close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

उन्नाव रेप: पीड़िता की चाची का आज होगा अंतिम संस्कार, चप्पे-चप्पे पर पुलिस तैनात

पीड़ित का परिवार माखी गांव पहुंच चुका है, लोगों की भीड़ लगी है, पुलिस बल तैनात हैं. गंगाघाट कोतवाली क्षेत्र के बालूघाट में अंतिम संस्कार होगा. बताया जा रहा है सुबह करीब 11 बजे शव गंगाघाट पर पहुंचेंगे.

उन्नाव रेप: पीड़िता की चाची का आज होगा अंतिम संस्कार, चप्पे-चप्पे पर पुलिस तैनात
पीड़िता की चाची के अंतिम संस्कार में उसके चाचा सीधे रायबरेली जेल से घाट पर आएंगे.

लखनऊ: उन्नाव रेप (Unnao rape case) पीड़िता की चाची का बुधवार (31 जुलाई) को अंतिम संस्कार होगा. गंगाघाट कोतवाली क्षेत्र के बालूघाट में अंतिम संस्कार की पूरी तैयारियां कर ली गई है. कड़ी सुरक्षा के बीच पीड़िता की चाची का शव मंगलवार देर रात गांव लाया गया था. अंतिम संस्कार करने के लिए पीड़िता के चाचा रायबरेली जेल से सीधे गंगाघाट पहुंचेंगे. 

पीड़ित का परिवार माखी गांव पहुंच चुका है, लोगों की भीड़ लगी है, पुलिस बल तैनात हैं. गंगाघाट कोतवाली क्षेत्र के बालूघाट में अंतिम संस्कार होगा. पीड़िता के घर की सुरक्षा बढ़ा दी गई है. बताया जा रहा है सुबह करीब 11 बजे शव गंगाघाट पर पहुंचेंगे. जिला प्रशासन ने रास्ते के साथ ही घाट पर भी सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए हैं.

सीधा जेल से घाट पर पहुंचेंगे पीड़िता के चाचा
पीड़िता के चाचा महेश सिंह जेल से सीधा गंगा घाट पर पहुंचेंगे. महेश सिंह को पत्नी के दाह संस्कार के नाम पर एक दिन की पैरोल मिली है. पीड़िता की मौसी के बेटे ने बताया कि परिवार के लोग पीड़िता की चाची का दाह संस्कार करेंगे फिर यहां से जाकर मां की बॉडी को लखनऊ से लेकर बाराबंकी में दाह संस्कार करुंगा. बेटे का कहना है कि हमें न्याय मिलना चाहिए. हमारे पिता पहले ही खत्म हो चुके हैं. मेरी दो बहनें हैं. अब मेरी मां भी नहीं है, हमलोग कैसे रहेंगे. सरकार से हम मांग करते हैं कि हमारी मदद होनी चाहिए हमें घर चलाने के लिए नौकरी भी मिलनी चाहिए. यह पूरी घटना षड्यंत्र है. मेरी मां और मौसी को मरवा दिया गया है.

मालूम हो कि रविवार को रेप पीड़ित लड़की अपने वकील और परिवार के साथ रायबरेली जेल में बंद अपने चाचा से मुलाकात करने जा रही थी. रायबरेली के अतौरा इलाके में नेशनल हाईवे नंबर 232 पर एक तेज रफ्तार ट्रक ने सामने से टक्कर मार दी थी. इस हादसे में पीड़ित लड़की की चाची और मौसी की मौत हो गई थी और गाड़ी चला रहे वकील महेंद्र सिंह और पीड़ित लड़की घायल हो गए थे. उनकी हालत गंभीर है. दोनों घायलों का इलाज लखनऊ के किंग जॉर्ज मेडिकल कॉलेज के ट्रॉमा सेंटर में चल रहा है और वह वेंटिलेटर पर हैं.

दरअसल, जिस कार में पीड़िता का परिवार यात्रा कर रहा था, उसे एक तेज रफ्तार ट्रक ने टक्कर मार दी थी. इसके बाद यह मामला एक बड़े विवाद में बदल गया. ट्रक के मालिक, ड्राइवर और क्लीनर को गिरफ्तार कर लिया गया है.

