1984 सिख विरोधी दंगा मामले में नामजद हों राजीव गांधी: सुखबीर बादल

 बादल ने दावा किया, 'हालिया घटनाक्रम और गवाहों की गवाही ने साफ किया है कि राजीव गांधी 1984 दंगों के लिए जिम्मेदार हैं.' 

1984 सिख विरोधी दंगा मामले में नामजद हों राजीव गांधी: सुखबीर बादल
गुरुदासपुर में एक रैली के दौरान सुखबीर बादल और पीएम नरेंद्र मोदी (फोटो साभार - IANS)

गुरदासपुर: अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल ने बृहस्पतिवार को मांग की कि पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी का नाम 1984 के सिख विरोधी दंगों से जुड़े मामलों में जोड़ा जाना चाहिए. पंजाब के पूर्व उपमुख्यमंत्री ने आरोप लगाया कि गवाहों की गवाही ने साफ कर दिया है कि दंगों के लिए राजीव गांधी ‘जिम्मेदार’ थे.

उन्होंने यहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की उपस्थिति में लोगों को संबोधित करते हुए कहा,'राजीव गांधी का नाम 1984 दंगों से संबंधित दर्ज मामलों में जोड़ा जाना चाहिए. राजीव का नाम सभी पुरस्कारों और संस्थानों से हटाया जाना चाहिए.'  बादल ने दावा किया, 'हालिया घटनाक्रम और गवाहों की गवाही ने साफ किया है कि राजीव गांधी 1984 दंगों के लिए जिम्मेदार हैं.' कांग्रेस दंगों में उसके नेतृत्व की भूमिका से हमेशा इनकार करती रही है.

पीएम मोदी ने साधा कांग्रेस पर निशाना
वहीं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 1984 के सिख विरोधी दंगे और किसानों के कृषि ऋण माफी के मुद्दों को लेकर गुरुवार को कांग्रेस पर करारा प्रहार किया. उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने किसानों की कर्ज माफी को लेकर बड़े-बड़े वादे किए थे लेकिन बाद में उन्हें धोखा दिया. मोदी ने कहा कि पंजाब में भी कांग्रेस ने किसानों से बड़े वादे किए थे लेकिन सत्ता में आने के बाद उन्हें धोखा दे दिया.

पीएम मोदी ने कहा कि 1984 के सिख विरोधी दंगे में शामिल लोगों को कांग्रेस मुख्यमंत्री का पद देकर सम्मानित कर रही है. मोदी ने कहा, 'एक परिवार के निर्देश पर दंगे में शामिल लोगों की फाइलें बंद कर दी गईं लेकिन राजग ने इन फाइलों को ढूंढ निकाला और एसआईटी का गठन किया जिसके परिणाम आपके सामने हैं.' 

(इनपुट - भाषा)