चले गए तो हम देश कैसे चलायेंगे ऐसा पूछा जा रहा था. लेकिन भारतीयों ने देश उत्तम तरीके से चलाया और पराक्रम भी किए. शांतिपूर्ण विश्व का निर्माण हो, यह हमारा संकल्प है, भारत महाशक्ति होने के बाद प्रत्येक की विशेषताएं अपनाएगा. हर एक की सुरक्षा करना यह सबका कर्तव्य धर्म है. भारत की नियत ऐसी है कि जो कुछ करेगा, सबका कल्याण करने वाला होगा, भारत महाशक्ति बनेगा तो किसी पर डंडा नहीं चलाएगा. '

अनुच्छेद 370 धारा खत्म होने के संबंध में मोहन भागवत ने कहा, हमने अनुभव लिया कि हम सब चाहते थे अपने देश की जो स्वतंत्रता है. 

मोहन भागवत ने आगे कहा कि देश को ऊंचाई पर ले जाने का अनुभव महसूस हो रहा है, देश के लिए सभी को जीना होगा, देश यानी जमीन, जन ,जानवर सभी है. शांतिपूर्ण सद्भावना से खुशहाली, समृद्धि, प्राप्त होती है. जब भारत स्वतंत्र हुआ तब कई लोगों ने कहा था कि बड़े बड़े लोगों ने कहा था कि देश नहीं चला सकते और वापस हमारे पास ही आएंगे लेकिन हम सिर्फ देश चला नहीं रहे  बल्कि अलग-अलग ऊंचाइयों को भी छू रहे हैं.