विधायक के खिलाफ दुष्कर्म मामले की जांच कर रहे केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की एक टीम भी परिवार के सदस्यों से मिलने और फिर पुलिस से दुर्घटना के बारे में जानकारी लेने के लिए अस्पताल पहुंची.

उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता की हालत लगातार नाजुक
उधर, सड़क हादसे में बुरी तरह घायल हुई उन्नाव की दुष्कर्म पीड़ता की हालत लगातार नाजुक बनी हुई है. किंग जॉर्ज मेडिकल कॉलेज(केजीएमसी) की ओर से मंगलवार शाम जारी बुलेटिन में कहा गया है कि पीड़िता को गंभीर चोटें आई हैं और उसकी स्थिति नाजुक है. वह अभी भी वेंटीलेटर पर है.

मेडिकल बुलेटिन के अनुसार, पीड़िता का ब्लड प्रेशर गिर रहा है. दुर्घटना की वजह से फेफड़ों में भी चोटें आई हैं. साथ ही दाहिने कॉलर की हड्डी भी टूटी है.

केजीएमयू ट्रामा सेंटर के प्रवक्ता डॉ. संदीप तिवारी ने बताया, 'अभी भी पीड़िता की हालत कल जैसी ही बनी हुई है. उसकी हालत में अभी कोई सुधार नहीं आया है. पीड़िता को वेंटीलेटर पर रखा गया है. विशेषज्ञ डॉक्टरों की टीम उसकी सेहत पर नजर बनाए हुए है. फ्रैक्च र और ब्लीडिंग से पीड़िता की हालत अभी भी गंभीर बनी हुई है. फेफड़ों में ब्लीडिंग की वजह से भी स्थिति गंभीर है.'

इस बीच, लखनऊ के जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा पीड़िता का हालचाल जानने मंगलवार को ट्रामा सेंटर पहुंचे. उन्होंने पत्रकारों से कहा, 'पीड़िता के बेहतर इलाज के लिए केजीएमयू में विशेषज्ञ डॉक्टरों का पैनल लगा हुआ है. यहां के आलावा बाहर से भी विशेष डॉक्टरों की टीम पीड़िता को देख रही हैं.'

डीएम ने कहा कि बेहतर इलाज के लिए पीजीआई और एम्स के भी सम्पर्क में भी हैं, और जरूरत पड़ी तो पीड़िता को एयरलिफ्ट करके बेहतर इलाज मुहैया कराया जाएगा.

जिलाधिकारी ने बताया कि 'पीड़िता के चाचा रायबरेली जेल में हैं और उनकी पैरोल स्वीकृत हो चुकी है. जैसे ही उच्च न्यायालय से आदेश जारी होगा, आगे की व्यवस्था की जाएगी.'

लाइव टीवी देखें-:

BJP विधायक सहित 10 पर मामला दर्ज
BJP विधायक कुलदीप सेंगर (Kuldeep singh sengar), उनके भाई मनोज सेंगर और आठ अन्य के खिलाफ सड़क दुर्घटना के एक मामले में पुलिस ने एक प्राथमिकी दर्ज की है. इस दुर्घटना में उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता व उनके वकील गंभीर रूप से घायल हो गए थे, जबकि इस हादसे में उनकी दो महिला रिश्तेदारों की मौत हो गई थी. आरोपियों पर दुष्कर्म पीड़िता के चाचा महेश सिंह की शिकायत के आधार पर मामला दर्ज किया गया, जो रायबरेली जेल में बंद हैं.

हादसे में मृत महिलाओं में से एक उन्नाव दुष्कर्म मामले की गवाह थी. दुष्कर्म पीड़िता की मां ने दावा किया कि यह दुर्घटना उनकी बेटी व अन्य को खत्म करने की एक साजिश थी.

दरअसल, जिस कार में पीड़िता का परिवार यात्रा कर रहा था, उसे एक तेज रफ्तार ट्रक ने टक्कर मार दी थी. इसके बाद यह मामला एक बड़े विवाद में बदल गया. ट्रक के मालिक, ड्राइवर और क्लीनर को गिरफ्तार कर लिया गया है.

विधायक के खिलाफ दुष्कर्म मामले की जांच कर रहे केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की एक टीम भी परिवार के सदस्यों से मिलने और फिर पुलिस से दुर्घटना के बारे में जानकारी लेने के लिए अस्पताल पहुंची.