close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पीएम मोदी से वड़ोदरा में चाय वाले ने मांगा लोकसभा का टिकिट, 2014 में बना था प्रस्‍तावक

2014 के लोकसभा चुनावों में नरेंद्र मोदी के चुनावी नामांकन में किरण महीडा प्रस्‍तावक बने थे. किरण चाय की दुकान चलाते हैं. अब वह बीजेपी से टि‍कट चाहते हैं.

पीएम मोदी से वड़ोदरा में चाय वाले ने मांगा लोकसभा का टिकिट, 2014 में बना था प्रस्‍तावक
क‍िरण 2014 में नामांकन के वक्‍त पीएम मोदी के प्रस्‍तावत बने थे. फाइल फोटो : पीटीआई

वडोदरा: लोकसभा चुनाव 2019 के लिए बीजेपी की सूची का इंतजार हो रहा है. इसी दौरान गुजरात के वड़ोदरा में एक चायवाले ने पीएम मोदी से लोकसभा चुनाव का ट‍िकट मांगा है. ये कोई मामूली चायवाला नहीं है. 2014 के चुनाव में जब पीएम मोदी ने वड़ोदरा से चुनाव लड़ा था तो यही उनके प्रस्‍तावक बने थे.

2014 के लोकसभा चुनावों में नरेंद्र मोदी के चुनावी नामांकन में किरण महीडा प्रस्‍तावक बने थे. किरण चाय की दुकान चलाते हैं. अब वह भी बीजेपी से लोकसभा का ट‍िकट चाहते हैं. वहीं बीजेपी से वड़ोदरा में वर्तमान सांसद रंजनबेन भट्ट, पूर्व सांसद बालू शुक्ला, विधायक जीतू सुखड़िया, पूर्व विधायक भूपेंद्र लखवाला, पूर्व महापौर भरत डांगर, वर्तमान महापोर डॉ. जीगीशा शेठ, प्रदेश महिला मोर्चा की अध्यक्षा डॉ ज्योति पंड्या ने भी अपनी दावेदारी दर्ज कराई है. 

इस बीच नरेंद्र मोदी के समर्थक रहे किरण महीडा ने लोकसभा उम्‍मीदवार के रूप में अपना नामांकन दाखिल किया है. पिछले कई सालों से किरण महिडा चाय बेचकर अपना परिवार चलाते हैं. किरण महिडा कई सालों से भाजपा में हैं. उनके साथ भाजपा के लिये कार्य कर रहे कार्यकर्ता कह रहे हैं कि किरणभाई को अगर लोकसभा के उम्मीदवार घोषित किया जाता है तो उन्‍हें इस चुनाव में जीत दिलाएंगे.

वडोदरा लोकसभा को लेकर कांग्रेस ने प्रशांत पटेल को उम्मीदवार घोषित किया है. बीजेपी के गढ़ माने जाने वाले वडोदरा की सीट पर अभी तक भाजपा ने अपना उम्मीदवार घोषित नहीं किया है. वडोदरा के उम्मीदवार की उम्मीदवारी तय करने की कवायत के तहत, तीन क्षेत्रीय पर्यवेक्षकों ने कार्यकर्ताओं और दावेदारों को चुना है.

स्‍थानीय स्‍तर पर मांग की जा रही है कि वड़ोदरा सीट पर लोकल उम्मीदवार का चयन किया जाना चाहिए. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि वह वडोदरा से जीतते हैं, लेकिन अगर किसी बाहर से आये उम्मीदवार को टिकट दिया जाता है तो उसका विरोध होगा.  वडोदरा में मतदाता लोकसभा चुनाव में भाजपा को सबसे ज्यादा वोट देते हैं. इस बीच किरण महिड़ा का कहना है कि मुजे मोदीजी के समर्थक के रूप में सेवा करने का मौका मिला था. अब मेरी यही इच्‍छा है कि अगर पार्टी मुझ जैसे कार्यकर्ता को टिकिट दे तो में जरूर चुनाव में खड़ा रहूंगा. अब तक वदोड़रा के लोग मुजे प्रधानमंत्री के समर्थक के रूप में जानते हैं.