close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

तिवरे डैम हादसाः युवक ने लगाया प्रशासन पर आरोप, बोला- पहले ही की थी शिकायत, लेकिन किसी ने नहीं सुनी

डैम के टूटने से मची तबाही पर भेंदवाड़ी तिवरे के रहने वाले अजीत अनंत चव्हाण का कहना है कि उन्होंने पहले ही चिपलून के सब डिविजनल ऑफिसर को इसकी सूचना दी थी.

तिवरे डैम हादसाः युवक ने लगाया प्रशासन पर आरोप, बोला- पहले ही की थी शिकायत, लेकिन किसी ने नहीं सुनी
अभी भी जारी है सर्च ऑपरेशन (फोटो साभारः ANI)

नई दिल्लीः महाराष्ट्र के तटीय रत्नागिरी जिले में तिवरे बांध टूटने से अभी तक करीब 18 लोगों की जान जा चुकी है. वहीं अभी भी अन्य कई लोगों लापता हैं. वहीं डैम के टूटने से मची तबाही पर भेंदवाड़ी तिवरे के रहने वाले अजीत अनंत चव्हाण का कहना है कि उन्होंने पहले ही चिपलून के सब डिविजनल ऑफिसर को इसकी सूचना दी थी. चव्हाण के मुताबिक, उन्होंने इस मामले में पहले ही सब-डिविजनल ऑफिसर को शिकायत की थी, लेकिन प्रशासन ने उनकी शिकायत पर ध्यान नहीं दिया, जिसके चलते यह हादसा हो गया.

चव्हाण ने बताया कि उन्होंने बीते 11 फरवरी को ही प्रशासन को चिट्ठी लिखकर बांध के हालातों की जानकारी देते हुए बांध की दीवारों पर पड़ी दरारों की सूचना दी थी, लेकिन इसके बाद भी किसी ने सुध नहीं ली. इससे पहले सब-डिविजनल ऑफिसर ने डैम का दौरा भी किया था. इस दौरे में निष्कर्ष निकाला गया कि डैम में कीचड़ होने के कारण डैम में पानी कम हो रहा था, लेकिन पानी कम होने वजह कीचड़ नहीं डैम में पड़ी दरार थी.

बता दें तिवरे डैम की दरार को लेकर शिकायत करने वाले अजित अनंत चव्हाण ने इस हादसे में अपने पूरे परिवार को खो दिया है, जिससे वह गहरे सदमें में हैं. चव्हाण ने इस हादसे में अपने पिता,माता, बहन और भाई को खो दिया है. जिसके बाद प्रशासन के खिलाफ उन्होंने अपनी नाराजगी जाहिर की है. 

Tiware Dam Incident: Man charged the allegetions on administration

भारी बारिश के बेहाल महाराष्ट्र, रत्नागिरी में तिवरे डैम टूटा, 6 लोगों के शव मिले, कई लापता

बता दें बीते मंगलवार को देर रात डैम के टूटने से अचानक ही आस-पास के इलाकों में बाढ़ जैसे हालात हो गए थे. वहीं अचानक आए पानी के बहाव में करीब एक 2 दर्जन लोग इसकी चपेट में आ गए, जिनमें से 18 लोगों के शव बरामद किए जा चुके हैं, जबकि अन्य की खोज जारी है. इस हादसे में करीब 1 दर्जन घर पानी के साथ ही बह गए.